नालंदा में कोरोना से बैंक मैनेजर,डॉक्टर समेत 7 लोगों की मौत..शादी वाले दिन उठी अर्थी

0

नालंदा जिला में कोरोना का कहर जारी है। पिछले 24 घंटे में नालंदा में कोरोना से 7 लोगों की मौत हो गई। जबकि 449 नए मरीज़ मिले हैं। मरने वालों में बिहारशरीफ का एक रेल कर्मचारी भी शामिल है। जिसकी शादी के दिन ही कोरोना से मौत हो गई । इसके अलावा मरने वालों में डॉक्टर, बैंक अधिकारी और रात्रि प्रहरी शामिल हैं। नालंदा में दूसरी लहर में अब तक 59 लोगो की मौत हो चुकी है।

वीरेंद्र कुमार की मौत
दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक के अधिकारी विरेन्द्र कुमार की कोरोना से मौत हो गई है। वे महज 33 साल के थे

रिटायर बैंक मैनेजर की मौत
नालंदा को-ऑपरेटिव बैंक के सेवानिवृत शाखा प्रबंधक राजन कुमार की कोरोना से मौत हो गई है। वे 75 साल के थे। तबियत खराब होने पर पावापुरी के विम्स में भर्ती कराया गया। जहां उनकी मौत हो गई।

आयुष चिकित्सक की मौत
सरमेरा के चेरो में पदस्थापित आयुष चिकित्सक डॉ. मो. रफी अंसारी की कोरोना से मौत हो गई। वे 55 साल के थे। वे पिछले 10 दिनों से बीमार थे और पटना के एक प्राइवेट हॉस्पीटल में भर्ती थे। वे पटना के महेंद्रुघाट के रहने वाले थे।

रेलवे कर्मचारी की मौत
बिहारशरीफ के एक रेल कर्मचारी की कोरोना से मौत हो गई। रेल कर्मचारी वीरेन्द्र पासवान महज 35 साल थे। वीरेंद्र पासवान की मौत शादी वाले ही दिन हो गई है । मंगलवार को उनकी शादी थी और शादी करने के लिए वे अपने गांव गए थे । जहां कोरोना से उनकी मौत हो गई।

इसे भी पढ़िए-बिहार में डाक विभाग में बंपर वैकेंसी.. लॉटरी से मिलेगी सरकारी नौकरी, जानिए कैसे ?

ताजनीपुर के एक व्यक्ति की मौत
बिंद प्रखंड के ताजनीपुर गांव के रहने वाले परमानन्द पासवान की कोरोना से पावापुरी के विम्स में मौत हो गई। वे 46 साल के थे। गांववालो के मुबातिक कोरोना वैक्सीन लेने के बाद उन्हें बुखार आया था। लेकिन कम नहीं होने के बाद 23 अप्रैल को विम्स में इलाज के लिए भर्ती कराया गया लेकिन तबीयत में सुधार नहीं हुआ। जहां उनकी मौत हो गई

दरियापुर के सुरेंद्र रविदास का निधन
परवलपुर प्रखंड के दरियापुर गांव के रहने वाले 45 वर्षीय सुरेन्द्र रविदास की भी कोरोना से मौत हुई हैं। करीब एक सप्ताह से इनकी तबीयत खराब चल रही थी। चार दिन पूर्व सांस लेने में तकलीफ होने पर 24 को पटना में भर्ती कराया गया, जहां जांच के दौरान पॉजिटिव रिपोर्ट आई।

50 साल के नीचे वाले सावधान
कोरोना की दूसरी लहर 50 साल से नीचे के उम्र वाले मरीजों के लिए सबसे ज्यादा घातक साबित हो रहा है। अप्रैल 2021 में मरने वालों के आंकड़ो को देखा जाय तो आधा से ज्यादा वैसे लोग शामिल हैं। जिनकी उम्र 50 साल से कम है। अब तक 59 लोगों की मौत हुई है जिसमें करीब 36 लोगों की उम्र 30-50 साल के बीच है।

कोरोना के 449 नए मरीज मिले
पिछले 24 घंटे में कोरोना के 449 नए मरीज मिले हैं। इसके साथ ही जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2666 हो गई है। कोरोना की पहली लहर में एक दिन में 250 मरीज कभी नहीं मिले थे। जबकि दूसरी लहर में रोजाना 250 से ज्यादा कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं। जिससे आप अंदाज लगा सकते हैं कि कोरोना संक्रमण कितना भयावह रूप धारण करता जा रहा है ।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In कोरोना अपडेट

Leave a Reply

Check Also

नालंदा में इनकम टैक्स इंस्पेक्टर समेत 5 लोगों की कोरोना से मौत..

नालंदा जिला में कोरोना संकमण से मौत की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है। नालंदा में इनकम …