Home खास खबरें बिहारशरीफ की ‘मर्दानी’… पापा को बचाने के लिए ‘काली’ बन गई

बिहारशरीफ की ‘मर्दानी’… पापा को बचाने के लिए ‘काली’ बन गई

0

बिहारशरीफ की रिंकू ने वो कर दिखाया है जिसे शायद बेटा भी नहीं कर पाता। रात के करीब ढाई बजे तीन नकाबपोश गुंडे दरवाजा तोड़कर घर में दाखिल होते हैं। बदमाश सबसे पहले रिंकू के पापा रामचंद्र प्रसाद वर्मा के कमरे में घुसते हैं। रामचंद्र प्रसाद वर्मा जो एक रिटायर्ड दूरसंचार कर्मी हैं। उनसे बदमाश उनकी संपत्ति के बारे में पूछता है। नहीं बताने पर लुटेरे रामचंद्र प्रसाद को पीटने लगता है। आवाज सुनकर दूसरे कमरे में सोई रिंकू जाग जाती है और गुंडों से भिड़ जाती है। पहले रिंकू ने शोर मचाया लेकिन किसी ने उसकी आवाज नहीं सुनी पापा को पिटता देख रिंकू बदमाशों से दो हाथ करने लगी। पहले तो बदमाशों ने रिंकू पर एक-एक करके कई वार किए। लेकिन जब बहादूर बेटी नहीं हारी तब बदमाश भाग खड़े हुए। इस दौरान रिंकू गंभीर रूप से घायल हो गई। उसे इलाज के लिए एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है । आप रिंकू की चोट का अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि रिंकू के सिर में 17 टांके पड़े हैं और हाथों में तो अनगिनत स्टीच लगाने पड़े हैं। बहादुर बेटी का टी-शर्ट पूरी तरह से खून से सन गया था। उधर, पीड़ित परिवार के मुताबिक उन्होंने इसकी सूचना देने के लिए बिहार थाना को फोन किया लेकिन किसी ने फोन ही नहीं रिसीव किया। इसके बाद इसकी सूचना सोहसराय पुलिस को दी गई। जिसके बाद सोहसराय थाना पुलिस मौके पर पहुंची और सबसे पहले फर्श पर पड़े खून के धब्बों को धोने को कहा।

पूरा मामला जानिए
रामचंद्र प्रसाद वर्मा भैंसासुर में डॉक्टर संजीव रंजन के मकान में ग्राउंड फ्लोर पर किराए के फ्लैट में रहते हैं। फर्स्ट फ्लोर में मकान मालिक परिवार समेत रहते हैं। रात में घर में पिता और उनकी पुत्री ही थे। बाकी लोग बाहर गए हुए थे । रात करीब 02:30 बजे तीन बदमाश ग्रिल का ताला काटकर अंदर दाखिल हो गए। इसके बाद बदमाश रिटायर्ड कर्मी के कमरे में गए। जहां सो रहे गृहस्वामी को बदमाशों ने जगाया और उनकी पिटाई करने लगे। लुटेरे संपत्ति के संबंध में बुजुर्ग से पूछताछ कर रहे थे। जिसके बाद रिंकू बदमाशों पर दुर्गा बनकर टूट पड़ी। जिसके बाद बदमाश भाग खड़े हुए। इस दौरान रिंकू बुरी तरह जख्मी हो गई। रिंकू के काली का रूप देखकर बदमाश अपना एक मोबाइल और हथियार भी छोड़कर भाग गया।

नालंदा पुलिस से नालंदा लाइव के सवाल
पहला सवाल- फोन करने पर बिहार थाना ने फोन रिसीव क्यों नहीं किया?
दूसरा सवाल- क्या पुलिस विभाग ने किसी को इसके लिए किसी कर्मचारी को अधिकृत नहीं किया है क्या?
तीसरा सवाल- अगर बदमाश पिता-पुत्री को जान मार देते तो इसकी जिम्मेदारी किसकी होती ?
चौथा सवाल- बिहारशरीफ के लोग रात में सुरक्षा के लिए भगवान भरोसे ही रहते हैं ?
पांचवां सवाल- नालंदा के पुलिस कप्तान अपने जवानों को ट्रेनिंग क्यों नहीं दे रहे हैं ? क्योंकि सोहसराय पुलिस ने खून के धब्बे धोने की बात कही है जबकि फॉरेंसिक की टीम को पहले इसकी जांच करनी चाहिए थी । ताकि गुनहगारों तक पहुंचा जा सके
छठा सवाल- क्या जिले एसपी सुधीर कुमार पोरिका आरोपी पुलिसवाले ( जिसकी ड्यूटी फोन रिसीव करने की थी) पर कार्रवाई कर उसे सस्पेंड करेंगे या ये कहकर छोड़ देंगे कि ये सब तो होता रहता है ?

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

विधान परिषद की 8 सीटों के लिए चुनाव का ऐलान.. जानिए कब क्या होंगे

बिहार विधानसभा के चुनाव की घोषणा के कुछ घंटों बाद ही बिहार विधान परिषद की खाली आठ सीटों के…