Home बढ़ता बिहार नालंदा में लग रही है रेडिमेड गारमेंट की फैक्ट्री, 200 लोगों को मिलेगा रोजगार

नालंदा में लग रही है रेडिमेड गारमेंट की फैक्ट्री, 200 लोगों को मिलेगा रोजगार

0

कोरोना काल में बेरोजगार हुए लोगों को रोजगार देने के लिए बिहार सरकार लगातार प्रयास कर रही है । इसी के तहत अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग रोजगार सृजन केंद्र बनाए जा रहे हैं. प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अंतर्गत नालंदा में भी रेडिमेड गारमेंट फैक्ट्री लगाई जा रही है

मेहनौर में लग रही है फैक्ट्री
बिहारशरीफ के दीपनगर थाना के बुद्ध विहार मेहनौर में रेडीमेड गारमेंट फैक्टरी लगाई जा रही है। जिसमें तत्काल 100 सिलाई मशीन लगाई गई हैं और बाद में इसे बढ़ाकर 200 मशीन लगाने का लक्ष्य रखा गया है.

डीएम ने किया निरीक्षण
नालंदा के डीएम योगेंद्र सिंह ने रेडिमेड गारमेंट फैक्टरी का निरीक्षण किया। इस दौरान जिला पदाधिकारी ने बारीकी से फैब्रिक और मशीनरी के बारे में जानकारी ली. इस दौरान पंजाब नेशनल बैंक के मंडल प्रमुख सत्येंद्र सिंह, जिला अग्रणी प्रबंधक रत्नेश कुमार झा, फैक्ट्री के प्रोपराइटर ओंकार शर्मा मौजूद थे

200 लोगों को मिलेगा रोजगार
बताया जा रहा है कि इस रेडिमेड गारमेंट फैक्ट्री के माध्यम से लगभग 200 लोगों को रोजगार मिल सकेगा। इस फैक्ट्री में अन्य राज्यों से आए स्थानीय कामगारों को प्राथमिकता दी जाएगी. कुशल कामगारों की सूची क्वारंटाइन सेंटरों में रह चुके कामगारों के स्किल मैपिंग डेटाबेस से उपलब्ध कराया गया है।

लुधियाना से मंगाया गया फैब्रिक
फैक्ट्री के मालिक ओंकार शर्मा ने बताया कि ए-वन स्टाइल के नाम से इस फैक्ट्री में हाफ पैंट, कैपरी, ट्राउजर, टी शर्ट लेगिंग्स आदि का निर्माण किया जाएगा। एक सप्ताह के अंदर प्रोडक्शन प्रारंभ कर दिया जाएगा। प्रोडक्शन के लिए लुधियाना से फैब्रिक भी मंगाया जा चुका है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In बढ़ता बिहार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

सोशल मीडिया पर ‘साइकिल गर्ल’ ज्योति की रेप के बाद हत्या की खबर.. जानिए सच क्या है

लॉकडाउन के दौरान पिता को गुरुग्राम से दरभंगा 1200 किलोमीटर की दूरी को साइकिल से तय कर पहुं…