Home खास खबरें एक्शन में नालंदा के डीएम, 10 बजे तक ड्यूटी पर दफ्तर नहीं पहुंचने वाले पर कार्रवाई .. देखिए पूरी लिस्ट

एक्शन में नालंदा के डीएम, 10 बजे तक ड्यूटी पर दफ्तर नहीं पहुंचने वाले पर कार्रवाई .. देखिए पूरी लिस्ट

0

नालंदा जिले में सरकारी बाबूओं की लेटलतीफी के वर्क कल्चर को खत्म करने के लिए डीएम योगेंद्र सिंह एक्शन में हैं। नालंदा के डीएम के निर्देश पर जिले भर के अलग-अलग सरकारी कार्यालयों के औचक निरीक्षण किया गया. जिसमें 198 कर्मचारी और पदाधिकारी अनुपस्थित मिले। प्रखंड कार्यालय, अंचल कार्यालय, बाल विकास परियोजना कार्यालय, मनरेगा कार्यालय, आरटीपीएस कार्यालय, पीएचसी, प्रखंड शिक्षा कार्यालय का औचक निरीक्षण हुआ।

कौन 7 कार्यालय मिले बंद
निरीक्षण में 7 कार्यालय बंद पाए गए। सिलाव में अंचल कार्यालय, एकंगरसराय में बाल विकास परियोजना कार्यालय, थरथरी, नगरनौसा और कतरीसराय में मनरेगा कार्यालय बंद मिला। इसी प्रकार बिहारशरीफ में 10.30 बजे मनरेगा कार्यालय बंद था। सिलाव में बीआरसी कार्यालय बंद मिला।

कई पदाधिकारी गैरहाजिर मिले
कर्मी तो कर्मी पदाधिकारी भी गायब मिले। सबसे बुरी स्थिति बाल विकास परियोजना कार्यालयों की रही। बिहारशरीफ में सीडीपीओ, हरनौत में सीडीपीओ और चौर कर्मी, सिलाव में सीडीओ और दो महिला पर्यवेक्षक, परबलपुर में सीडीपीओ और दो महिला पर्यवेक्षक, नगरनौसा में सीडीपीओ नदारत थी। इसी प्रकार परबलपुर में मनरेगा पीओ, हरनौत में पीएचसी प्रभारी, सिलाव में तीन डाक्टर समेत 9 कर्मी ड्यूटी से नदारत थे।

सिलाव में निरीक्षण में कौन कौन गायब मिले
डीएम के निर्देश पर जिला पंचयती राज पदाधिकारी मो. शोएब ने सिलाव के प्रखंड कार्यालय, अंचल कार्यालय, आरटीपीएस कार्यालय, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, बाल विकास परियोजना कार्यालय, मनरेगा कार्यालय एवं प्रखंड शिक्षा कार्यालय का औचिक निरीक्षण किया। प्रखंड कार्यालय में बीडीओ डा. अंजनी कुमार उपस्थित थे। बाकी सभी कर्मी अनुपस्थित पाये गये। अंचल कार्यालय में अंचलाधिकारी के साथ-साथ सभी कर्मचारी नहीं मिले। आरटीपीएस काउंटर में भी यही स्थिति थी। एक महिला और एक पुरुष कर्मचारी उपस्थित थे। बाकी सभी कर्मचारी अनुपस्थित थे। पीएचसी की स्थिति देख भड़क गये। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सिलाव में प्रभारी डा. अनिल कुमार वर्मा छुट्टी पर थे। उनके स्थान पर तैनात डा. नीरज कुमार मौजूद नहींं मिले। साथ ही डा. सिद्दकी भी अनुपस्थित पाए गए। निरीक्षण के क्रम में तीन गार्ड ड्यूटी पर तैनात थे। प्रखंड शिक्षा कार्यालय में ताला लटका पाया गया। बाल विकास परियोजना कार्यालय में सीडीपीओ के साथ साथ सभी कर्मचारी गायब थे। मनरेगा कार्यालय में पदाधिकारी के साथ साथ कर्मचारी भी अनुपस्थित थे।

नगरनौसा में कौन कौन गायब मिले
प्रखंड प्रभारी सह जिला अल्पसंख्यक पदाधिकारी जितेंद्र कुमार ने प्रखंड कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान अंचल कार्यालय से अमीन मनोज कुमार, स्वास्थ्य केंद्र से लिपिक विजय कुमार, मनरेगा कार्यालय से दो छोड़कर सभी अनुपस्थित थे। सीडीपीओ कार्यालय से लिपिक राजीव रंजन अनुपस्थित पाए गए। वहीं कुछ कर्मी जांच के बाद दफ्तर पहुंचे। प्रभारी पदाधिकारी ने बताया कि निरीक्षण के दौरान कई बिंदुओं पर जांच की गयी। जांच के दौरान कुछ कर्मी अनुपस्थित पाए गए हैं। जिसकी सूचना वरीय पदाधिकारी को दे दी गयी है।

डीएम ने कही कार्रवाई की बात
नालंदा के डीएम योगेन्द्र सिंह का कहना है कि प्रखंडों में कराये गये जांच में अनुपस्थित मिले कर्मियों के प्रतिवेदन के आधार पर अनुशासनिक कार्रवाई की जायेगी।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

चुनाव प्रचार के दौरान उम्मीदवार को गोलियों से भून डाला.. जानिए पूरा मामला

बिहार विधानसभा चुनाव में खून खराबे का दौर शुरू हो गया है. चुनाव प्रचार के दौरान बदमाशों ने…