Home खास खबरें शिक्षक भर्ती घोटाला- एक फर्जी शिक्षक और दो मुखिया समेत तीन गिरफ्तार

शिक्षक भर्ती घोटाला- एक फर्जी शिक्षक और दो मुखिया समेत तीन गिरफ्तार

0

शिक्षक भर्ती घोटाला मामले में बड़ी कार्रवाई हुई है. पुलिस ने इस मामले में एक फर्जी शिक्षक और दो पूर्व मुखिया को गिरफ्तार किया है. इस मामले में तीनों को जेल भेज दिया गया है.

क्या है पूरा मामला
नवादा जिला के नारदीगंज प्रखंड में शिक्षा भर्ती घोटाला में ये कार्रवाई हुई है. शिक्षक नियोजन में फर्जीवाड़े की फाइल दबाने के आरोप में दो पंचायतों के पूर्व मुखिया को गिरफ्तार किया गया है। हिसुआ थाना क्षेत्र के भेलू बिगहा में तैनात एक फर्जी शिक्षक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. आरोपी टीचर जाली प्रमाण पत्र पर शिक्षक बना था.

कौन दो मुखिया गिरफ्तार
शिक्षक नियोजन की फाइल दबाने के मामले में नारदीगंज प्रखंड के 9 मुखिया के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था । इस मामले में 3 साल बाद दो मुखिया को गिरफ्तार किया गया ।जबकि कई बेल पर हैं तो कई फरार हैं. जिन दो पूर्व मुखिया को गिरफ्तार किया गया है उसमें कहुआरा पंचायत के पूर्व मुखिया राकेश कुमार और हड़िया पंचायत के मुखिया नंदू राजवंशी शामिल हैं.

कुछ दिन पहले ही हुआ है बर्खास्त
कछुआरा पंचायत के मुखिया राकेश कुमार को नारदीगंज के कहुआरा मोड़ के पास उनके घर से गिरफ्तार किया गया है। राकेश कुमार को कहुआरा पंचायत सात निश्चय योजना में गबन के आरोप में कुछ महीने पहले पदच्युत भी किया जा चुका है। विभाग के द्वारा पूर्व मुखिया राकेश कुमार के ऊपर कई लाखों रुपए गबन का आरोप लगाया गया है ।

नंदू राजवंशी कहां से गिरफ्तार
हंडिया पंचायत के पूर्व मुखिया नंदू राजवंशी को भी गोपाल नगर स्थित उनके घर से गिरफ्तार किया गया है। नंदू के ऊपर शिक्षक नियोजन के मामले से जुड़ी फाइल और कागजात गायब करने का आरोप है


फर्जी शिक्षक गिरफ्तार
हिसुआ थाना क्षेत्र के भेलू बिगहा गांव में पदस्थापित शिक्षक राजू कुमार को नारदीगंज पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. राजीव कुमार पर आरोप है कि वो जाली प्रमाण पत्र पर शिक्षक बना था और इस मामले में तीन साल पहले उसके खिलाफ एफआईआर किया गया था। नारदीगंज थानाध्यक्ष दीपक कुमार राव ने बताया कि गिरफ्तार राज कुमार साल 2008 में प्रखण्ड शिक्षक के पद पर बहाल हुआ था। शैक्षणिक प्रमाण पत्रों के जांच में शिक्षक का अनुभव प्रमाण पत्र फर्जी पाया गया था। इसी बात को लेकर तत्कालीन बीइओ ने वर्ष 2016 में प्राथिमिकी दर्ज कराया था। उसके बाद अब जाकर उसे बस्ती बिगहा बाजार से गिरफ्तार किया गया है

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

विधान परिषद की 8 सीटों के लिए चुनाव का ऐलान.. जानिए कब क्या होंगे

बिहार विधानसभा के चुनाव की घोषणा के कुछ घंटों बाद ही बिहार विधान परिषद की खाली आठ सीटों के…