Home खास खबरें गांधी मैदान की संकल्प रैली में कितनी थी भीड़.. किसके दावों में कितना है दम जानिए

गांधी मैदान की संकल्प रैली में कितनी थी भीड़.. किसके दावों में कितना है दम जानिए

0

पटना के गांधी मैदान में आयोजित एनडीए की संकल्प रैली में जुटी भीड़ को लेकर अब बिहार की सियासत गरमा गई है। बीजेपी जहां इसे ऐतिहासिक बता रही है । वहीं, आरजेडी इसे फेल कह रही है। लालू यादव ने ट्वीट कर कहा कि उतना भीड़ तो पान खाने के लिए दुकान पर रुकते थे तो हो जाती है । लेकिन हकीकत क्या है जानिए

लालू यादव ने कसा तंज
आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने रैली में उमड़ी भीड़ को लेकर तंज कसा है। लालू ने अपने ट्वीट में कहा, ‘नरेंद्र मोदी, नीतीश और पासवानजी ने महीनों जोर लगा सरकारी तंत्र का उपयोग कर गांधी मैदान में उतनी भीड़ जुटाई है, जितनी हम पान खाने अगर पान की गुमटी पर गाड़ी रोक देते हैं तो इकट्ठा हो जाती है।’ उन्‍होंने आगे लिखा, ‘जाओ रे मर्दों, और जतन करो, कैमरा थोड़ा और जूम करवाओ।’

बिहार ने पीएम मोदी को ठेंगा दिखाया- तेजस्वी
तेजस्वी यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा, “बिहार ने प्रधानमंत्री को ठेंगा दिखाया. महीनों की तैयारी और सरकारी तंत्र का दुरुपयोग करने के बाद भी ऐतिहासिक गांधी मैदान के एक चौथाई हिस्से को नहीं भर सके. करोड़ों का दावा करने स्वयं घोषित बयानवीर धुरंधर अब हज़ारों की भीड़ पर शर्मायेंगे या बेशर्मी से इतरायेंगे. #BiharRejectsModi”

बीजेपी अध्यक्ष नित्यानंद राय का दावा
बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने कहा कि संकल्प रैली बिहार की सबसे सफलतम रैली है। उन्होंने कहा कि एनडीए की संकल्प रैली ने एक नया कीर्तिमान बनाया है। साथ ही कहा कि बिहार की जनता ने नरेंद्र मोदी को एक बार फिर प्रधानमंत्री बनने का आशीर्वाद दिया है ।

सुशील मोदी हुए ट्रोल
बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने भी दावा किया है कि 5 लाख से ज्यादा लोग एनडीए की संकल्प रैली में शामिल हुए। सुशील मोदी ने कहा कि बारिश के बावजूद लोग रैली में पीएम मोदी को सुनने के लिए डटे रहे। दिलचस्प बात यह है कि सुशील मोदी को उनके स्ट्रीट पर जो जवाब मिल रहे हैं उसमें रैली के दौरान गांधी मैदान की ली गई तस्वीरें सबसे ज्यादा हैं। एक यूज़र ने सुशील मोदी के ट्वीट पर रिप्लाई करते हुए लिखा.. आप ठीक से गिने मुझे तो 15 लाख लोग देख रहे हैं, 5 लाख पर ही क्यों अटके हैं? एक अन्य यूजर ने कमेंट किया.. चाचा ठीक से गिनिए।

पत्रकार के नजर से देखिए गांधी मैदान
एबीपी न्यूज के एक पत्रकार ने ट्वीट किया कि @narendramodi की रैली में NDA गांधी मैदान का 40% हिस्सा भी नहीं भर पाई और पीएम ने जैसे ही भाषण शुरू किया बारिश होने लगी जिसके बाद मैदान लगभग पूरा खाली हो गया। राहुल गांधी की रैली में इससे ज्यादा भीड़ थी और उस दिन बारिश भी नहीं हुई थी।

 

वहां मौजूद लोगों को कहना था कि नीतीश कुमार को सुनने तक लोग रुके रहे। जैसे ही नीतीश कुमार का भाषण खत्म हुआ लोग जाने लगे। हालांकि इस दौरान बारिश भी शुरू हो गई। जिसकी वजह से मोदी के भाषण के दौरान ही लोग जाने लगे। लेकिन सूबे की तीन ताकतवर पार्टियों की रैली में अनुमान से कम भीड़ जुटना सवालिया निशान तो खड़ा करता है ।ये रैली अपने आप में खास थी क्योंकि करीब 10 साल बाद मोदी और नीतीश कुमार एक साथ मंच साझा कर रहे थे

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

बिहार विधानसभा अध्यक्ष के नाम पर लगी मुहर, नंदकिशोर यादव का कट गया पत्ता !

बिहार विधानसभा का अगला अध्यक्ष कौन होगा ? क्या नंद किशोर यादव को बनाया जाएगा अध्यक्ष? या ज…