राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र: पटना नहीं नालंदा के पास भूकंप का केंद्र

0

नालंदा,नवादा, शेखपुरा और राजधानी पटना समेत पूरा दक्षिण बिहार में भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं. कई लोगों ने भूकंप के झटके महसूस किए तो कई लोगों को भूकंप के बारे में अहसास भी नहीं हुआ. भूकंप के बाद लोग अपने अपने घरों से बाहर निकल आए.

नालंदा के पास भूकंप का केंद्र
राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र ने भूकंप का केंद्र नालंदा के 20 किलोमीटर उत्तर पश्चिम बताया है. यानि नालंदा पटना की सीमा पर भूकंप का केंद्र था. भूकंप की तीव्रता 3.5 थी। भूकंप के झटके रात 9.23 बजे महसूस किए गए हैं।

जानमाल के नुकसान की खबर नहीं
नालंदा लाइव के पास अब तक कहीं से जानमाल के नुकसान की खबर नहीं मिली है. कई इलाकों में सरस्वती पूजा की तैयारी में जुटे लोगों को इसकी कोई जानकारी ही नहीं मिली। पंडालों में मौजूद लोगों ने बताया कि हमें किसी भी तरह का कोई झटका नहीं लगा।

इसे भी पढ़िए-नालंदा,शेखपुरा, नवादा और पटना में भूकंप(EarthQuake) के झटके, घरों से बाहर निकले लोग

तेजस्वी यादव ने सुरक्षा की कामना की
इस बीच आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा है कि मैं हर किसी की सुरक्षा की कामना करता हूं और सभी से निवेदन करता हूं कि वे सावधानी बरतें और जरूरत पड़ने पर सुरक्षित खुले स्थानों पर जाएं।

अंडमान निकोबार में भी भूकंप
अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के पोर्टब्लेयर के नजदीक सोमवार शाम को भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 4.1 रही है। नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी के अनुसार, यह भूकंप भारतीय समयानुसार शाम 7:23 पर पोर्टब्लेयर से 258 किलोमीटर साउथ-साउथ ईस्ट में आया है।

इसे भी पढ़िए-देश के 4 सरकारी बैंकों होंगे प्राइवेट.. जानिए कौन-कौन बैंक

शुक्रवार को दिल्ली में आया था भूकंप
बता दें कि बीते शुक्रवार को दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत के कई राज्यों में भूकंप का तेज झटका महसूस किया गया था। धरती रात 10:31 बजे हिली थी और भूकंप का केंद्र ताजिकिस्तान में था। भूकंप की तीव्रता 6.3 बताई गई थी। राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र (एनसीएस) ने बताया था कि भूकंप की तीव्रता 6.3 मापी गई। भूकंप रात 10 बजकर 34 मिनट पर आया। इसमें जानमाल के नुकसान की तत्काल कोई खबर नहीं है। भूकंप से राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली समेत अनेक स्थानों पर लोगों में दहशत फैल गई। भूकंप के डर से लोग घरों से बाहर निकल आए।

भूकंप आने पर क्या करें
– अगर भूकंप के वक्त आप घर में हैं तो फर्श पर बैठ जाएं।
– घर में किसी मजबूत टेबल या फर्नीचर के नीचे बैठकर हाथ से सिर और चेहरे को ढकें।
– भूकंप के झटके आने तक घर के अंदर ही रहें और झटके रुकने के बाद ही बाहर निकलें।
– अगर रात में भूकंप आया है और आप बिस्तर पर लेटे हैं हैं तो लेटे रहें, तकिए से सिर ढक लें।
– घर के सभी बिजली स्विच को ऑफ कर दें।
– अगर आप भूकंप के दौरान मलबे के नीचे दब जाएं तो किसी रुमाल या कपड़े से मुंह को ढंके।
– मलबे के नीचे खुद की मौजूदगी को जताने के लिए पाइप या दीवार को बजाते रहें, ताकि बचाव दल आपको तलाश सके।
– अगर आपके पास कुछ उपाय ना हो तो चिल्लाते रहें और हिम्मत ना हारें।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

बिहार में लॉकडाउन में पैदल घूमने पर भी पाबंदी.. जानिए और क्या-क्या पाबंदियां लगी

बिहार में 15 मई तक लॉकडाउन लगा रहेगा। इस दौरान सार्वजनिक स्थानों एवं मार्गों पर लोगों के ब…