Home राजनीति पटना में मस्जिद पर छापा, कोरोना के 10 विदेशी संदिग्ध मरीज मिले

पटना में मस्जिद पर छापा, कोरोना के 10 विदेशी संदिग्ध मरीज मिले

0

बिहार में कोरोना से एक व्यक्ति की मौत के बाद पुलिस प्रशासन हाईअलर्ट मोड में है. पुलिस प्रशासन किसी तरह की कोताही बरतने के मूड में नहीं है. इसी के तहत राजधानी पटना में पुलिस ने एक मस्जिद से कोरोना के 12 संदिग्ध मरीजों को हिरासत में लिया है । जिसमें 10 किर्गिस्तान के नागरिक हैं जबकि दो भारतीय हैं. उनके नमूने जांच के लिए एम्स भेजे गए हैं।

दरअसल, पटना के दीघा थाना क्षेत्र में कुर्जी मोहल्ला स्थित एक मस्जिद से पुलिस ने 10 विदेशी धार्मिक उपदेशकों को हिरासत में लिया है। इसके अलावा अन्य दो भारतीयों को भी हिरासत में लिया गया है। कोरोना वायरस संबंधी जांच के लिए उन्हें एम्स भेजा गया। जिन दो भारतीयों को पकड़ा गया है वे दोनों उत्तर प्रदेश के रहने वाले हैं

मस्जिद में छिपे थे विदेशी
पटना के कुर्जी के गेट नंबर 74 के पास स्थित एक मस्जिद में ये विदेशी नागरिक छिपे हुए थे। मोहल्ले के लोगों को जब इसकी सूचना मिली तो वो हंगामा करने लगे। हंगामे की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और सभी विदेशी नागरिकों को हिरासत में लेकर अपने साथ ले गई।

बिहार में 31 मार्च तक लॉक डाउन
बता दें कि 31 मार्च तक लॉकडाउन के फैसले के बाद बड़ी संख्या में लोग अपने गांव जा रहे हैं। ऐसे में लोग बसों की छत पर बैठकर सफर करते दिखाई दिए। बिहार में अभी तक कोरोना के दो मरीज मिले हैं। पीएमसीएच में 24 घंटे में कोरोना के संदिग्ध 13 नए मरीज भर्ती हुए हैं।इनका सैंपल जांच के लिए भेजा गया है।

बिहार में कितने लोग सर्विलांस पर
दूसरे देश से बिहार आए 520 लोगों को सर्विलांस पर रखा गया है। 119 संदिग्ध मरीजों को आइसोलेशन में रखा गया है। पटना एम्स का ओपीडी अनिश्चितकाल के लिए बंद कर दिया गया है। यहां सिर्फ इमरजेंसी मरीजों का ही इलाज किया जा रहा है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In राजनीति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

लॉकडाउन में नालंदा में डीएम दफ्तर का घेराव.. परिवार वाले मांग रहे हैं इंसाफ

कहा जाता है कि जब अपनों के खोने का डर सताता है तो इंसान को कुछ समझ नहीं आता है. ऐसा ही नाल…