Home राजनीति ट्रिपल मर्डर पर पटना में सियासी नाटक.. तेजस्वी के गोपालगंज मार्च से जुड़ी हर अपडेट

ट्रिपल मर्डर पर पटना में सियासी नाटक.. तेजस्वी के गोपालगंज मार्च से जुड़ी हर अपडेट

0

गोपालगंज ट्रिपल मर्डर केस को लेकर नीतीश सरकार और राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) में तनातनी जारी है. तेजस्वी यादव जनता दल यूनाइटेड (JDU) के विधायक अमरेंद्र पांडेय (Amrendra Pandey) उर्फ पप्पू पांडेय (Pappu Pandey) की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े हैं.

प्रशासन ने गोपालगंज जाने से रोका
तेजस्वी यादव अपनी पार्टी के विधायकों और विधान पार्षदों को लेकर गोपालगंज के लिए निकले तो प्रशासन ने उन्‍हें रोक दिया। तेजस्‍वी यादव की कार में प्रदेश आरजेडी अध्‍यक्ष जगदानंद सिंह थे। तो दूसरी गाड़ी में राबड़ी देवी और तेज प्रताप यादव थे. राबड़ी आवास के बाहर काफिले को पुलिस ने घेर लिया और गोपालगंज जाने नहीं दिया.

विधानसभा अध्यक्ष से मिले तेजस्वी
इसके बाद तेजस्‍वी विधानसभा अध्‍यक्ष से मिलने आरजेडी के प्रतिनिधिमंडल के साथ गए। उन्‍होंने अध्‍यक्ष से विधानसभा का विशेष सत्र को बुलाने की मांग की। प्रतिनिधिमंडल में तेजस्‍वी यादव के साथ तेज प्रताप यादव, जगदानंद सिंह और आलोक मेहता शामिल रहे।

विशेष सत्र की मांग के पीछे दलील
विधानसभा अध्‍यक्ष से मुलाकात के बाद तेजस्‍वी ने बताया कि उन्‍होंने विधानसभा के विशेष सत्र को बुलाने की मांग रखी। जब विधानसभा अध्‍यक्ष सर्वदलीय बैठक बुला सकते हैं तो विधानसभा का विशेष सत्र भी बुला सकते हैं। तेजस्‍वी ने कहा कि बिहार में अपराध बढ़े हैं। हत्‍या, लूट, अपहरण व दुष्‍कर्म आदि की घटनाएं बढ़ गईं हैं। लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों को लाने व उन्‍हें क्‍वारंटाइन सेंटर में रखने में बदइंतजामी हो रही है। उन्‍हें दूसरे दर्जे का नागरिक बना दिया गया है। कोरोना संकट के काल में स्‍वास्‍थ्‍य विभाग भी चरमरा गया है। इन मुद्दों पर विधानसभा के विशेष सत्र में चर्चा जरूरी है।

समझौते के मूड में नहीं आरजेडी
उधर, हत्‍याकांड को लेकर आरजेडी किसी समझौते के मूड में नहीं दिख रहा। तेजस्‍वी यादव भी सरकार से आर-पार की घोषणा कर चुके हैं। उनके अल्‍टीमेटम के अनुसार आरोपित जेडीयू विधायक की गिरफ्तारी भी नहीं हो सकी है। ऐसे में सवाल यह है कि विधानसभा अध्‍यक्ष अगर विशेष सत्र बुलाने की मांग नहीं मानते हैं तो तेजस्‍वी आगे क्‍या करेंगे? क्‍या वे अपनी घोषणा के अनुसार पटना से गोपालगंज कूच करेंगे? अगर वे कूच करते हैं तो पुलिस-प्रशासन क्‍या कार्रवाई करेगा? संभव है कि लाकडाउन के उल्‍लंघन के आरोप में उन्‍हें गिरफ्तार कर लिया जाए।

राबड़ी देवी ने क्या कहा
राबड़ी देवी ने कहा कि बिहार में जो भी सरकार के खिलाफ आवाज उठाता है, उसे गिरफ्तार कर लिया जाता है। गोपालगंज में चार-चार हत्‍याएं हुई हैं और हम छोड़ दें? अब या तो हमें गिरफ्तार किया जाए या गोपालगंज जाने दिया जाए। राबड़ी ने कहा कि गोपालगंज में उनका घर व ससुराल है। वहां हत्‍याएं हुई हैं। ऐसे में वे वहो क्‍यों नहीं जाएं? राबड़ी ने सवाल उठाया कि लॉकडाउन केवल उनके लिए ही है, गुंडों के लिए नहीं है?

सीबीआइ जांच की मांग
तेजस्वी पहले कह चुके हैं कि वे गोपालगंज में मारपीट करने नहीं जा रहे थे। वे केवल आरजेडी नेता के परिजनों की हत्या की ही नहीं, बल्कि शंभू मिश्रा और मुन्ना तिवारी की हत्या का भी विरोध कर रहे हैं। सरकार अगर तकरार रोकना चाहती है तो सभी मामलों की सीबीआइ जांच कराए, क्‍योंकि उन्‍हें बिहार पुलिस पर भरोसा नहीं है।

क्‍या है तिहरा हत्‍याकांड, जानिए…
– रविवार को गोपालगंज के हथुआ थाना क्षेत्र के रुपनचक गांव में आरजेडी नेता जेपी यादव अपने घर में स्‍वजनों के साथ थे। इसी बीच बाइक

सवार अपराधियों ने पूरे परिवार पर अंधाधुंध गोलीबारी (Indiscriminate Firing) कर आरजेडी नेता के माता-पिता (Parents) की हत्‍या कर दी।

– बुरी तरह घायल आरजेडी नेता व उनके भाई (Brother) अस्‍पताल ले जाए गए, जहां भाई की भी मौत (Death) हो गई। आरजेडी नेता का इलाज पटना मेडिकल कॉलेज एवं अस्‍पताल (PMCH) में जारी है।

– घायल आरजेडी नेता ने घटना में जेडीयू विधायक अमरेंद्र कुमार पांडेय (Amrendra Kumar Pandey) तथा मुकेश पांडेय (Mukesh Pandey) व सतीश पांडेय (Satish Pandey) की संलिप्‍तता बतायी। उनके खिलाफ नामजद एफआइआर दर्ज की गई है, लेकिन जेडीयू विधायक को गिरफ्तार नहीं किया गया है।

– घटना के दो दिनों बाद मंगलवार को बाइक पर सवार तीन अपराधियों ने जेडीयू विधायक अमरेंद्र कुमार पांडेय के एक रिश्‍तेदार मुन्ना तिवारी (Munna Tiwary) की भी हत्‍या कर दी।

– तिहरे हत्‍याकांड में आरोपित विधायक के रिश्तेदार की हत्या को गैंगवार (Gang War) का परिणाम माना जा रहा है। हालांकि, फिलहाल निश्चित तौर पर कुछ नहीं कहा जा सकता।

– तेजस्‍वी यादव ने पीएमसीएच जाकर घायल आरजेडी नेता से मुलाकात की। उन्‍होंने कहा कि आरजेडी नेताओं पर हमला बर्दाश्त से बाहर है।

– तेजस्वी ने सरकार को गुरुवार तक की मोहलत देते हुए कहा कि अगर इस बीच आरोपित जेडीयू विधायक की गिरफ्तारी नहीं हुई तो वे पटना से गोपालगंज तक मार्च करेंगे।

– लॉकडाउन के दौरान आरजेडी विधायकों के मार्च को पुलिस-प्रशासन ने रोक दिया। इसके बाद उन्‍होंने विधानसभा अध्‍यक्ष से मिलकर विशेष सत्र बुलाने की मांग रखी।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In राजनीति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

नालंदा में RJD नेता की कोरोना से मौत.. NMCH में थे भर्ती

बिहार विधानसभा चुनाव से पहले राष्ट्रीय जनता दल को बड़ा झटका लगा है। नालंदा में आरजेडी के क…