बालू माफिया का कहर- बेटे के सामने पिता को जिंदा दफना दिया

0

नालंदा जिला में अवैध बालू खनन का धंधा अब भी चल रहा है। विरोध करने पर बालू माफियाओं ने एक किसान को उसके बेटे के सामने ही जिंदा दफना दिया। मामला तेलहाड़ा थाना के गंगा विगहा के मठियापर गांव की है। जहां बालू माफिया ने बालू उठाव का विरोध करने पर बेटे के सामने ही पिता को जिंदा जमीन में दफन कर दिया। बालू माफिया चश्मदीद बेटे को भी जमीन में दफन करने की कोशिश लेकिन वो किसी तरह भागकर जान बचाई। पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है।
क्या है मामला जानिए
तेल्हाड़ा थाना के मठियापर गांव में फल्गु नदी के किनारे बालू माफिया बालू उठाव कर रहे थे। रात के दो बजे किसान राजेंद्र यादव को भनक लगी कि बालू माफिया उनके खेत से बालू का उठाव कर रहे हैं। राजेंद्र यादव अपने बेटे संजय के साथ खेत पर पहुंचे। जहां धंधेबाज पोकलेन मशीन से बालू उठाव कर रहे थे। किसान ने बालू उठाव का विरोध किया तो धंधेबाजों ने मुंह बंद रखने की चेतावनी दी और कहा कि वो बालू उठाव बंद नहीं होगा। जिसके बाद राजेंद्र यादव मशीन के सामने खड़े हो गए। इसके बाद पोकलेन ड्राइवर ने राजेंद्र यादव को उठाकर गड्‌ढे में गिरा दिया और ऊपर से बालू डाल दी।
‘मैं नहीं भागता तो मुझे भी गाड़ देता’
चश्मदीद संजय का कहना है कि पिता मशीन रोकने के लिए उस ओर बढ़ रहे थे। उसी दौरान धंधेबाज दिनेश प्रसाद का पुत्र बिट्टू कुमार, महेश बिंद का पुत्र श्याम बिंद, वीरेंद्र प्रसाद का पुत्र पिंटू प्रसाद ने पोकलेन चालक अनिल प्रसाद को कहा कि इसे मशीन से खींचकर गड्ढे में डाल दो। चालक ने बिना समय गंवाए पोकलेन के चोंगा से मेरे पिता को खींचकर गड्ढे में गिरा दिया और उन पर बालू का ढेर जमा कर दिया। इसके बाद पोकलेन का चोंगा मेरी ओर मुड़ा। मैंने किसी तरह से वहां से भागकर अपनी जान बचाई। अगर मैं वहां रुकता तो वे लोग मुझे भी मार देते।
डीएम ने कहा- जानकारी नहीं, खनन पदाधिकारी बोले- तेज होगी कार्रवाई
डीएम डॉ. त्यागराजन एसएम ने बताया कि तेल्हाड़ा में बालू विवाद में हत्या की जानकारी उन्हें नहीं है। अगर इलाके में अवैध खनन में घटना हुई है तो अभियान चलाकर कार्रवाई होगी। वहीं,प्रभारी खनन पदाधिकारी रविन्द्र राम ने बताया कि एक सप्ताह पहले जिलाधिकारी ने बैठक कर अवैध खनन पर नकेल कसने का निर्देश जारी किया था। तेल्हाड़ा में भी कार्रवाई तेज की जाएगी। तेल्हाड़ा थानाध्यक्ष ऋषिकेश कुमार ने बताया कि चार लोगों को आरोपित कर हत्या की एफआईआर पुत्र ने दर्ज कराई है। पुलिस संभावित ठिकानों पर गिरफ्तारी के लिए कार्रवाई में जुटी है।
आए दिन गिर रहीं लाशें
डीएम-एसपी ने हफ्ते भर पहले बैठक कर उन इलाकों की सूची भी जारी की थी जहां अवैध बालू उठाव होता है। हाल ही में मानपुर थानाध्यक्ष, धंधेबाजों के निशाना बनने से बचे थे। जनवरी में भी थानाध्यक्ष पर फायरिंग की गई थी।
यहां हो रहा अवैध खनन
मानपुर- सिंग्थू व विलासपुर घाट।
अस्थावां- पिपरापुर गांव के जिराईन नदी, नन्हू विगहा गांव के पास।
बिंद- गोविंदपुर व सदरपुर घाट।
सारे- पिपरापुर बालू घाट।
सरमेरा- दरियापुर, सतहुआ घाट।
दीपनगर- पंचाने नदी से कोरई, राणा विगहा एवं सिपाह।
एक साल में 5 की निर्मम हत्या
14 फरवरी धनुकी गांव में जमाहीर यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई।
30 मार्च नदियावां में दो भाइयों फग्गु और श्रीमांझी को गोली से भून दिया।
14 मई भट विगहा गांव में भोला यादव को गोयठवा नदी में ही मार डाला।
19 जून तेल्हाड़ा में किसान राजेंद्र यादव को जिंदा दफन कर दिया
माफिया-पुलिस गठजोड़ से हो रहा है अवैध खनन
शहरी इलाके के हर मोड़ पर सीसीटीवी लगे हैं। अल सुबह अवैध बालू लोड वाहन शहर में प्रवेश करते हैं। चालक तेज गति से वाहन को शहरी मार्गों से ले रहे हैं। जाहिर है सीसीटीवी में बालू लोड वाहनों की तस्वीर भी कैद होती होगी। बावजूद इसके कार्रवाई नहीं होती। बालू ढोने वाले वाहन कई थाना क्षेत्र से होकर गुजर रहे हैं, पुलिस उनकी रोकटोक और कागजातों के जांच की जहमत नहीं उठाती। कभी-कभार वाहनों को जब्त किया। लेकिन सुदूरवर्ती इलाके से ही नहीं शहरी इलाके से भी वाहन दिन के उजाले में गुजर रहे हैं।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

दुल्हनिया संग हनीमून मनाने चले तेजस्वी यादव.. आरजेडी में मचा है घमासान

तेजस्वी यादव अपनी पत्नी राजश्री के साथ लंदन रवाना हो गए हैं। शादी के बाद ये उनकी पहली विदे…