Home खास खबरें बड़ा फर्जीवाड़े का खुलासा- मुखिया और मैनेजर गटक गए लाखों रुपए

बड़ा फर्जीवाड़े का खुलासा- मुखिया और मैनेजर गटक गए लाखों रुपए

0
scam in seven nishchay scheme in nalanda,परबलपुर,चौसंडा पंचायत,सात निश्चय योजना,नल जल योजना,पंचायती राज मंत्री,कपिलदेव कामत,नालंदा न्यूज,हिलसा,parwalpur,parbalpur,परवलपुर,chausanda panchayat, scam in seven nishchay scheme in nalanda,seven nishchay yojna,nalanda,nitish kumar,nalanda latest news,nalanda news

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सात निश्चय योजना को उनके ही अधिकारी और जनप्रतिनिधि पलीता लगा रहे हैं। मुख्यमंत्री के गृह जिले नालंदा में सात निश्चय योजना में भारी गड़बड़झाले का खुलासा हुआ है। जहां मुखिया, अधिकारी और बैंक कर्मी ने सरकारी राशि का बंदरबांट कर लिया है ।

क्या है मामला

परवलपुर प्रखंड के चौसंडा पंचायत में नल जल योजना की राशि का बंदरबांट का मामला सामने आया है। वार्ड संख्या 5 की सदस्या नवीहन खातून ने थाना से लेकर मंत्री तक इसकी शिकायत की है। लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। दरअसल, वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति ने संयुक्त खाता खोला गया था। जिसमें चौसंडा पंचायत के वार्ड सचिव बीरमणी कुमार सिंह और वार्ड सदस्या नवीहन खातून का नाम है। दोनों का ये ज्वाइंट अकाउंट निश्लगंज के मध्य बिहार ग्रामीण बैंक खोला गया था। जिसका खाता संख्या 71820100144741 है।

20 लाख रुपए का बंदरबांट

वार्ड संख्या 5 में सात निश्चय योजना के लिए 20 लाख रुपए आया था। लेकिन वार्ड सदस्या नवीहन खातून के जानकारी के बिना वार्ड सचिव बीरमणी कुमार सिंह, चौसंडा पंचायत की मुखिया और बांच मैनेजर निश्चलगंज ने मिल कर पैसों का काम तमाम कर दिया। खातून का आरोप है कि बिना काम कराए महज 3 दिन में 20 लाख रुपये निकाल लिए गए।

थाने से लेकर मंत्री तक शिकायत

परबलपुर के चौसंडा पंचायत के वार्ड संख्या 5 की सदस्या नवीहन खातून ने थाने से लेकर मंत्री तक इसकी शिकायत की है। लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। वार्ड सदस्या का कहना है खाता मेरे संयुक्त नाम से है मैं गरीब महिला सरकार के इतने पैसे कहा से दूंगी जब क्षेत्र में कोई काम ही नहीं हुआ है। नवीहन खातून ने कहा कि पैसे की निकासी की जानकारी पासबुक अपडेट कराने से मिली है।

पहले भी हो चुका है गड़बड़झाला

इससे पहले चौसंडा पंचायत के वार्ड 5 की सदस्यता रुकमिणी देवी ने भी ऐसी ही शिकायत की थी। रुकमिणी देवी का कहना है कि बिना अंगूठे के निशान दिए ही बैंक से पैसा निकाल लिया गया।नवीहन खातून और रुकमिणी देवी ने पंचायती राज मंत्री कपिलदेव कामत से गुहार लगाई है

मंत्री ने दिए जांच के आदेश

पंचायती राज मंत्री कपिलदेव कामत ने इस मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं । उन्होंने कहा कि जाँच के बाद जो भी दोषी होगा उसे बक्शा नहीं जाएगा। बैंक की संलिप्तता की भी जाँच की जाएगी । मंत्री ने कहा कि ये बहुत ही गंभीर मामला है। सात निश्चय का पैसा बिजली का करंट है जो फसेगा वह जाएगा।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

बिहार में कई जिलों के सिविल सर्जन बदले गए.. जानिए किनका कहां हुआ तबादला

बिहार चुनाव से पहले अफसरों के तबादले का सिलसिला लगातार जारी है. बिहार में कई डॉक्टरों का त…