Home खास खबरें अगर आप ग्रेजुएट हैं तो ये खबर आपके लिए जरूरी है

अगर आप ग्रेजुएट हैं तो ये खबर आपके लिए जरूरी है

0

अगर आप स्नातक यानि ग्रेजुएट हैं . साथ ही पटना,नालंदा और नवादा जिला के रहने वाले हैं तो ये खबर आपके लिए बहुत जरूरी है । क्योंकि अगले साल अप्रैल में पटना स्नातक विधान पार्षद का चुनाव होना है । इसके लिए मतदाता सूची तैयार हो रही है।

कौन-कौन बन सकते हैं वोटर
पटना स्नातक विधान परिषद क्षेत्र में तीन जिला के लोग आते हैं। जिसमें पटना,नालंदा और नवादा जिला आता है । ऐसे में पटना,नालंदा और नवादा जिला के स्नातक पास लोग मतदाता बन सकते हैं। ये बातें स्नातक अधिकार मंच के संयोजक दिलीप कुमार ने बतायी। कांग्रेस के नालंदा जिलाध्यक्ष दिलीप कुमार ने बताया कि वैसे लोग मतदाता बन सकते हैं जो साल 2016 या उससे पहले स्नातक की डिग्री हासिल कर ली है। चाहे वो साइंस में हो, आर्ट्स में हो,मैनेजमेंट में हो, कॉमर्स में हो या इंजीनियरिंग में हो. साधारण शब्दों में ऐसे समझिए कि किसी ने बीए या बीएससी या बीकॉम किया है. या एमबीबीएस, बीटेक या बीबीए आदि की डिग्री हासिल कर रखा है वो मतदाता बन सकते हैं । साथ ही ये भी बता दें कि अगर को सरकारी या प्राइवेट नौकरी भी कर रहा है तब भी वो मतदाता बन सकता है

इसे भी पढ़िए-विधायक-विधान पार्षद में कौन ज्यादा ताकतवर और क्या अंतर है जानिए

वोटर बनने के लिए क्या करना होगा
बिहार शरीफ के ममता इंटरनेशनल होटल में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में स्नातक अधिकार मंच के संयोजक दिलीप कुमार ने बताया कि 6 नवंबर 2019 तक मतदाता अपने नाम वोटर लिस्ट में जुड़वा सकतें हैं। इसके लिए मतदाता को प्रमाण पत्र के तौर पर स्नातक फाइनल इयर के मार्कशीट का फोटो कॉपी, वोटर आईडी कार्ड का नंबर और एक रंगीन फोटोग्राफ के साथ-साथ मोबाइल नंबर भी देना होगा। इसके साथ फॉर्म 18 भरकर अपने गृह प्रखंड कार्यालय में प्रखंड विकास पदाधिकारी के यहां जमा करना होगा। साथ ही उसका रसीद लेना ना भूलें .

डेट बढ़ाने की मांग
स्नातक अधिकार मंच के संयोजक दिलीप कुमार ने मतदाता सूची में नाम जुड़वाने के लिए चुनाव आयोग से तिथि बढ़ाने की मांग की है । दिलीप कुमार का कहना है कि पटना स्नातक विधान परिषद क्षेत्र में आने वाले जिले बाढ़ से प्रभावित रहा है और लोग त्योहार मनाने में व्यस्त रहे हैं ऐसे में फॉर्म भरने की तारीख को एक महीना बढ़ाना चाहिए।

1 स्नातकों को जब तक सरकारी नौकरी नहीं मिल जाती है तक तक कम से कम दस हजार रुपया प्रति माह बेरोजगारी भत्ता एवं बेरोजगार स्नातकों को रोजगार के लिए सुलभ तरीके से बिना शर्त ऋण प्रदान की जाय।

2. बिहार में नियोजित एवं अनुबंध शब्द को नौकरी के लिए समाप्त कर सभी नियोजितों को स्थाई एवं पूर्ण रूपेण सरकारी सुविधा प्रदान की जाय।

3. सभी प्रखंडों में अति आधुनिक स्नातक भवन का निर्माण कराया जाय।

4. बिहार में स्थापित अन्य आयोग की तरह की युवा एवं स्नातक आयोग का गठन किया जाय ताकि स्नातक युवा अपनी बात को वहां तक पहुंचा सके।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

राजधानी पटना में डेंगू का कहर, BJP विधायक को भी हुआ डेंगू

राजधानी पटना (Patna) में डेंगू (Dengue) का कहर लगातार जारी है. पटना की बात करें तो अकेले अ…