Home खास खबरें पूर्व विधायक इंजीनियर सुनील बने ‘किंग मेकर’.. शर्मीली बनीं डिप्टी मेयर, बदला हुआ पूरा

पूर्व विधायक इंजीनियर सुनील बने ‘किंग मेकर’.. शर्मीली बनीं डिप्टी मेयर, बदला हुआ पूरा

0

बिहार शरीफ नगर निगम को नया डिप्टी मेयर मिला है । शर्मीली परवीन बिहारशरीफ की नई डिप्टी मेयर बनीं हैं। उन्होंने अपनी प्रतिद्वंदी और पूर्व डिप्टी मेयर फूल कुमारी को 13 वोटों से हरा दिया है .

डीएम ने दिया सर्टिफिकेट
बिहारशरीफ के शहीद हरदेव भवन में डिप्टी मेयर के पद को लेकर चुनाव हुआ . जिसमें शर्मीली परवीन को 29 और पूर्व महापौर फूल कुमारी को 16 मत मिले. जबकि एक वार्ड पार्षद चुनाव में उपस्थित नहीं हो सके जीत के बाद डीएम योगेंद्र सिंह ने शर्मीली परवीन को प्रमाण पत्र सौंपा.

इंजीनियर सुनील फिर बने किंग मेकर
पूर्व विधायक इंजीनियर सुनील ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि बिहारशरीफ नगर निगम में उनका ही सिक्का चलेगा । एक बार फिर वे किंग मेकर की भूमिका में दिखे. पहले डिप्टी मेयर फूल कुमारी को सत्ता से हटाया. फिर मेयर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया औऱ उसे गिराकर उन्हें अजेय बना दिया. अब इंजीनियर सुनील ने शर्मीली परवीन को डिप्टी मेयर बनवा डाला. बिहारशरीफ की राजनीति समझने वालों का कहना है कि सूबे के मंत्री श्रवण कुमार के इशारे पर इंजीनियर सुनील और राजू यादव ने इसे अंजाम तक पहुंचा

इसे भी पढ़िए-बिहारशरीफ की मेयर वीणा कुमारी की बच गई कुर्सी; बड़ी साजिश का खुलासा !

नदीम जफर का बदला पूरा
भले ही इस खेल में इंजीनियर सुनील ने किंग मेकर की भूमिका निभाई . लेकिन इसमें असली बदला नदीम जफर का पूरा हुआ. दरअसल, नदीम जफर उर्फ गुलरेज बिहारशरीफ के डिप्टी मेयर थे । बाद में शंकर कुमार ने उन्हें कुर्सी से बेदखल कर दिया और खुद कुर्सी पर कब्जा जमाया. इसके बाद अगले चुनाव में नदीम जफर ने शंकर कुमार की पत्नी फूल कुमारी के खिलाफ अपनी भाभी गजाला परवीन को मैदान में उतारा । लेकिन उसमें भी शंकर कुमार ने नदीम जफर को हराया दिया। शंकर कुमार की पत्नी फूल कुमारी को 25 और गजाला परवीन को 21 वोट मिले और फूल कुमारी शहर की उपमहापौर बन गईं.

शर्मीली परवीन उप महापौर बनीं
शहर के उप महापौर रह चके नदीम जफर को ये हार अंदर से कुरेद रही थी. वे शंकर कुमार से बदला लेना चाह रहे थे और इसके लिए वो पूर्व विधायक इंजीनियर सुनील की शरण में जा पहूंचे. फिर क्या था जब कानून के मुताबिक उपमहापौर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का समय आया । तो फूल कुमारी के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया जिसमें फूल कुमारी बुरी तरह से हार गईं. उसके बाद दोबारा डिप्टी मेयर के लिए चुनाव हुआ. जिसमें नदीम जफर की पत्नी शर्मीली परवीन चुनाव जीत गईं और इस तरह नदीम जफर ने अपना बदला पूरा कर लिया । आपको बता दें की नदीम जफ़र के पिता स्वर्गीय कमरुल हसन साल 1972 से 1977 तक बिहार नगर पालिका के उपाध्यक्ष रहे उसके बाद उनकी भाभी गजाला परवीन 2002 से 2007 तक उपाध्यक्ष बनीं. इसके बाद नगर निगम के गठन होने के बाद नदीम जफर डिप्टी मेयर बने . अब उनकी पत्नी शर्मीली परवीन उपमहापौर बनी हैं ।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

नालंदा में युवक की गोली मारकर हत्या.. इलाके में सनसनी

नालंदा जिला में आपसी रंजिश में एक व्यक्ति की हत्या कर दी गई। हत्या की वारदात के बाद गांव म…