Home खास खबरें घूस नहीं दिया तो चीफ इंजीनियर ने ठेकेदार को जिंदा जलाकर मार डाला

घूस नहीं दिया तो चीफ इंजीनियर ने ठेकेदार को जिंदा जलाकर मार डाला

0

ठेकेदार द्वारा इंजीनियर को मारने की खबर तो आपने पहले भी कई बार पढ़ी या सुनी होगी. लेकिन अब इंजीनियर द्वारा ठेकेदार को जिंदा जलाकर मारने की खबर आई है. जिसमें ठेकेदार ने 15 लाख रुपए नहीं दिया तो चीफ इंजीनियर ने जिंदा जलाकर मार डाला।

क्या है पूरा मामला
बिहार के गोपालगंज के गंडक कॉलोनी में जल संसाधन विभाग के चीफ इंजीनियर के घर से एक ठेकेदार का शव बरामद हुआ है । बताया जा रहा है कि ठेकेदार ने चीफ इंजीनियर को घूस के 15 लाख रुपए नहीं दिए . जिसके बाद चीफ इंजीनियर ने ठेकेदार के शरीर पर केरोसिन तेल डालकर जिंदा जला दिया.

60 लाख रुपए को लेकर था विवाद
ठेकेदार रामाशंकर सिंह ने गंडक परियोजना परिसर में दो करोड़ 25 लाख की लागत से एक भवन का निर्माण कराया था. काम पूरा होने के बाद ठेकेदार ने जब 60 लाख से अधिक बकाए रुपए की मांग की तो चीफ इंजीनियर रुपए देने से इनकार कर दिया। इस बात को लेकर दोनों के बीच विवाद चल रहा था। गुरुवार को ठेकेदार रुपए के लिए चीफ इंजीनियर के पास पहुंचे तो फिर से विवाद हो गया।

केरोसिन तेल डालकर लगा दी आग
मृतक ठेकेदार रामाशंकर सिंह के बेटे राणा सिंह का आरोप है भुगतान करने के लिए मुख्य अभियंता बार-बार 15 लाख रिश्वत मांग रहे थे। नहीं देने पर गंडक परियोजना के मुख्य अभियंता मुरलीधर राम ने केरोसिन तेल डालकर आग लगा दी । जिसमें ठेकेदार रामाशंकर सिंह की मौत हो गई.

चीफ इंजीनियर का घर सील
जल संसाधन विभाग के चीफ इंजीनियर मुरलीधर राम के आवास को पुलिस ने सील कर दियाहै ।आवास के परिसर में एक विभाग की स्कार्पियो, एक उनकी कार और दो बाइक लगी थी। पुलिस ने कमरे में बिस्तर और कमरे के पीछे फेंके गए एक जिंस और एक टी-शर्ट को जब्त कर लिया।

ड्राइंग रूम से गैलन बरामद
घटना की सूचना मिलने पर पुलिस अधीक्षक राशिद जमां, एसडीपीओ नरेश पासवान, नगर इंस्पेक्टर प्रशांत कुमार राय पुलिस के साथ मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने मुख्य अभियंता के आवास के ड्राइंग रूम से एक गैलन बरामद किया है।

चीफ इंजीनियर समेत 4 लोगों पर केस दर्ज
जल संसाधन विभाग के मुख्य अभियंता के आवास में ठेकेदार रामाशंकर सिंह की जिंदा जल कर हुई मौत मामले में गोपालगंज नगर थाने में केस दर्ज करायी गई है। प्राथमिकी मृत ठेकेदार के बेटे राणा प्रताप सिंह के बयान पर दर्ज की गई है। जिसमें मुख्य अभियंता मुरलीधर, उनकी पत्नी के अलावे विभाग के अधीक्षण अभियंता जितेंद्र प्रसाद, कार्यपालक अभियंता सतेन्द्र कुमार और तीन चार अज्ञात को आरोपी बनाया गया है . पुलिस को दिए लिखित बयान में ठेकेदारी के बकाए पेमेंट के लिए बुला कर किरासन तेल छिड़क कर आग लगाने का आरोप लगाया गया है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

बाहुबली विधायक अनंत सिंह की पत्नी ने वापस लिया नामांकन.. जानिए क्यों ?

मोकामा से बाहुबली अनंत सिंह की पत्नी नीलम देवी ने अपना नामांकन वापस ले लिया है। नीलम देवी …