Home खास खबरें मुहब्बत की सजा.. पंचायत के फरमान पर पिता ने बेटी को पेड़ से बांधा

मुहब्बत की सजा.. पंचायत के फरमान पर पिता ने बेटी को पेड़ से बांधा

0

बिहार के नवादा में पंचायत का तालिबानी फरमान देखने को मिला। जहां पंचायत के तुगलकी फरमान पर एक पिता को बेटी को घंटों पेड़ से बांधकर रखना पड़ा। पूरा गांव तमाशबीन बनकर माजरा देखते रहे। वो भूखे प्यासे चिलचिलाती धूप में तड़पते रही। लेकिन किसी का भी दिल नहीं पिघला। लड़की पांच घंटे तक तड़पती रही।

क्या है पूरा मामला

नवादा जिले के रजौली थाना क्षेत्र के एक गांव का पूरा मामला है। लड़की और लड़का दोनों अलग-अलग समुदाय के हैं। दोनों एक-दूसरे से प्यार करते हैं। इसी बात से लड़की के पिता नाराज थे और गांव में पंचायत भी लगा गई. लेकिन लड़की ने पंचायत की बातों को मानने से इंकार कर दिया । वो अपने प्रेमी से शादी करने के अपने फैसले पर अड़ी रही। इसपर पंचायत ने कहा कि अगर तुम अपनी बात पर अडिग रही तो तुम्हें कड़ी-से-कड़ी सजा मिलेगी।

इसे भी पढ़िए-पुलिस को आया फोन, HELLO! मैंने अपनी पत्नी को मार दिया है

घर छोड़कर लड़के के साथ भागी थी लड़की

पीड़ित युवती पड़ोस के गांव के एक युवक से शादी करना चाहती थी. इसके लिए 30 सितंबर को वो अपने प्रेमी के साथ भाग गई। इस बीच गुरुवार को उसके परिवार वालों को ये सूचना दी गई कि लड़की पड़ोस के ही गांव में है. अपनी बेटी के मिलने की सूचना पाकर घरवाले उसे लाने के लिए निकल पड़े और उसे अपने साथ गांव लेकर आए. गांव पहुंचते ही पंचायत ने लड़की को सजा सुनाई। इधर, लड़की का कहना है कि वो तीन साल से उस लड़के से प्यार करती है और उसी से शादी करना चाहती है। लेकिन परिवार के सदस्य इसके लिए राजी नहीं हैं। परिवार की नाराजगी के कारण हम लड़के के साथ घर छोड़कर चले गये थे। कुछ दिन बाद हमारे परिजनों को पता चल जाता है कि हमलोग कहां रह रहे हैं और वो लोग हमलोगों को पकड़कर गांव ले आते हैं।

पंचायत ने सुनाया तुगलकी फरमान

लड़की ने जब पंचायत का फैसला मानने से इनकार कर दिया। तब पंचायत ने पेड़ से बांधने का फैसला सुनाया। जिसके बाद लड़की के पिता ने पीड़िता को पेड़ से बांध दिया। वो पांच घंटे तक पेड़ से बंधी रही लेकिन न तो वहां पुलिस पहुंची और न हीं किसी ने पीड़िता को बचाने की कोशिश की।

इसे भी पढ़िए-घोर पाप- बिहारशरीफ में प्रेमी के साथ मिलकर पत्नी ने पति को मार डाला

बेसुध होकर गिर पड़ी पीड़िता

पीड़िता 5 घंटे तक भूखे प्यासे पेड़ से बंधी रही। जिसकी वजह से उसकी हालत बिगड़ने लगी और वो गिर पड़ी। जिसके बाद लोगों ने उसे बंधन से मुक्त किया गया। उधर, पुलिस का इस मामले में कहना है कि अभी तक इस मामले में उन्हें कोई आवेदन या शिकायत नहीं मिली है। शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

बिहार विधानसभा अध्यक्ष के नाम पर लगी मुहर, नंदकिशोर यादव का कट गया पत्ता !

बिहार विधानसभा का अगला अध्यक्ष कौन होगा ? क्या नंद किशोर यादव को बनाया जाएगा अध्यक्ष? या ज…