Home खास खबरें खुशखबरी- बिहारशरीफ-बोधगया फोरलेन की बाधाएं हुई दूर, कहां क्या बनेगा जानिए

खुशखबरी- बिहारशरीफ-बोधगया फोरलेन की बाधाएं हुई दूर, कहां क्या बनेगा जानिए

0

नालंदा-नवादा औऱ गया जिलावासियों के लिए खुशखबरी है। बौद्ध सर्किट विकास योजना के तहत बन रहे बिहारशरीफ-बोधगया फोरलेन के निर्माण कार्य की बाधाएं दूर कर ली गई है। जिसके बाद ये कहा जा रहा है कि अगले साल के अक्टूबर तक निर्माण कार्य पूरा कर लिया जाएगा। बौद्ध सर्किट में शामिल राजगीर-नालंदा और बोधगया आने वाले पर्यटकों को परेशानी न हो और लोग कम समय में आ जा सकें इसके लिए तेजी से निर्माण कार्य किया जा रहा है।

93 किमी लंबा है बिहारशरीफ-बोधगया फोरलेन

बिहार स्टेट रोड डेवलपमेंट कारपोरेशन लि. के डीजीएम मुकेश कुमार के मुताबिक ये फोरलेन 93 किलोमीटर लंबा है। जो गया के पहाड़पुर से लेकर बिहारशरीफ के राणा बिगहा तक बनेगा। इसके निर्माण पर कुल 925 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं। बरसात को लेकर कुछ जगहों पर समस्याएं थीं उसे दूर कर लिया गया है। साथ ही अतिक्रमण हटाने का भी काम किया जा रहा है। मुकेश कुमार के मुताबिक इसका निर्माण हैदराबाद की एक कंपनी कर रही है।

फोरलेन में 14 किलोमीटर लंबे 5 बाइपास बनेंगे

बिहारशरीफ से बोधगया तक बनने वाले इस फोरलेन में 14 किलोमीटर में 5 बाईपास होंगे। गया के मानपुर 5 किलोमीटर लम्बा बाईपास, बजीरगंज में ढाई किलोमीटर लम्बा बाईपास, नवादा जिले के तुंगी-मंझवे में डेढ़ किलोमीटर, हिसुआ में 2 किलोमीटर और नारदीगंज में 3 किलोमीटर बाईपास होगा। साथ ही छह बड़े पुल का भी निर्माण किया जायेगा। जिसमें गया के फल्गु नदी पर, पैमान नदी पर, नवादा के तुंगी नदी, तिलैया नदी, नारदीगंज के पंचाने नदी और नालंदा के कोसुक में पंचाने नदी के अलावा सैकड़ों की संख्या में छोटे-मोटे पुल-पुलिया भी बनेंगे।

चार रेलवे ओवरब्रिज बन रहे हैं

चार रेलवे ओवरब्रिज भी बनाया जा रहा है। गया के मानपुर रेलवे क्रासिंग, नवादा के बैजनाथपुर रेलवे गुमटी, हिसुआ रेलवे क्रासिंग और राजगीर रेलवे क्रासिंग का निर्माण कार्य किया जाएगा।

ग्रीन फील्ड एरिया के लिए 200 फीट भूमि का अधिग्रहण

इस फोरलेन में ग्रीन फिल्टर एरिया के लिए 200 फीट भूमि का अधिग्रहण किया गया है। सघन आबादी वाले में 100 फीट भूमि अधिगृहित हुई है। इस सड़क की चौड़ाई दोनों तरफ 7-7 मीटर बनायी जा रही है। साथ ही सड़क के दोनों किनारों पर साढ़े तीन-तीन मीटर का फ्लैग और बीच में साढ़े तीन मीटर का डिवाइडर दे दिया जा रहा है। सड़क के बगल में फ्लैग के बाद सवा दो मीटर चौड़ी फुटपाथ का भी निर्माण किया जा रहा है।

यानि बस एक साल और इंतजार कीजिए उसके बाद बिहारशरीफ से बोधगया जाने के लिए वर्ल्ड क्लास फोरलेन का मजा उठाइएगा। क्योंकि इस फोरलेन में खूबसूरती भी होगी और रफ्तार का रोमांंच भी होगा।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

कोरोना का कहर: बीजेपी नेता और स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख समेत 10 लोगों की मौत

बिहार में कोरोना का कहर जारी है. कोरोना के नए मरीजों की तादाद बढ़ती जा रही है. कोरोना की व…