Home खास खबरें राजगीर के पांडू पोखर के बारे में जानिए.. किराया आधा हुआ

राजगीर के पांडू पोखर के बारे में जानिए.. किराया आधा हुआ

0

अगर आप घूमने फिरने के शौकीन हैं तो आपके लिए अच्छी खबर है। कमरतोड़ महंगाई के बीच एक अच्छी खबर आपके लिए है। राजगीर में पांडू पोखर का किराया घटकर आधा हो गया है। राजगीर घूमने आने वालों को पांडू पोखर अपनी ओर खूब आकर्षित करता है। पांडू पोखर में मनोरंजन के कई साधन हैं जैसे राफ्टिंग, बर्मा ब्रिज और हॉर्स राइडिंग । आपको इन सब के बारे में बताएं लेकिन उससे पहले पांडू पोखर के बारे में जानिए

पहाड़ की गोद में बसा है पांडू पोखर

पांडु पोखर राजगीर में 22 एकड़ इलाके में फैला है। कहा जाता है कि इस जगह का इस्तेमाल पांडवों के पिता महाराज पांडु अस्तबल के तौर पर करते थे।  कालांतर में इसमें बारिश और पहाड़ी स्रोतों से पानी भर गया और झील का रूप ले लिया। वहीं कई इतिहासकारों को कहना है कि पांडव के पिता महाराज पांडू यहां स्नान करने आते थे। इस लिए इसका नाम पांडू पोखर पड़ा।

इसे भी पढ़िए- तो पटना से बड़ा शहर कैसे बन जाएगा राजगीर.. जानिए

इसे भी पढ़िए-बिहारशरीफ, राजगीर और सिलाव वालों के लिए खुशखबरी

सरोवर के बीचोबीच  40 फीट उंची महाराज पांडू की प्रतिमा स्थापित की गई है। पांडू पोखर सरोवर में नौकायान का लुत्फ उठाते हुए पर्यटक इनकी प्रतिमा को करीब से देखते हैं।

एडवेंचर के शौकिनों का फेवरेट जगह है पांडू पोखर

एडवेंचर के शौकीनों को पांडू पोखर अपनी ओर खूब आकर्षित करता है। यहां का बर्मा ब्रिज, माउंटेरियरिंग, साइकिलिंग और हॉर्स राइडिंग जैसी चीजें जहां युवाओं को अपनी ओर लुभाता है तो वहीं, स्लाइडिंग, क्रिस क्रॉस, लिवर पुल जैसी चीजें बच्चों को अपनी ओर खिंचता है।

जापानी हाउस और तालाब, सतरंगी जल का फब्वारा, पर्यटकों के बैठने के लिए पवेलियन ने पोखर के सौंदर्य में चार चांद लगा दिया है। वीआईपी सुविधा से लैस कमरे तथा भुल-भुलैया भी इसके आकर्षण का केन्द्र होगा। पोखर पार्क में संगमरमर निर्मित बुद्ध की प्रतिमा लगभग 300 केजी की है।

वहीं रोज गार्डेन और विभिन्न प्रकार के फूलों से सजी बगीचों में शुद्ध व ताजा पर्यावरण का भी पर्यटक आनंद उठा सकेंगे। नालंदा खंडहर कन्सट्रक्शन के तर्ज पर पूरे पांडू पोखर सरोवर के परिसर की दीवारें, प्रवेश द्वारा व निकास द्वार सहित सभी चीजें ओपेन ब्रीक्स लुक के साथ आर्किटेक्ट किया गया है

पांडू पोखर का किराया जानिए

ऐसे  में पांडू पोखर प्रबंधन ने यहां घूमने वालों को तोहफा दिया है। पर्यटकों को ज्यादा से ज्यादा आकर्षित करने के लिए अपने पैकेज का रेट सीधा आधा कर दिया है। पांडू पोखर में घूमने वालों को तीन तरह का बैंड दिया जाता है। अगर आप व्हाइट बैंड खरीदते हैं तो आपको सिर्फ इंट्री मिलेगा। इसके लिए आपको चालीस रुपए खर्च करने होंगे। अगर आप ग्रीन बैंड खरीदते हैं तो आप नौकायन यानि बोटिंग का मजा ले सकते हैं। लेकिन अगर आप येलो बैंड खरीदते हैं तो आपको 150 रुपए खर्च करने होंगे । लेकिन आप यहां मौजूद हर चीज मजा ले सकते हैं ।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

पावापुरी मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर सस्पेंड.. जानिए क्यों ?

पावापुरी मेडिकल कॉलेज में चार दिनों से चलता आ रहा बवाल आखिरकार थम गया. विम्स अस्पताल के आर…