नालंदा में जिला शिक्षा पदाधिकारी और मुखिया समेत 9 लोगों की कोरोना से मौत

0

कोरोना संक्रमण का कहर दिनोंदिन नालंदा जिला में बढ़ता जा रहा है । नालंदा में रविवार को जिला शिक्षा पदाधिकारी और मुखिया समेत 5 लोगों की मौत हो गई है । इससे पहले शनिवार को 4 लोगों की मौत हो गई थी। यानि पिछले 48 घंटे में 9 लोगों की मौत हो गई।

नालंदा के DEO की मौत
नालंदा के जिला शिक्षा पदाधिकारी मनोज कुमार की कोरोना से मौत हो गई है। वो पटना AIIMS में भर्ती थे। मनोज कुमार के निधन से शिक्षा जगत को बड़ा नुकसान हुआ है । उनकी गिनती जिला के साफ-सुथरे अफसर के तौर पर होती थी। नालंदा जिला शिक्षक संघ ने उनके निधन पर शोक जताया और श्रद्धांजलि दी।

इसे भी पढ़िए-नालंदा में कोरोना से बस मालिक समेत 3 लोगों की मौत.. जानिए किस किस की..

मुखिया की मौत
नालंदा जिला के चंडी प्रखंड के नरसंडा पंचायत के मुखिया राजबल्लभ सिंह की रविवार को कोरोना से मौत हो गई। राजबल्लभ सिंह उर्फ सेठ जी नरसंडा पंचायत के मुखिया के साथ चंडी प्रखंड के मुखिया संघ अध्यक्ष भी थी। वे 18 अप्रैल को कोरोना संक्रमित थे। उसके बाद उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था। शनिवार शाम को उनकी तबीयत अचानक खराब होती चली गयी। जिसके बाद रविवार की सुबह उनकी मौत हो गई

इसे भी पढ़िए-प्रधानमंत्री मोदी ने नालंदा के तीन जनप्रतिनिधियों को सम्मानित किया..जानिए किसे-किसे और क्यों?

मुखिया की पत्नी भी कोरोना संक्रमित
मृतक मुखिया राजबल्लभ सिंह उर्फ सेठ जी की पत्नी रिंकू देवी भी कोरोना पॉजिटिव हैं। पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद वे मायके चली गयी थीं। रिंकू देवी भी नरसंडा पंचायत की मुखिया रह चुकी हैं। मुखिया के निधन की खबर आते ही नरसंडा पंचायत में मातमी सन्नाटा छा गया। नरसंडा मोड़ समेत अन्य आसपास के बाजार और सभी दुकानें बंद हो गयीं।

सिलाव के रौशन कुमार की मौत
सिलाव के वार्ड नंबर छह के रहने वाले 28 साल रौशन कुमार की भी कोरोना से मौत हो गई। रौशन कुमार पिछले दो दिनों से पावापुरी के विम्स अस्पताल में भर्ती थे। जहां उनका इलाज चल रहा था। इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी।

शिक्षिका की मौत
सरमेरा प्रखंड के चेरो गांव की रहने वाली 50 साल की आभा कुमारी की कोरोना से मौत हो गई। उनका इलाज पावापुरी के विम्स अस्पताल में चल रहा था। वे पिछले तीन दिनों से विम्स में भर्ती थीं। वे नवादा जिला के रोह प्रखंड के एक स्कूल में शिक्षिका के पद पर कार्यरत थीं।

टीचर का निधन
कोरोना से नालंदा जिला में एक और टीचर का निधन हो गया। 30 साल के दिनेश कुमार गिरियक प्रखंड के रैतर गांव के रहने वाले थे। कोरोना संक्रमण होने के बाद वे होम आइसोलेशन में थे। 21 अप्रैल को कोरोना जांच में उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी। तब से वे होम आइसोलेशन में थे। दिनेश कुमार कतरीसराय के कमलबिगहा स्कूल में शिक्षक के पद पर कार्यरत थे।

रहुई के प्रधानाध्यापक की मौत
कोरोना की वजह से शनिवार को नूरसराय के नेसुरा गांव के रहने वाले रमेश कुमार की मौत हो गई। वे 50 साल के थे और उनका इलाज पटना में चल रहा था। रमेश कुमार रहुई के मध्य विद्यालय दोसुत में प्रधानाध्यापक के पद पर कार्यरत थे। कई दिनों से पति और पत्नी दोनों कोरोना पॉजिटिव थे।

कोरोना से प्रॉपर्टी डीलर की मौत
हरनौत के कल्याण बिगहा ओपी क्षेत्र के सागरपर गांव के रहने वाले 50 साल के उपेंद्र सिंह यादव की कोरोना से मौत हो गई। तबियत खराब होने के बाद उन्हें 20 अप्रैल को पटना के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां इलाज के दौरान शनिवार को उनकी मौत हो गई।वे पटना के जकनपुरा में रहते थे। वहीं प्रॉपर्टी डीलर का काम करते थे।

कतरीसराय के बुजुर्ग का निधन
कतरीसराय प्रखंड के कटौना में शनिवार को 70 साल के अखिलेश सिंह की कोरोना से मौत हो गई। वे पावापुरी के विम्स में भर्ती थे। परिजनों ने सुरक्षा किट पहनकर उनकर अंतिम संस्कार किया।

दीपनगर के चुन्नू ने तोड़ा दम
शनिवार को 35 साल के चुन्नू कुमार का निधन हो गया । वे दीपनगर के रहने वाले। तबीयत खराब होने के बाद कोरोना टेस्ट कराया गया । जिसमें रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। शनिवार की सुबह सांस लेने में तकलीफ होने के बााद विम्स ले जाया गया लेकिन एम्बुलेंस में ही उनकी मौत हो गई।

दूसरी लहर में 40 लोगों की मौत
कोरोना की दूसरी लहर में कोरोना से नालंदा जिला में अब तक 40 लोगों की मौत हो गई है । याद रखिए ये अधिकारिक आंकड़ा है। यानि कोरोना से बचने के लिए मास्क से दोस्ती कर लीजिए।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In कोरोना अपडेट

Leave a Reply

Check Also

नालंदा में इनकम टैक्स इंस्पेक्टर समेत 5 लोगों की कोरोना से मौत..

नालंदा जिला में कोरोना संकमण से मौत की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है। नालंदा में इनकम …