Home खास खबरें हथियार तस्करी में नालंदा का बड़ा नेता गिरफ्तार

हथियार तस्करी में नालंदा का बड़ा नेता गिरफ्तार

0

हथियार तस्करी के आरोप में नालंदा के एक बड़े नेता को कोलकाता एसटीएफ ने गिरफ्तार किया है। कोलकाता एसटीएफ ने नालंदा पुलिस के सहयोग से नेताजी को रामचंद्रपुर में उनके घर से पकड़ा है। गिरफ्तारी के बाद ट्रांजिट रिमांड पर कोलकाता पुलिस उन्हें अपने साथ कोलकाता ले गई है। उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी रालोसपा के बिहारशरीफ के नगर अध्यक्ष राजेश कुमार उर्फ मुन्ना महतो पर नक्सलियों को हथियार सप्लाई करने का आरोप है।


रायफल फैक्टरी से ही गायब किए जा रहे थे हथियार
पश्चिम बंगाल के इच्छानगर रायफल फैक्टरी से सुनियोजित तरीके से हथियारों की तस्करी की जा रही थी। पश्चिम बंगाल के 24 परगना जिला में स्थित इच्छानगर राइफल फैक्ट्री से जब कचरे की ढेर बाहर निकाले जाते थे तो फैक्ट्री में काम करने वाले उमेश राय उर्फ भोला राय के सहयोग से हथियारों को बाहर निकालता था। ये हथियार इनके सरगना बोस के पास पहुंचता था । जो कोलकाता में रहता है । पिछले रविवार को कोलकाता पुलिस ने बाबू घाट के पास हथियार की डिलीवरी लेते नालंदा के रहने वाले अजय पांडेय उर्फ गुड्डू पंडित, नवादा के रहने वाले जयशंकर पांडेय समेत छह लोगों को गिरफ्तार किया था। इनके पास से एक कार्बाइन, सात पिस्तौल और दस गोलियां बरामद की गयी थी। इन तस्करों के पास से मुन्ना के मोबाइल का नंबर मिला था । जिसके बाद पूछताछ में तस्करों ने मुन्ना के बारे में बताया था ।

बिचौलिये का काम करता था मुन्ना
पूछताछ में तस्करों ने कोलकाता एसटीएफ को बताया कि राजेश कुमार उर्फ मुन्ना महतो उनके लिए बिचौलिये का काम करता है। वो सप्लायर और नक्सलियों के बीच सौदा तय करवाता था। वो कोलकाता जाकर भी कई बार हथियार खरीद कर चुका है। पुलिस का कहना है कि अब मुन्ना महतो और नक्सलियों के बीच की कड़ी को खंगाला जाएगा ।

मुन्ना महतो के बचाव में उतरी पार्टी
रालोसपा के नालंदा जिला अध्यक्ष भरत प्रसाद सिंह अपने नेता मुन्ना महतो के बचाव में उतर आए हैं । उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी के नगर अध्यक्ष मुन्ना महतो को राजनीतिक साजिश के तहत फंसाया जा रहा है । क्योंकि इससे पहले उनपर कोई दाग नहीं रहा है ।

कई बड़े नाम भी आ सकते हैं सामने
हथियारों के इस गोरखधंधे में नालंदा जिला के कई और लोग शामिल हो सकते हैं क्योंकि कोलकाता पुलिस ने जिस अजय पांडेय को गिरफ्तार किया था वो भी नालंदा का रहने वाला है जबकि दूसरा जयशंकर पांडेय नवादा का रहने वाला है। आपको बता दें कि इससे पहले परबलपुर के रहने वाले अरविंद उर्फ लंगड़ा पटेल का नाम हथियार तस्करी के लिए चर्चित था। वो पीएलएफआई संगठन को हथियार सप्लाई करता था। हालांकि बाद में पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया था।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

बिहार में कई जिलों के सिविल सर्जन बदले गए.. जानिए किनका कहां हुआ तबादला

बिहार चुनाव से पहले अफसरों के तबादले का सिलसिला लगातार जारी है. बिहार में कई डॉक्टरों का त…