Home बिहार शरीफ नालंदा में बाढ़ में डूबने से 7 लोगों की मौत, 3 की तलाश जारी

नालंदा में बाढ़ में डूबने से 7 लोगों की मौत, 3 की तलाश जारी

0

नालंदा जिले में बाढ़ से मौत का सिलसिला जारी है। पिछले 24 घंटे में अलग-अलग थाना इलाके में सगे भाई समेत सात लोग डूब गए। जिनमें चार की लाश बरामद कर ली गई। जबकि महिला समेत दो लोगों की खोजबीन जारी है।

कहां-कहां हुआ हादसा
एकंगरसराय के अमनार गांव में मासूम सगे भाइयों की मौत हुई। वहीं, बिंद के में दो युवक की मौत डूबकर हुई। बिंद थाना क्षेत्र के विनीपुर खंधा में भी एक महिला की मौत डूब कर हो गई है। अंधेरा होने के कारण महिला की तलाश नहीं की जा सकी है। वहीं, दीपनगर के देवीसराय महिला समेत दो लोगों के पंचाने नदी में डूब जाने की खबर है। स्थानीय लोग दोनों की तलाश पंचाने नदी में कर रहे हैं।

दोनों भाइयों की डूबकर मौत
एकंगरसराय थाना क्षेत्र के अम्नार गांव में तालाब में डूब कर दो भाइयों की मौत हो गई। मृतक अकवाल मांझी का 6 साल के बेटे आकाश कुमार और उसका 4 साल का भाई विकास कुमार है। मौत के बाद परिवार में कोहराम मच गया।परिजनों की मानें तो दोनों बच्चे घर के बाहर खेल रहे थे। उसी दौरान तालाब के समीप चले गए। जहां पैर फिसलने से दोनों मासूम भाई तालब में डूब गए।

डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप
गांववालों के मुताबिक एक बच्चे की मौत तो तालाब में ही हो गई थी। लेकिन दूसरे की सांसें चल रही थीं। ग्रामीणों ने आनन-फानन में दोनों बच्चों को एकंगरसराय पीएचसी पहुंचाया जहां ड्यूटी पर कोई डॉक्टर नहीं था। करीब 45 मिनट तक इंतजार के बाद प्रभारी चिकित्सक डॉ. प्रमोद कुमार आए, तब तक अंतिम सांसें गिन रहे दूसरा बच्चा दम तोड़ चुका था। उसे तत्काल उपचार की जरूरत थी, परंतु डॉक्टर के नहीं रहने के कारण नर्स और दूसरे स्टाफ ने कोई प्राथमिक उपचार नहीं किया।

विधायक चंद्रसेन ने सीएस को सुनाई खरीखोटी
स्थानीय विधायक चंद्रसेन अस्पताल पहुंचे। जिन्हें ग्रामीणों ने बताया कि डॉक्टर की लापरवाही के कारण मौत हुई। समय रहते इलाज होता तो शायद जान बच सकती थी। इसके बाद विधायक ने फोन कर सिविल सर्जन समेत जिले के अन्य वरीय अधिकारियों को खरीखोटी सुनाते हुए फटकार लगाई। उधर,बीडीओ मनोज कुमार पंडित ने पारिवारिक लाभ योजना के तहत 20-20 हजार रुपए कुल 40 हजार रुपया परिवार को उपलब्ध कराया। आपदा के तहत मुआवजा का आश्वासन भी परिवार को मिला।

देवीसराय के पंचाने नदी में महिला समेत दो डूबे, खोजबीन जारी
दीपनगर थाना क्षेत्र के देवीसराय के पंचाने नदी में महिला समेत दो लोगों के डूबने की चर्चा है। ग्रामीण दोनों की खोजबीन में जुटे हैं। ग्रामीणों की मानें तो रामपति देवी और युवक कृष्ण यादव नदी की तेज धार में बह गए। युवक नदी के समीप मंदिर की साफ सफाई कर नदी में नहा रहा था। उसी दौरान तेज धार में बह गया। ग्रामीणों ने स्थानीय गोताखारों की मदद से घंटों दोनों की खोजबीन की, मगर उनका पता नहीं चल सका। वार्ड पार्षद संतोष कुमार उर्फ गलमणि ने बताया कि प्रशासन के पास से गोताखोर की भी व्यवस्था नहीं है। सीओ ने उनसे कहा कि अपने स्तर से डूबे लोगों की खोजबीन करें। सीओ अरुण कुमार सिंह ने बताया महिला समेत दो के डूबने की सूचना के बाद उनकी खोजबीन कराई जा रही है।

दो शवों की पहचान हुई
बिंद थाना क्षेत्र में पानी भरे गड्‌ढ़े में डूब कर अज्ञात महिला समेत तीन लोगों की मौत हो गई। दो मृतकों की पहचान दीपनगर थाना क्षेत्र के असमिया गांव के रहने वाले 20 साल के राहुल कुमार और बिंद थाना क्षेत्र के दरियापुर गांव के रहने वाले 45 साल के परण मांझी के रूप में की गई।

अंधेरा होने की वजह से तलाशी रोकी गई
विनीपुर खंधा में बाढ़ के पानी में महिला की लाश फंसी है। अंधेरा होने के कारण शव को नहीं निकाला जा सका है। राहुल बोरिंग मिस्त्री था। इलाके में आई बाढ़ में उसका एक कर्मी फंस गया था। जिसकी खोजबीन में युवक बिंद आया। खोजबीन के दौरान ही युवक की पानी भरे गड्‌ढ़े में डूबकर मौत हो गई। इसी तरह परण मांझी अपनी पत्नी के साथ बाढ़ में फंस गए थे। खुद को बचाने के चक्कर में वह भी पानी भरे गड्‌ढ़े में गिर कर डूब गए, जिससे उनकी मौत हो गई।

सांसद ने लिया हालात जायजा
घटना की सूचना के बाद सांसद कौशलेंद्र कुमार वोट से मौके पर पहुंचे। सांसद ने अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए बताया कि मौतें डूबकर हुई है। प्रावधान के तहत आश्रितों को सहायता उपलब्ध कराई जाएगी।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In बिहार शरीफ

Leave a Reply

Check Also

चुनाव प्रचार के दौरान उम्मीदवार को गोलियों से भून डाला.. जानिए पूरा मामला

बिहार विधानसभा चुनाव में खून खराबे का दौर शुरू हो गया है. चुनाव प्रचार के दौरान बदमाशों ने…