Home खास खबरें नालंदा के तीसरे बेटे ने जीती जंग, कोरोना को हराकर घर लौटा, NMCH में था भर्ती

नालंदा के तीसरे बेटे ने जीती जंग, कोरोना को हराकर घर लौटा, NMCH में था भर्ती

0

कोरोना से संक्रमित (Corona infected) बिहारशरीफ के बेटे ने आखिरकार जिंदगी की जंग जीत ली. वे पिछले 9 दिनों से एनएमसीएच (NMCH) में भर्ती थे.

14 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन
उनकी तीसरी रिपोर्ट निगेटिव आते ही उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई. फिर एबेंलुस के जरिए पटना से बिहारशरीफ लाया गया. जहां उन्हें 14 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन कर दिया गया

इसे भी पढ़िए-बिहारशरीफ में कोरोना के 3 और मरीज मिले.. जानिए पूरा डिटेल्स

लोगों से की अपील
कोरोना से जिंदगी की जंग जीतने के उन्होंने एनएमसीएच के डॉक्टरों के प्रति आभार प्रकट किया. साथ ही लोगों से इस बीमारी का डटकर मुकाबला किए जाने की अपील की है. उन्होंने कोरोना मरीजों से डॉक्टरों की हर सलाह मानने की अपील की. साथ ही कहा कि बीमारी को लेकर विशेष एहतियात बरतना जरूरी है

इसे भी पढ़िए-बिहार में कोरोना संकट: मेडिकल कॉलेज के स्टाफ समेत 17 नए मरीज मिले

13 मार्च को रिपोर्ट पॉजिटिव आया था
एनएमसीएच के डॉक्टरों के मुताबिक 13 मार्च को कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद 14 मार्च को एनएमसीएच में भर्ती कराया गया था. 5 दिनों के इलाज के बाद दूसरी जांच कराई गई तो रिपोर्ट निगेटिव पाई गई. 48 घंटे के बाद फिर उसकी तीसरी जांच कराई गई तो उसमें भी रिपोर्ट निगेटिव पाई गई.

इसे भी पढ़िए-कोरोना संकट के बीच संविदा कर्मियों के लिए राहत की खबर

नालंदा में अब तक 3 मरीज ठीक हुए
आपको बता दें कि नालंदा जिला में अब तक तीन मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं. जिसमें एक नगरनौसा का, दूसरा सब्बैत और तीसरा बिहारशरीफ का है

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

नागिन का बदला पूरा.. नालंदा में सांप डंसने से सपेरे की मौत !

सांप देखना और पकड़ना रोमांचकारी तो होता है. लेकिन ये मौत के साथ खेलने के समान होता है.. कभ…