Home खास खबरें नालंदा पुलिस ने फिल्मी स्टाइल में अपहरणकर्ताओं को पकड़ा और बच्चे को छुड़ाया

नालंदा पुलिस ने फिल्मी स्टाइल में अपहरणकर्ताओं को पकड़ा और बच्चे को छुड़ाया

0

नालंदा पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए 9 साल के मासूम को अपहरणकर्ताओं के चंगुल से सकुशल छुड़ा लिया है. साथ ही दौड़ाकर तीन अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार किया है. ये पूरा वाकया फिल्मी स्टाइल में हुआ और किडनैपिंग के पीछे साजिश भी खतरनाक है

क्या है पूरा मामला
सरमेरा बाजार में ही पवन का घर का है और थाने के पास उसकी दुकान है. पवन के घर उसके साढ़ू का 9 साल का बेटा अभिषेक रहकर पढ़ाई करता है. मंगलवार की शाम करीब 6 बजे पवन के घर पिकअप वैन से तीन लोग आ धमके. तीनों ने खुद को खाली कॉर्टन का व्यापारी बताया. कहा कि खाली कार्टन खरीदना है. इसपर अभिषेक ने कहा कि मौसा जी दुकान पर हैं और खाली कार्टन वहीं मिलेगा. जिसके बाद बदमाशों ने कहा कि मेरे साथ गाड़ी में बैठो और चलकर दुकान दिखा दो. बदमाशों की बात में मासूम अभिषेक आ गया

इसे भी पढ़िए-नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी, फिल्मी स्टाइल में जालसाज गिरफ्तार

बहन ने पिता को किया फोन
बदमाशों ने 9 साल के अभिषेक को पिकअप वैन में बैठाकर चल दिया. छत पर खड़ी अभिषेक की मौसेरी बहन सब सुन रही थी. अभिषेक की बहन ने देखा कि गाड़ी दुकान की तरफ नहीं बल्कि मोकामा की ओर मोड़ दिया तो उसने तुरंत अपने पिता पवन को फोन कर और सारी बातें बताई

इसे भी पढ़िए-फिल्मी स्टाइल में पकड़े गए बदमाश, गर्लफ्रेंड के लिए बना लुटेरा

दौड़कर थाने पहुंचा पवन
पवन की दुकान सरमेरा थाने के पास है. ऐसे में पवन दौड़कर सरमेरा थाना पहुंचा और बच्चे के अपहरण की बात बताई. थानाध्यक्ष राकेश कुमार ने बिना समय गंवाए तुरंत पुलिस जीप निकाला और मोकामा की ओर अपहरणकर्ताओं के पीछे लगा दी.

पिकअप वैन को ओवर टेक कर पकड़ा
पुलिस की जीप फर्राटा भरते हुए सड़क पर भाग रही थी. पुलिस की गाड़ी को सरपट भागता देख लोगों को लगा कि कुछ बात जरूर है. घोसवरी से पहले शहरी गांव के पास पुलिस को अपहरणकर्ताओं की पिकअप वैन दिख गई। पुलिस ने जीप से वैन को ओवरटेक किया और ड्राइवर को रुकने को विवश कर दिया। वैन रुकते ही अपहरणकर्ता गाड़ी से उतरकर भागने लगे तो पुलिस ने खदेड़कर ड्राइवर समेत तीनों को पकड़ लिया और 9 साल के अभिषेक को सकुशल बरामद कर लिया ।

तीनों अपहरण कर्ताओं की पहचान हुई
सरमेरा थाना के थानाध्यक्ष राकेश कुमार के मुताबिक पकड़े गए तीनों अपहरण कर्ताओं में ड्राइवर मुन्ना नूरसराय का रहनेवाला है। जबकि बाकी दोनों में से एक जितेंद्र साह बिहारशरीफ का और अनिल सिंह वेन प्रखंड का रहने वाला है.

किडनैपिंग के पीछे पारिवारिक रंजिश
पुलिस ने आशंका जताई है कि अपहरण के पीछे पारिवारिक विवाद हो सकता है . अभिषेक मूलत: शेखपुरा जिले के जीयनबीघा गांव का निवासी है। उसके पिता महावीर महतो ने दो शादियां की थीं। दूसरी पत्नी मंजू देवी का इकलौता पुत्र है अभिषेक। अभिषेक की दो बहनें मां के साथ जीयन बीघा में रहता है. जबकि अभिषेक अपनी मौसे के घर सरमेरा में रहता है. महावीर महतो की पहली पत्नी रमनी देवी थी। रमनी की मौत के बाद उसने मंजू से दूसरी शादी की थी। पहली पत्नी से एकमात्र बेटी शांति देवी है। जिनकी शादी बिहारशरीफ में हुई है। पुलिस को इसी पारिवारिक पृष्ठभूमि में दुश्मनी और सम्पत्ति के झगड़े की बू आ रही है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने लोजपा ( LJP) को दिया बड़ा झटका..

बिहार में विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) का बिगुल बज चुका है. लेकिन सीट बंटवारे …