Home बिहार शरीफ स्मार्ट बिहारशरीफ में लगेंगे बिजली के स्मार्ट मीटर.. क्या है खासियत जानिए

स्मार्ट बिहारशरीफ में लगेंगे बिजली के स्मार्ट मीटर.. क्या है खासियत जानिए

0
smart-meter-biharsharif

बिहारशरीफ स्मार्टसिटी बनने वाला है। ऐसे में अब बिहारशरीफ में बिजली के मीटर भी स्मार्ट होंगे। बिजली विभाग पुराने मीटरों को बदलकर शहर में स्मार्ट मीटर लगाने का ऐलान किया है। इसके लिए तैयारियां अंतिम चरण में है।
ईईएसएल लगाएगा स्मार्ट मीटर
बिजली विभाग ने मीटर लगाने की जिम्मेदारी इनर्जी इफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (EESL) को सौंपा है । ईईएसएल बिहारशरीफ में प्रीपेड और पोस्टपेड मीटर लगाएगी। शहरी इलाकों से सटे ग्रामीण इलाकों में भी उपभोक्ताओं को स्मार्ट मीटर दिया जाएगा। कंपनी ने दावा किया है कि स्मार्ट मीटर से बिजली कंपनी का मुनाफा बढ़ेगा तो लोगों को भी सहूलियत होगी। खासकर वैसे उपभोक्ता जो मीटर को वहां रखते हैं, जहां उसकी रीडिंग करने में परेशानी होती है।
स्मार्ट मीटर की क्या है खासियत
स्मार्ट मीटर के लग जाने से मीटर रीडिंग की जरूरत नहीं होगी। क्योंकि सारी जानकारी आपके मोबाइल फोन पर आती रहेगी। स्मार्ट मीटर में एक मॉडम लगा होगा, जिससे बिजली कंपनी और उपभोक्ताओं को बिजली खपत की पूरी जानकारी मिलेगी। स्मार्ट मीटर उपभोक्ताओं के मोबाइल से भी जुड़ जाएगा। मोबाइल ऐप के जरिए सभी जानकारी मिलती रहेगी। बिजली बिल का भुगतान भी उसी मोबाइल एप से किया जा सकेगा। इस मीटर के लग जाने से बिजली कंपनियों को समय पर बिल मिल जाएगा जिससे राजस्व संग्रह में तेजी आएगी।

इसे भी पढ़िए-बिहारशरीफ को तोहफों की बारिश.. ऑडिटोरियम,ओपन जिम,ओपन थिएटर और बहुत कुछ

एडवांस देने वाले को मिलेगा ब्याज
बिजली कंपनी के मुताबिक अगर कोई उपभोक्ता दो हजार से अधिक एडवांस राशि जमा करेंगे तो उन्हें छह फीसदी वार्षिक ब्याज भी दिया जाएगा। लेकिन ये सुविधा सिर्फ प्री-पेड मीटर वाले उपभोक्ताओं को ही मिलेगी। अगर कोई कम बिजली खपत करते हैं तो वे मोबाइल की तरह ही प्रीपेड बिजली मीटर को कम पैसे से भी रिचार्ज करा सकते हैं। इससे बिजली बिल में होने वाली गड़बड़ियों को दूर किया जा सकता है।

इसे भी पढ़िए-बिहारशरीफ को स्मार्ट बनाने के लिए कहां-कहां बनेंगे फ्लाईओवर और नई सड़कें.. जानिए

साउथ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड के प्रबंध निदेशक आर लक्ष्मणन के मुताबिक स्मार्ट मीटर में किसी तरह का छेड़छाड़ नहीं हो सकता। मीटर की टेस्टिंग केंद्रीय संस्थान की ओर से होगी। इससे बिजली चोरी रुकेगी और चोरी की सूचना मोबाइल ऐप पर मिलती रहेगी

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In बिहार शरीफ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

नालंदा में 3 और स्वास्थ्यकर्मी कोरोना पॉजिटिव, दवा दुकानदार की मौत से हड़ंकप

नालंदा जिला में कोरोना मरीजों की तादाद लगातार बढ़ती जा रही है। जिले में कोरोना के तीन नए म…