Home खास खबरें बिहारशरीफ की ‘बिहार टॉपर’ बेटी रोहिणी प्रकाश और उनकी सफलता का राज़ जानिए

बिहारशरीफ की ‘बिहार टॉपर’ बेटी रोहिणी प्रकाश और उनकी सफलता का राज़ जानिए

0

बिहारशरीफ की बेटी इंटरमीडिएट एग्जाम में बिहार टॉपर बनी है। रोहिणी प्रकाश ने इंटरमीडिएट एग्जाम में पूरे सूबे में पहला स्थान हासिल किया है। रोहिणी प्रकाश साइंस स्ट्रीम की टॉपर हैं। रोहिणी प्रकाश ने नालंदा लाइव को बताया कि वो अपने पापा की तरह इंजीनियर बनना चाहती हैं और इस ओर अपना कदम भी बढ़ा चुकी हैं । रोहिणी प्रकाश ने जेईई पीटी पास कर चुकी है और नौ अप्रैल को होने वाली मेन परीक्षा देंगी।

कागजी मोहल्ला की रहने वाली हैं रोहिणी प्रकाश
रोहिणी प्रकाश बिहारशरीफ के कागजी मोहल्ला की रहनेवाली हैं। रोहिणी ने शुरुआती पढ़ाई कागजी मोहल्ला के बिहार पब्लिक स्कूल से की। उसके बाद रोहिणी का चयन सिमुलतला विद्यालय के लिए हुआ। जिसके बाद 10वीं तक की पढ़ाई सिमुलतला से की। मैट्रिक की परीक्षा में रोहिणी ने बिहार में टॉप टेन में अपनी जगह बनाई थी। इसके बाद रोहिणी ने 12वीं की पढ़ाई के साथ साथ इंजीनियरिंग में दाखिले के लिए आईआईटी की तैयारी भी शुरू कर दी।

इसे भी पढ़िए-इंटर रिजल्ट- साइंस में आंगनबाड़ी सेविका का बेटा बना बिहार टॉपर

सरबहदी 10+2 स्कूल से की 12वीं
सिमुलतला विद्यालय से मैट्रिक करने के बाद उसने नालंदा जिले के अस्थावां प्रखंड के सरबहदी स्थित प्लस टू विद्यालय में दाखिला लिया। वहीं से उसने इंटर की परीक्षा दी थी। उसका लक्ष्य आइआइटी मुख्य परीक्षा क्रैक कर इंजीनियर बनना है।

रोजाना 5-6 घंटे सेल्फ स्टडी
रोहिणी प्रकाश अपनी सफलता का श्रेय घरवालों के साथ साथ शिक्षकों को भी देती है। रोहिणी का कहना है कि सफलता पाने के लिए Hard work के साथ smart work जरुरी है। वो कहती है कि वो रोजाना 5-6 घंटे सेल्फ स्टडी करती है। साथ ही कहा कि एनसीआरटी की किताबों से पढ़नी चाहिए।

बैडमिंटन खेलना और गाना सुनना है हॉबी
रोहिणी प्रकाश को पढ़ाई के अलावा बैडमिंटन खेलना और गाना सुनना खासा पसंद है। रोहिणी कहती है कि जब भी मौका मिलता है वो गाना जरूर सुनती हैं। उनका कहना है कि इससे उनका माइंड फ्रेश हो जाता है।

रोहिणी के पापा जूनियर इंजीनियर हैं
रोहिणी प्रकाश के पापा पीडब्लूडी में जूनियर इंजीनियर हैं और अभी उनकी पोस्टिंग मोतिहारी में है। वे मूल रूप से बख्तियारपुर के लक्ष्मणपुर गांव की रहने वाले हैं। रोहिणी के पापा ने पटना के रामकृष्णा नगर में अपना घर बना लिया है। रोहिणी का बड़ा भाई वेल्लोर से इंजीनियरिंग कर रहा है । रोहिणी की इस कामयाबी से पिता महेश प्रसाद, माता प्रगति देवी, दादी मानो देवी, चाचा वीरेश कुमार उर्फ मुन्ना सहित अन्य परिजन खुशी से फूले नहीं समा रहे।

साइंस टॉपर रोहिणी ने 473 अंक (94.6 परसेंट ) लाकर जिले की बेटियों में आगे बढऩे और सफल होने की ललक जगा दी है। रोहिणी प्रकाश अपने पिता की तरह इंजीनियर बनना चाहती है। नालंदा लाइव भी उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना करता है ।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

बिहार को मिला सबसे लंबा एलिवेटेड रोड.. कहां से कहां जाने वालों को होगा फायदा

बिहार वासियों को सबसे लंबा एलिटवेटेड रोड का तोहफा मिला है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इसका…