पटना में छात्रों का प्रदर्शन, पुलिस ने किया बल प्रयोग

0

राजधानी पटना में प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर पुलिस ने बल प्रयोग किया और उन्हें खदेड़ दिया. साथ ही तीन छात्रों को हिरासत में ले लिया है. दरअसल, राष्ट्रीय छात्र एकता संघ द्वारा 11 सूत्री मांग को लेकर गुरुवार को महाआंदोलन की शुरुआत की गयी थी. लेकिन पटना साइंस कॉलेज से शुरू हुए इस मार्च को प्रशासन ने गांधी मैदान स्थित जेपी गोलंबर पर बैरिकेडिंग कर रोक दिया.

क्यों कर रहे हैं विरोध प्रदर्शन?
आंदोलनकारी छात्रों की मांग थी कि बिहार दारोगा बहाली के पीटी और मुख्य एग्जाम में जो धांधली हुई है, उसकी सीबीआई जांच करवाई जाए. वहीं, सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में पारदर्शिता लाने के लिए ओएमआर शीट की कार्बन कॉपी अभ्यर्थियों को उपलब्ध करवाई जाए. छात्रों का विरोध प्रदर्शन इस बात के लिए भी था कि यूनिवर्सिटीज में ग्रेजुएशन की पढ़ाई पांच साल में पूरी होती है. जबकि समय अनुसार ये तीन वर्षों में पूरा हो जाना चाहिए.

इसे भी पढ़िए-नालंदा में आपत्तिजनक अवस्था में दिखने पर प्रेमी-प्रेमिका की हत्या.. डबल मर्डर से सनसनी

अपनी मांग रखना चाहते थे
प्रशासन की रोक के बावजूद छात्र अपनी मांगों को लेकर डंटे रहे. छात्रों को पीछे नहीं हटते देख प्रशासन ने सख्ती दिखाई और बल प्रयोग करते हए सबको वहां से खदेड़ दिया. वहीं, विरोध प्रदर्शन में शामिल तीन छात्रों को पुलिस ने हिरासत में लिया है. गिरफ्तारी के वक्त छात्र नेता दिलीप ने कहा कि हम लोकत्रांतिक तरीके से सरकार के सामने अपनी बात रखना चाहते हैं.

इसे भी पढ़िए-बिहार में सबसे अमीर और सबसे गरीब मंत्री कौन हैं.. किस पर कौन सा मुकदमा दर्ज है

छात्र नेता ने पूछा ये सवाल
उन्होंने कहा कि पुलिस हमें अरेस्ट कर रही है. हम इसके लिए तैयार हैं. लेकिन क्या अब इस देश में लोकतंत्र नहीं बची है? क्या हमें प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं है? उन्होंने प्रशासन से कहा कि हमें अरेस्ट कर लीजिए. लेकिन हमारी मांगों को पूरा कर दीजिए. छात्रों के साथ न्याय होना चाहिए.

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

नालंदा का स्कूल संचालक निकला दरिंदा.. स्कूल में युवक को जिंदा जलाकर मार डाला

नालंदा जिला में एक खौफनाक वारदात सामने आई है । जहां स्कूल संचालक ने एक युवक को जिंदा जलाकर…