Home खास खबरें नालंदा में JDU का टेंशन बढ़ा: सीएम नीतीश की अपील भी नहीं कर रहा है काम.. कैसे जानिए

नालंदा में JDU का टेंशन बढ़ा: सीएम नीतीश की अपील भी नहीं कर रहा है काम.. कैसे जानिए

0

नालंदा लोकसभा सीट पर चुनाव से पहले जदयू की चिंता बढ़ रही है. यहां 19 मई को मतदान है. लेकिन वोटरों का गुस्सा शांत होने का नाम नहीं ले रहा है. कौशलेंद्र कुमार को हैट्रिक लगाने के लिए जदयू ने पूरी ताकत झोंक दी है. लेकिन वोटरों की नाराजगी खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है. हालत ये है कि मुख्यमंत्री की अपील भी अभी तक कारगर साबित नहीं हो रहा है.

इसे भी पढ़िए-नालंदा लोकसभा सीट का जातीय समीकरण समझिए.. किस जाति के कितने वोट हैं

जब मुख्यमंत्री की अपील हो गई बेअसर
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कौशेलेन्द्र कुमार को वोट देने के लिए मतदाताओं से भावनात्मक अपील की। कहा, इनको तीसरी बार मौका दिया। इनकी चिंता छोड़िए। इनको जिताईये। इनका बचा-खुचा काम हम कर देंगे। सीएम ने अपने संबोधन के अंत में उपस्थित जन समूह से कई बार पूछा कि कौशेलेन्द्र को जीत का माला पहना दें। भीड़ ने इस पर उतना उत्साह नहीं दिखाया। फिर माला पहना दी गई।

इसे भी पढ़िए-कौशलेंद्र कुमार की संपत्ति कितनी बढ़ी, कितना है कैश, कितनी है जमीन.. जानिए

खाली रह गया मैदान
हरनौत मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का अपना इलाका है. इसी विधानसभा सीट वो विधायक भी रह चुके हैं. कौशलेंद्र कुमार को लेकर हरनौत वासियों में खासा गुस्सा है. नालंदा में मुख्यमंत्री ने अपने चुनाव प्रचार की शुरुआत भी हरनौत से ही की. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सभा में आशा के अनुरुप भीड़ नहीं थी. 70 फीसदी मैदान खाली था. ये नीतीश कुमार की पार्टी के लिए चिंता का विषय है. हालांकि स्थानीय नेता इसे गर्मी की वजह मान रहे हैं .

इसे भी पढ़िए-सच का सामना होने पर भड़के जदयू के RCP सिंह; देखिए पूरा VIDEO

भीड़ से उठी आवाज- मुश्किल है राह
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सभा में भाषण के दौरान भीड़ में से काफी लोगों की एक आवाज आती रही कि इस बार राह आसान नहीं है. मुख्यमंत्री भी कई बार अति पिछड़ी जातियों के बीच में एकजुटता को लेकर जनता को सचेत कर रहे. लेकिन भीड़ में हर बार एक ही आवाज उठती थी कि इस बार मुश्किल बड़ी है.

इसे भी पढ़िए-नालंदा लोकसभा सीट पर नीतीश कुमार ने कौशलेंद्र पर क्यों लगाया दांव.. जानिए

अतिपिछड़ों की गोलबंदी
शनिवार को हरनौत में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सभा में नेताओं का संबोधन अति पिछड़ी जातियों की गोलबंदी के इर्द-गिर्द घूमता रहा। मंच से जद यू नेताओं का बार -बार ये कहा जाना कि राजद समर्थित गठबंधन से अतिपिछड़ी जाति के उम्मीदवार उतारने का यह मतलब नहीं कि वे अतिपिछड़ों की भलाई करेंगे। इसलिए सावधान रहना है। विधान पार्षद हीरा प्रसाद बिंद तथा राज्यसभा सांसद रामनाथ ठाकुर ने भी अपने संबोधन में अतिपिछड़ों को जद यू की ओर बनाए रखने का प्रयास किया। जिससे साफ है कि नीतीश कुमार और जदयू चिंतित है

इसे भी पढ़िए-बिहारशरीफ में RCP सिंह की सभा में कौशलेंद्र कुमार का विरोध.. देखिए Video

जदयू में भीतरघात का डर
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के डर से भले ही जदयू के नेता एक दिखने की कोशिश कर रहे हैं. लेकिन हमारे सूत्र ये बता रहे हैं कि जदयू के अंतर भीतरघात का भी डर सता रहा है. कौशलेंद्र कुमार को टिकट दिए जाने से हरनौत, हिलसा और अस्थावां विधानसभा क्षेत्र में कई नेता भीतरघात करा सकते हैं

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने लोजपा ( LJP) को दिया बड़ा झटका..

बिहार में विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) का बिगुल बज चुका है. लेकिन सीट बंटवारे …