Home खास खबरें बिहार में 25 लाख में DSP बनिए, BPSC के मेंबर और BJP विधायक ने इंटरव्यू के लिए लगाई बोली !

बिहार में 25 लाख में DSP बनिए, BPSC के मेंबर और BJP विधायक ने इंटरव्यू के लिए लगाई बोली !

0

बिहार में 30 लाख देकर आप डीएसपी बन सकते हैं । ये हम नहीं कह रहे हैं। बल्कि बिहार के सत्ताधारी पार्टी BJP के एक MLC ने इसके लिए बोली लगाई है । इसका खुलासा तब हुआ जब बीजेपी एमएलसी का एक ऑडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। जिसमे वो BPSC में इंटरव्यू में पास कराने के लिए 30 लाख की घूस मांग रहा है ।

क्या है पूरा मामला
बिहार लोक सेवा आयोग यानि बीपीएससी (BPSC) में भ्रष्टाचार का मामला उजागर हुआ है. भ्रष्टाचार के ये आरोप बीजेपी के एमएलसी (BJP MLC) और आयोग के सदस्य पर लगे हैं. आयोग के सदस्य और एमएलसी रामकिशोर सिंह पर बीपीएससी की 56वीं से 58वीं संयुक्त प्रवेश परीक्षा (BPSC Mains Exam) में उम्मीदवार को इंटरव्यू में पास कराने के लिए 30 लाख रुपये मांगे जाने का आरोप लगा है.

डीएसपी और एडीएम बनाने की खोल रखी थी फैक्ट्री
आरोप है कि बीजेपी के एमएलसी डॉक्टर रामकिशोर सिंह ने बिहार के पुलिस प्रशासन पर पुरी हुकूमत कायम करने के लिए डीएसपी और डिप्टी कलेक्टर बनाने की फैक्ट्री खोली थी. एमएलसी का खास परमेश्वर राय दलाल के रूप में बाहरी सेटिंग्स करता था, लेकिन इस पूरे मामले की भनक निगरानी विभाग को लग गई. इसके बाद निगरानी विभाग ने ऐसा जाल बिछाया कि बिहार लोक सेवा आयोग के सदस्य सह बीजेपी एमएलसी डा रामकिशोर सिंह और दलाल परमेश्वर राय पूरे सबूत के साथ पकड़ में आ गये.

वॉयस सैंपल मैच करने पर बढ़ी मुश्किलें
एक गुप्तचर ने दलाल और कैंडिडेट के साथ बीजेपी एमएलसी के बीच हुई पूरी बातचीत को रिकार्ड कर लिया है. रिकॉडिंग की सत्याता की जांच करने का जिम्मा निगरानी अनवेषण ब्यूरो को सौंपा गया. निगरानी की टीम ने सरकार के आदेश पर इस प्राप्त वॉयस रिकॉडिंग को जांच के लिये चंडीगढ़ स्थित एफएसएल लैब भेजा गया. जांच में यह बात प्रमाणित हो गया कि इस बातचीत में एक तरफ की आवाज बीपीएससी के सदस्य राम किशोर सिंह की ही है. जांच रिपोर्ट के आधार पर निगरानी आगे की कार्रवाई करती इससे पहले इसकी भनक आरोपी राम किशोर सिंह को लग गई और वो अपने पद से इस्तीफा दे दिये.

एफआईआर दर्ज
इधर अब निगरानी ने आरोपी बीजेपी एमएलसी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा 13 (1-डी), 7, 8, आइपीसी की धारा- 120 (बी) समेत अन्य धाराओं में एफआईआर (FIR) दर्ज किया है और आगे की कानूनी कारवाई करने में जुट चुकी है. खास बात यह है कि जिस वक्त ये पूरा खेल राम किशोर सिंह और उनका एजेंट परमेश्वर राय खेल रहा था तब बीपीएससी के सैकड़ो अभ्यर्थी आये दिन बीपीएससी कार्यालय के बाहर हंगामा करते नजर आते थे. दिनांक 10 मई 2018 को उक्त रिकार्डिंग में डॉक्टर रामकिशोर सिंह दलाल परमेश्वर राय और गुप्तचर में क्या-क्या बातें हुई

गिरफ्तारी तय
सबसे बड़ी और अहम बात यह है कि इस भ्रष्टाचार प्रकरण में रिकार्ड किये गये तथ्यों की प्रामाणिकता मिल गई है. निगरानी टीम जल्द ही ड़ॉ राम किशोर सिंह और दलाल परमेश्वर राय को गिरफ्तार करेगी और इसके बाद की पूछताछ में और खुलासा होगा की बीपीएससी के कोई और लोग तो शामिल नहीं हैं.

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

राजधानी पटना में डेंगू का कहर, BJP विधायक को भी हुआ डेंगू

राजधानी पटना (Patna) में डेंगू (Dengue) का कहर लगातार जारी है. पटना की बात करें तो अकेले अ…