Home खास खबरें बाहुबली अनंत सिंह मामले में सनसनीखेज खुलासा… खासम खास ने पुलिस को बता दिया राज

बाहुबली अनंत सिंह मामले में सनसनीखेज खुलासा… खासम खास ने पुलिस को बता दिया राज

0

मोकामा के बाहुबली विधायक अनंत सिंह की मुश्किलें बढ़ने वाली है । क्योंकि अनंत सिंह के खासमखास ने ही उनकी पोल खोल दी है और पुलिस को सारे राज बता दिए हैं

दो करोड़ को लेकर है दुश्मनी
मोकामा विधायक (Mokama MLA) अनंत सिंह( Anant Singh) और पंडारक के भोला सिंह( Bhola Singh) के बीच खूनी अदावत दो करोड़ रुपये के लेनदन को लेकर चल रही है। इस बात का खुलासा अनंत सिंह के खास कर्मवीर यादव (karmveer Yadav)उर्फ लल्लू मुखिया ने किया है । लल्लू मुखिया (Lallu Mukhiya)पुलिसिया पूछताछ में माना है कि वो 20 सालों से विधायक के साथ काम कर रहा है। 2004 में दोनों ने मिलकर बाढ़ एनटीपीसी (Barh NTPC)में ठेकेदारी शुरू की थी। 2008 में दो करोड़ रुपये को लेकर अनंत सिंह और भोला सिंह के बीच में दुश्मनी शुरू हुई है।

अनंत सिंह ने दी थी सुपारी
विधायक के बेहद करीबी लल्लू मुखिया ने कबूल कर लिया है कि विधायक ने ही भोला सिंह और उसके भाई मुकेश की हत्या की सुपारी दी थी और उन्हीं दोनों की हत्या के लिए एके 47 मंगाई गई थी।

हत्या के लिए मंगाई गई थी AK-47
लल्लू मुखिया ने अपने कबूलनामे में लिखा है कि एके 47 का इस्तेमाल दोनों की हत्या के लिए होना था। लेकिन प्लान फेल कर गया। इसके अलावा लल्लू ने लिखित स्वीकार किया है कि भोला और उसके भाई की हत्या के लिए अनंत सिंह के पटना स्थित आवास से ही तीन बदमाशों को हथियार देकर पंडारक भेजा गया था। काम हो जाने के बाद उसे वहां से सकुशल भागने में मदद करने की जिम्मेदारी उनकी और उनके लोगों पर थी।

लल्लू मुखिया-अनंत सिंह से एक साथ की गई थी पूछताछ
पुलिस ने विधायक और लल्लू को एक साथ आमने-सामने बैठाकर भी पूछताछ की थी। कुछ ऑडियो और वीडियो भी सुनाये और दिखाये थे। वहीं इस संबंध में मोकामा विधायक अनंत सिंह के प्रतिनिधि बंटू सिंह ने कहा कि रिमांड के बाद जब पुलिस कोर्ट में अनंत सिंह और लल्लू मुखिया को पेशी के लिए ले गई थी तो दोनों ने जज के सामने कहा कि पुलिस ने सादे कागज पर उनके हस्ताक्षर ले लिए हैं।

अनंत सिंह के बोले गए 24 शब्द कर गए मैच
एक अगस्त को एफएसएल कार्यालय में पुलिस अधिकारियों द्वारा कुछ शब्द बोलने के लिए अनंत सिंह को दिये गये थे। जिसमें उन्हें एके 47, एके 56, बुतरू, मोबाइल, कुल, गोली, बैरल, सिस्टम आदि शब्दों को बोलना था।एक तरह से जो ऑडियो में था, उसे ही अनंत सिंह को बोलना था। जानकारी के अनुसार, अनंत सिंह ने जैसे ही सैंतालीसवा, छप्पनवा, बुतरूआ, मोबाइलवा, कुलके, गोलिया, बैरलवा, सिस्टम्वा आदि बोला वैसे ही वॉयस जांच मशीन की बत्ती जल गयी थी। कई शब्दों पर बत्ती जल गयी थी और जानकारों ने उस समय ही इस बात की पुष्टि कर दी थी कि ऑडियो की आवाज अनंत सिंह की है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

चुनाव प्रचार के दौरान उम्मीदवार को गोलियों से भून डाला.. जानिए पूरा मामला

बिहार विधानसभा चुनाव में खून खराबे का दौर शुरू हो गया है. चुनाव प्रचार के दौरान बदमाशों ने…