Home काम की बात नालंदा के किसानों को मिलेगा डीजल अनुदान.. कितना और कब मिलेगा जानिए

नालंदा के किसानों को मिलेगा डीजल अनुदान.. कितना और कब मिलेगा जानिए

0
Bihar Agriculture News,apply for diesel grant,डीजल अनुदान,नालंदा में किसान,कैसे करें आवेदन,ऑनलाइन आवेदन कैसे करें,डीजल अनुदान,कितना मिलेगा डीजल अनुदान,एक एकड़ में कितना अनुदान,नालंदा के डीएम,नालंदा के जिला कृषि पदाधिकारी,नालंदा समाचार,बिहार समाचार,किसानों की खबर,हिंद किसान,nalanda news,bihar news,agriculture news,farmer,dao,diesel anudan,kitna milta hai diesel anudan,apply for diesel anudan

बारिश की बेरुखी झेल रहे नालंदा के किसानों के लिए राहत की खबर है . बिहार सरकार ने नालंदा के किसानों के लिए डीजल अनुदान देने का एलान किया है । नालंदा में किसानों को खरीफ फसलों की पटवन के लिए प्रति एकड़ 15 सौ रुपये डीजल अनुदान दिया जाएगा।

सोमवार से शुरू होगा आवेदन
नालंदा जिला में किसानों को डीजल अनुदान देने के लिए सोमवार से ऑनलाइन आवेदन शुरू होगा। आवेदनों को तुरंत जांच कर भुगतान करने का आदेश दिया गया है. नालंदा के डीएम ने डीजल अनुदान के भुगतान मे अनावश्यक विलंब करने वालों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की बात कही है

किसान सलाहकारों को सख्त निर्देश
नालंदा के डीएम योगेन्द्र सिंह ने सभी किसान सलाहकारों को सख्त निर्देश दिए हैं. जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह ने अभी से ही खेतों में जाकर किसानों से बातचीत कर बिचड़े की सिंचाई प्रक्रिया देखने को कहा है। डीजल अनुदान के लिए सभी पात्र किसानों से आवेदन करायें।

कितना मिलेगा अनुदान
एक एकड़ में 10 लीटर डीजल पर 50 रुपये प्रति लीटर की दर से 500 रुपये प्रति एकड़ प्रति सिंचाई अनुदान मिलेगा। यानि एक किसान को धान का बिचड़ा बचाने के लिए दो सिंचाई के लिए 1000 रुपये प्रति एकड़ और धान की 3 सिंचाई के लिए 15 सौ रुपये दिये जायेगे। इसके अलावा धान, मक्का और दूसरी खरीफ फसलों के लिए 1 हजार 500 रुपये का अनुदान मिलेगा।

इसे भी पढ़िए-नालंदा के डीएम के सख्त तेवर देख सकपका गए आलाधिकारी, ढैंचा पर फंस गए जिला कृषि पदाधिकारी

नगर निकाय के किसानों को भी मिलेगा फायदा
डीजल अनुदान पंचायत के किसानों के अलावा नगर निकाय क्षेत्र के किसानों को भी मिलेगा। किसान समितियों से संचालित राजकीय नलकूप को भी लाभ मिलेगा। खरीफ फसलों के सिंचाई के लिए 30 अक्तूबर तक डीजल खरीद पर अनुदान मिलेगा।

5फीसदी ही हुई है रोपनी
आपको बता दूं कि नालंदा जिला में कम बारिश की वजह से धान की फसल प्रभावित हो रही है. महज 26 फीसदी बिचड़े की बुआई हुई है. जिसमें महज 5 फीसदी ही रोपनी हुई है. नालंदा जिला का अधिकतर हिस्सा सूखा प्रभावित हो गया है । पानी का संकट भी गहरता जा रहा है । सावन के महीने में पानी का लेयर घटता जा रहा है

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In काम की बात

Leave a Reply

Check Also

नालंदा में युवक की गोली मारकर हत्या.. इलाके में सनसनी

नालंदा जिला में आपसी रंजिश में एक व्यक्ति की हत्या कर दी गई। हत्या की वारदात के बाद गांव म…