Home काम की बात नीतीश सरकार का हड़ताली नियोजित शिक्षकों को होली का तोहफा.. जानिए, क्या मिलेगा

नीतीश सरकार का हड़ताली नियोजित शिक्षकों को होली का तोहफा.. जानिए, क्या मिलेगा

0

बिहार की नीतीश सरकार हड़ताली नियोजित स्‍कूल शिक्षकों (Striking Contract Teachers)को होली का तोहफा(Holi Gift)देने जा रही है. ताकि नियोजित शिक्षकों की होली बदरंग न हो.

तोहफे में क्या क्या मिलेगा
बताया जा रहा है कि बिहार सरकार नियोजित शिक्षकों की लंबित सेवा शर्त की मांग मानने जा रही है. साथ ही नियोजित शिक्षकों के वेतन में 20 फीसदी वेतन वृद्धि (Salary Hike) हो सकता है. इसके अलावा कर्मचारी भविष्‍यनिधि (EPF) के लाभ मिलेंगे। सरकार उन्‍हें एच्छिक स्‍थानांतरण का लाभ भी देने जा रही है। सरकार ने वेतनमान छोड़ हड़ताली शिक्षकों की सभी मांगें मान ली है।

विधानसभा में सरकार का एलान
शिक्षा मंत्री (Education Minister) कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा (Krishna Nandan Prasad Verma) ने बिहार विधानसभा (Bihar Assembly) में कहा कि सरकार नियोजित शिक्षकों की विरोधी नहीं है। वे हड़ताल से वापस लौटें। सरकार ने नियोजित शिक्षकों के बारे में पहले भी सोचा है और आगे भी सोंचेगी। शिक्षा मंत्री ने कहा कि वर्तमान सेवा शर्तों के बारे में आगे क्या कर सकते हैं, इस पर विचार किया जाएगा। इस दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी (Dy. CM Sushil Kumar Modi) भी सदन में मौजूद थे।

शिक्षकों के किसी अधिकार का हनन नहीं
शिक्षा मंत्री ने कहा कि नियोजित शिक्षकों द्वारा ‘समान काम-समान वेतन’ (Equal Pay for equal work) की मांग की जा रही है। जबकि, सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने इस मांग के विरुद्ध अपना फैसला दिया है। सुप्रीम कोर्ट का निर्णय सरकार के लिए नियमन है। इसके बावजूद सरकार नियोजित शिक्षकों के किसी भी अधिकार का हनन नहीं कर रही है। वर्ष 2005 में शिक्षकों को चार से पांच हजार रुपए तक मिलते थे, अब 29000 रुपये से अधिक मिल रहे हैं। उन्हें राज्यकर्मियों को देय मंहगाई भत्ता, चिकित्सा भत्ता और वार्षिक भत्ता भी मिल रहा है। सातवें वेतनमान की अनुशंसा के तहत 2.5 फीसद की वेतनवृद्धि भी हुई है। इसलिए वे हड़ताल खत्म कर काम पर लौटें।

सेवा शर्तें देने को तैयार
इस बीच विभागीय सूत्र बताते हैं कि शिक्षा विभाग ने नियोजित शिक्षकों की सेवा शर्तें तैयार कर ली है। सरकार 20 फीसद वेतनमान के बदले वेतन वृद्धि देने को तैयार है। साथ ही शिक्षकों को कर्मचारी भविष्‍यनिधि का लाभ भी मिलेगा। सरकार उन्‍हें एच्छिक स्‍थानांतरण का लाभ भी देने जा रही है।

वेतनमान की मांग पर अड़े हड़ताली शिक्षक
दरअसल, सरकार हड़ताली शिक्षकों के वेतनमान की मांग को छोड़कर अन्‍य सभी मांगों को मानने को तैयार हो गई है। लेकिन हड़ताली शिक्षक वेतनमान की मांग पर अड़े हुए हैं। हालांकि, वे सरकार से वार्ता के लिए तैयार हो गए हैं।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In काम की बात

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

सावधान : बिहार में खैनी और गुटका खाकर सार्वजनिक स्थानों पर थूकने पर होगी जेल

बिहार में तम्बाकू या गुटखा खाकर इधर उधर थूकने वालों के लिए बुरी खबर है. क्योंकि अब खैनी गु…