हंगामे के बीच बिहार विधानसभा में बजट पेश.. बजट की खास बातें जानिए

0

बिहार विधानसभा में हंगामे के बीच नीतीश कुमार सरकार (Nitish Kumar Govt) ने साल 2021-22 के लिए बिहार का बजट (Bihar Budget 2021) पेश किया। सूबे के डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद (Tarkishore Prasad) ने पहली बार बतौर वित्त मंत्री विधानसभा में बजट पेश किया। इस बार 2,18,303 करोड़ का बजट पेश किया गया। वित्तीय वर्ष 2021-22 में कुल प्राप्ति 2,18,570 अनुमानित हैं।

बिहार बजट भाषण की बड़ी बातें…

बजट भाषण में बोले वित्त मंत्री- तीन नए मेडिकल कॉलेज के निर्माण की प्रक्रिया जारी’अवसर बढ़े आगे पढ़ें’ निश्चय के तहत 23 चयनित जिलों में 12 में GNM संस्था खुल गए हैं और बाकी में काम जारी है। तीन नए मेडिकल कॉलेज के निर्माण की प्रक्रिया जारी है। 28 जिलों में पारा मेडिकल कॉलेज खोले जाने थे, जिसमें 12 खुल चुके हैं। 10वीं-12वीं पास युवकों के लिए दीर्घकालीन ट्रेनिंग की व्यवस्था होगी।

गोवंश विकास संस्थान के लिए 500 करोड़ रुपये
बिहार में गोवंश विकास संस्थान के लिए 500 करोड़ रुपये। बिहार में मत्स्य विभाग को 500 करोड़। मछली का उत्पादन बढ़ाकर बिहार से बाहर भेज जाएगा। सभी शहर में और नदी किनारे शव दाह गृह बनेगा। सभी गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट लगाई जाएगी।

युवाओं के लिए बड़े ऐलान
वित्त मंत्री ने बजट भाषण के दौरान कहा कि युवाओं को स्वालम्बी बनाने की दिशा में काम किया जा रहा है। उन्हें स्किल्ड करने के लिए भी मेगा स्किल सेंटर खोला जाएगा। राज्य के आईटीआई और पॉलिटेक्निक सेंटर को आधुनिक बनाया जाएगा। हर जिले में मेगा स्किल सेंटर खोले जाएंगे। हर मंडल में टूल रूम बनाए जाएंगे, हर प्रमंडल में ट्रेनिंग सेंटर का स्थापना, उच्चस्तरीय सेंटर फॉर एक्सीलेंस बनाए जाएंगे। श्रम संसाधन में 550 करोड़ खर्च किया जाएगा।

महिलाओं को लेकर बड़े प्रावधान
महिलाओं को उद्योग के लिए 5 लाख का अनुदान दिया जाएगा। इसके अलावा 5 लाख का लोन पर बिना किसी ब्याज के मिलेगा। इसके लिए 200 करोड़ का प्रावधान। महिलाओं को सरकारी नौकरी में 35 फीसदी आरक्षण। कार्यालयों में आरक्षण के अनरूप महिलाओं की संख्या बढ़ाई जाएगी। राजगीर में खेल विश्वविद्यालय के स्थापना होगी। विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग को 110 करोड़। उद्योग लगाने के लिए 5 लाख का ऋण मात्र 1 प्रतिशत पर दिया जाएगा। 20 लाख रोजगार के अवसर उत्पन्न कराया जाएगा।

सात निश्चय योजना पर खास फोकस
वित्त मंत्री ने कहा कि बिहार के विकास के लिए 2015 में 7 निश्चय योजना शुरू की गई। इसके तहत लगातार काम किया जा रहा है। 4671 करोड़ रुपये 7 निश्चय पार्ट-2 की राशि। हर घर बिजली के तहत गांवों में बिजली पहुंचाया जा रहा। हर घर नल का जल पहुंचाया जा रहा है। अब तक 479680 लाभुकों को लाभान्वित किया गया। महिलाओं के 35 फीसदी आरक्षण की व्यवस्था की गई।

बाधाओं-आपदाओं से हम घबराते नहीं
वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने विधानसभा में बजट पेश करते हुए कहा कि कोरोना संकट के दौरान लॉकडाउन से आर्थिक गतिविधियां रूकीं। बाधाओं-आपदाओं से हम घबराते नहीं हैं। कोरोना का संकट अभी टला नहीं है। वैक्सीनेशन का काम तेजी से चल रहा है। वैज्ञानिक दो वैक्सीन बनाने में सफल हुए। कोरोना से बिहार का रिकवरी रेट 99 फीसदी रहा। बिहार में टीकाकरण की रफ्तार सबसे तेज रही है।

बिहार बजट पर एक नजर
1- पशुओं के लिए हर 8-10 पंचायत पर अस्पताल बनाया जाएगा। इनको टेलीमेडिसिन की भी सुविधा दी जाएगी। देशी गोवंश के लिए ‘गोवंश विकास संस्थान’ की व्यवस्था की जाएगी। इसके लिए 500 करोड़ का बजट दिया गया है।
2- हर खेत में पानी की उपलब्धता सुनिश्चित करेंगे। हर गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट लगाए जाएंगे। स्ट्रीट लाइट के लिए 150 करोड़ रुपए का प्रावधान।
3- दिल में छेद वाले बाल मरीजों का मुफ्त इलाज कराएंगे। इस योजना के लिए 300 करोड़ का प्रावधान।
4- 20 लाख से ज्यादा रोजगार के नए अवसर सृजित किये जाएंगे।
5- 5 जिलों में फार्मेसी कॉलेज खोले जाएंगे।
6- राज्य में एक और नए इंजीनियरिंग कॉलेज की स्थापना की जाएगी।
7- हर जिले में मेगा स्किल सेटर बना युवाओं के रोजगार के लिए मौके बढ़ाए जाएंगे।
8- बिहार में मछलीपालन को इतना बढ़ाया जाएगा कि यहां की मछली दूसरे राज्यों में जाएगी।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In काम की बात

Leave a Reply

Check Also

नालंदा का स्कूल संचालक निकला दरिंदा.. स्कूल में युवक को जिंदा जलाकर मार डाला

नालंदा जिला में एक खौफनाक वारदात सामने आई है । जहां स्कूल संचालक ने एक युवक को जिंदा जलाकर…