नीतीश कैबिनेट के विस्तार में कौन कौन बनेंगे मंत्री ?.. जातीय समीकरण का रहेगा ख्याल

0

नीतीश कुमार के कैबिनेट विस्तार पर हर किसी की नजरें टिकी हुई हैं। बीजेपी और जेडीयू खेमे में शामिल हर नेता ये जानने की कोशिश में लगे हैं कि उनका नाम मंत्रियों की लिस्ट में है या नहीं? कैबिनेट विस्तार को लेकर राजनीतिक गलियारों में भी सरगर्मियां बनी हुई हैं, क्योंकि मकर संक्रांति के साथ खरमास भी खत्म हो चुका है।

सर्दी में बढ़ी सियासी गरमाहट
बिहार में कड़ाके की सर्दी के बावजूद सूबे सियासत में गरमाई हुई है. माना जा रहा है कि किसी भी वक्त मंत्रिमंडल का विस्तार हो सकता है. इस बीच बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की तो कयासों का दौर शुरू हो गया।

इसे भी पढ़िए-चिराग पासवान को बड़ा झटका, 27 नेताओं ने छोड़ी पार्टी.. होने वाला है बड़ा खुलासा

बीजेपी से कौन कौन दावेदार
शाहनवाज हुसैन के निर्विरोध एमएलसी चुने जाने के बाद अब उनके मंत्री बनने की अटकलें भी तेज हो गई है. सूत्रों का कहना है कि दो दो डिप्टी सीएम रहने के बावजूद भी बीजेपी की ओर से सबसे ताकतवर मंत्री शाहनवाज हुसैन ही होंगे. उन्ही के हाथ में असली पावर होगा.शाहनवाज हुसैन के अलावा बीजेपी के ही एमएलसी सम्राट चौधरी भी मंत्री बन सकते हैं. सम्राट चौधरी शकुनी चौधरी के बेटे हैं, जो नीतीश कुमार के लव-कुश समीकरण के मजबूत आधार माने जाते हैं।

इसे भी पढ़िए-जब फूट-फूट कर रोने लगीं तेजस्वी यादव की बहन चंदा.. जानिए क्यों

जेडीयू से कौन-कौन
जेडीयू से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी माने जाने वाले श्रवण कुमार भी मंत्री बन सकते हैं. श्रवण कुमार को सामाजिक समीकरणों के लिहाज से कैबिनेट में फिट माना जा रहा है, क्योंकि वे कुर्मी समाज का प्रतिनिधित्व करते हैं। इसके अलावा जेडीयू के सुनील कुमार और महेश्वर हजारी भी नीतीश कैबिनेट में शामिल हो सकते हैं. दोनों दलित कोटे से हैं। आपको बता दें कि सुनील कुमार पूर्व आईपीएस अधिकारी हैं और चुनाव से ठीक पहले ही वे जेडीयू में शामिल हुए थे। वहीं, महेश्वर हजारी पूर्व सांसद हैं और नीतीश कुमार की पिछली सरकार में मंत्री रह चुके हैं। महेश्वर हजारी रामविलास पासवान के रिश्तेदार भी हैं।

इसे भी पढि़ए-नालंदा को बदनाम करने वाले 8 बदमाश गिरफ्तार.. बार बाला के चक्कर में पकड़ाए

सुमित सिंह भी बनेंगे मंत्री ?
सूत्रों के मुताबिक, नीतीश कैबिनेट विस्तार में जातिगत समीकरण पर फोकस रहेगा। ऐसे में पूर्व मंत्री नरेंद्र सिंह के बेटे सुमित सिंह को राजपूत कोटे से मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है। बता दें कि सुमित ने निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव जीता और उसके बाद जेडीयू का दामन थामा था। गौरतलब है कि नीतीश मंत्रिमंडल में इस वक्त कुल 13 मंत्री हैं। वहीं, कैबिनेट विस्तार के बाद मंत्रिमंडल में 23 और मंत्रियों के शामिल होने का अनुमान है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

शराब तस्कर और पुलिस के बीच मुठभेड़.. गोलीबारी में दारोगा की मौत

इस वक्त एक बड़ी ख़बर आ रही है. शराब तस्कर और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई है. जिसमें गोली लगने…