Home बिहार शरीफ नालंदा में आंखफोड़वा कांड… पहले दोनों आंखें फोड़ी फिर मार डाला

नालंदा में आंखफोड़वा कांड… पहले दोनों आंखें फोड़ी फिर मार डाला

0

नालंदा जिला में एक शख्स की बेरहमी से हत्या कर दी गई। बदमाशों ने पहले उसके दोनों आंखों को फोड़ा फिर पीट-पीटकर मार डाला। घरवालों का आरोप है कि उधारी मांगने पर बदमाशों ने मार डाला

क्या है पूरा मामला
वारदात रहुई थाना के धर्मसिंह बिगहा गांव की है। जहां 45 साल के रविंद्र यादव की बदमाशों ने बेरहमी से हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि रविंद्र यादव की पहले दोनों आंखों को फोड़ा गया फिर पीट-पीटकर मार डाला। घरवालों के मुताबिक गांव के ही चंदन यादव ने रविंद्र यादव को मछली खाने के लिए घर बुलाया। वहां उसे शराब पिलाई गई। फिर निर्ममता से हत्या कर डाली।

एक लाख रुपये के लिए हत्या
रविंद्र यादव की पत्नी का कहना है कि चंदन यादव ने उसके बेटे रामजनम की नौकरी दिलाने का वादा किया था। इसके लिए एक लाख रुपए लिया था। अपने बेटे की नौकरी नहीं लगने पर रविंद्र यादव ने चंदन यादव से पैसे की मांग की थी। इसे लेकर 15 दिन पहले भी दोनों के बीच विवाद हुआ था।वहीं एक दूसरी बात भी सामने आ रही है कि आरोपित कृष्ण से उनका पुराना विवाद चल रहा है। रवीन्द्र और कृष्ण के परिवार के बीच मारपीट भी हुई थी।

दोनों आखों से बह रहा था खून
परिजनों के मुताबिक चंदन के घर से मछली खाने के बाद देर रात तक रविंद्र यादव घर नहीं लौटा तो परिजनों ने खोजबीन शुरू की। लेकिन रविंद्र का पता नहीं चला। परिजनों ने आरोपी चंदन से भी रविंद्र के बारे में पूछा लेकिन किसी ने कुछ नहीं बताया। रविवार की सुबह गांववालों को पुल के नीचे रविंद्र की लाश पड़ी मिली। उनके शरीर पर पिटाई के निशान थे। दोनों आंखों से खून बह रहा था। इसके अलावा गले पर दबाने के निशान और खरोंच थे। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शव को जब्त कर लिया और पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। परिजन का कहना था कि आरोपित ने उन्हें शराब पिलायी। उसके बाद हत्या कर शव को पुल के नीचे रख दिया।

पांच लोगों के खिलाफ केस दर्ज
रहुई के प्रभारी थानाध्यक्ष गिरधर प्रसाद के मुताबिक मृतक रविंद्र यादव की पत्नी संजू देवी ने 5 लोगों के खिलाफ एफआईआर करायी है। जिसमें चंदन यादव, उसके भाई राजीव यादव, पिता नगीना यादव के अलावा कृष्ण यादव और उसके बेटे नीतीश यादव का नाम शामिल है। पुलिस आरोपियों की तलाश में छापेमारी कर रही है। पांचों आरोपी अपना घर बंद कर फरार हो गए हैं।

घर में मचा है कोहराम
गांववालों के मुताबिक रवीन्द्र खेती करते थे। साथ ही दूध का कारोबार भी था। उनकी कमाई से ही पूरे परिवार का खर्चा चलता था। उनकी चार बेटियां और दो बेटे हैं। उनकी मौत से परिवार पर आफत का पहाड़ टूट पड़ा। तीन बच्चियों की शादी के साथ ही घर का खर्च चलाने की चिंता पत्नी को खाये जा रही है। पत्नी और बेटियों का रोना देखकर गांववालों की आंखें भी नम हो गयी है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In बिहार शरीफ

Leave a Reply

Check Also

विधान परिषद की 8 सीटों के लिए चुनाव का ऐलान.. जानिए कब क्या होंगे

बिहार विधानसभा के चुनाव की घोषणा के कुछ घंटों बाद ही बिहार विधान परिषद की खाली आठ सीटों के…