Home बिहार शरीफ नालंदा में पुलिस टीम पर ग्रामीणों का हमला, पथराव में Dsp और ड्राइवर जख्मी

नालंदा में पुलिस टीम पर ग्रामीणों का हमला, पथराव में Dsp और ड्राइवर जख्मी

0

नालंदा जिले में एक बार फिर पुलिस टीम पर हमला हुआ है । जिसमें हिलसा के डीएसपी मो. इम्तियाज अहमद के साथ उनका ड्राइवर मनोज कुमार जख्मी हो गए. ग्रामीणों की रोड़ेबाजी (Stone Pelting) में डीएसपी का सरकारी वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गया.

क्या है पूरा मामला
चिकसौरा थाना क्षेत्र के दल्लू बिगहा गांव में दो पक्षों के बीच विवाद हुआ था. डीएसपी इम्तियाज अहमद और उनकी टीम इसी विवाद को सुलझाने गई थी. विवाद सुलझाने के बाद पुलिस टीम देर रात वहां से लौट रही थी. रास्ते में रेड़ी गांव के पास ग्रामीणों की भीड़ देखकर ड्राइवर ने गाड़ी की रफ्तार धीमी की. गाड़ी धीमी होते ही कुछ लोगों ने पुलिस-पुलिस का शोर मचाया और इसके साथ ही भीड़ ने पुलिस टीम पर रोड़े बरसाना शुरू कर दिया.

डीएसपी और ड्राइवर घायल
ग्रामीणों ने डीएसपी (DySP) की गाड़ी पर जमकर रोड़ेबाजी की. जिसमें हिलसा डीएसपी मो. इम्तियाज अहमद के साथ उनका ड्राइवर मनोज कुमार जख्मी हो गए. ग्रामीणों की रोड़ेबाजी (Stone Pelting) में डीएसपी का सरकारी वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गया. घटना के बाद ड्राइवर मनोज के बयान पर 10 नामजद और 100 अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. वहीं, एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है.

चालक की सूझ-बूझ से टला हादसा
रोड़ेबाजी होते ही ड्राइवर ने गाड़ी फौरन पीछे ली और करीब दो किलोमीटर तक वह गाड़ी को रिवर्स गियर में ही चलाता रहा. इस दौरान उग्र भीड़ लगातार पथराव करती रही. आखिरकार भीड़ से बचाकर ड्राइवर ने किसी तरह गाड़ी घुमाई और चिकसौरा थाना पहुंचा. ड्राइवर की सूझ-बूझ से डीएसपी और उनके साथ चल रही पुलिस टीम के साथ बड़ा हादसा होने से बच गया. इधर, डीएसपी पर हमले की खबर मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया. डीएसपी और उनके ड्राइवर को तुरंत हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद दोनों को छुट्टी दे दी गई.

100 लोगों के खिलाफ केस दर्ज
डीएसपी और उनकी टीम पर ग्रामीणों के हमले से गुस्साई पुलिस ने देर रात रेड़ी गांव में छापा मारा. पुलिस की संभावित दबिश से गांव के अधिकतर पुरुष फरार हो गए थे. छापेमारी में शामिल कई थानों की पुलिस ने गांव के हर घर में जाकर आरोपियों की तलाश की. कड़ी मशक्कत के बाद आखिरकार पुलिस ने नामजद आरोपी विनय राम को धर-दबोचा. थानाध्यक्ष सुरेश प्रसाद ने बताया कि ड्राइवर के बयान के आधार पर 10 नामजद और 100 अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है. आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है.

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In बिहार शरीफ

Leave a Reply

Check Also

चुनाव प्रचार के दौरान उम्मीदवार को गोलियों से भून डाला.. जानिए पूरा मामला

बिहार विधानसभा चुनाव में खून खराबे का दौर शुरू हो गया है. चुनाव प्रचार के दौरान बदमाशों ने…