Home खास खबरें JDU के सामने झुकी BJP.. मोदी कैबिनेट में जेडीयू से बन सकते हैं 2 मंत्री

JDU के सामने झुकी BJP.. मोदी कैबिनेट में जेडीयू से बन सकते हैं 2 मंत्री

0

बिहार विधानसभा चुनाव से पहले नाराज जेडीयू को मनाने में बीजेपी का केंद्रीय नेतृत्व जुट गया है । बताया जा रहा है कि विधानसभा चुनाव से पहले जेडीयू को केंद्र की मोदी सरकार में शामिल किया जा सकता है।

RCP सिंह और ललन सिंह बन सकते हैं मंत्री
अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, विधानसभा चुनाव से पहले जेडीयू कोटे से मोदी कैबिनेट में दो मंत्री बनाए जा सकते हैं। बताया जा रहा है कि जेडीयू महासचिव रामचंद्र प्रसाद सिंह उर्फ आरसीपी सिंह और जेडीयू सांसद राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह को मोदी कैबिनेट में मंत्री बनाया जा सकता है। यहां पर ये बता दें कि नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में शपथ ग्रहण के दौरान भी दोनों को मंत्री बनाए जाने की चर्चा थी. लेकिन बाद में सिर्फ एक ही मंत्री बनाए जाने की वजह से जेडीयू मोदी मंत्रिमंडल में शामिल नहीं हुई थी

जेडीयू को चुप कराने के लिए फॉर्मूला
बताया जा रहा है कि एनआरसी को लेकर दोनों पार्टी के बीच उपजे तनाव को दूर करने के लिए बीजेपी का केंद्रीय नेतृत्व नीतीश कुमार की पार्टी को मोदी कैबिनेट में जगह दिलाना चाहती है । अंग्रेजी अखबार के मुताबिक, बीजेपी नहीं चाहती है कि बिहार में त्रिकोणीय मुकाबला हो, ताकि लालू यादव की पार्टी आरजेडी को फायदा हो सके. इसलिए नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू के कोटे के मंत्री को कैबिनेट में जगह मिल सकती है ।

पीके और सुमो में जुबानी जंग
आपको बता दें कि बिहार विधानसभा में सीट बंटवारे को लेकर जेडीयू और बीजेपी में पिछले दिनों जुबानी जंग तेज हो गई थी. जेडीयू उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने सुशील मोदी को 2015 में हार के बाद परिस्थितिवश बने डिप्टी सीएम बताया था. तो वहीं, सुशील मोदी ने कहा था कि कुछ लोग राजनीतिक चोला पहनकर अपना धंधा चमकाने में लगे हैं ।

नीतीश कुमार ने कर दिया था इनकार
आपको बता दें कि मोदी सरकार के शपथ ग्रहण से पहले जेडीयू कोटे से दो मंत्री बनाए जाने की खबर थी. इसके लिए तैयारियां भी कर ली गई थी. लेकिन आखिरी वक्त में सिर्फ एक सांसद को मंत्री बनाए जाने का ऑफर बीजेपी ने जेडीयू को दिया । जिसके बाद नीतीश कुमार ने जेडीयू को मोदी कैबिनेट में शामिल होने से इनकार दिया था. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि उनकी पार्टी एनडीए में बनी रहेगी लेकिन मंत्रिमंडल में शामिल नहीं होगी. इसके बाद नीतीश कुमार ने बिहार में मंत्रिमंडल का विस्तार किया था ।गौरतलब है कि बिहार में जेडीयू भाजपा की मुख्य सहयोगी पार्टी रही है। लोकसभा चुनाव में भाजपा ने 17 सीट और जेडीयू ने 16 सीटों पर जीत दर्ज की थी। समझा जाता है कि जेडीयू को मोदी मंत्रिपरिषद में एक स्थान मिल रहा था जो संभवत: राजग की सहयोगी पार्टी को मंजूर नहीं था।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

चुनाव प्रचार के दौरान उम्मीदवार को गोलियों से भून डाला.. जानिए पूरा मामला

बिहार विधानसभा चुनाव में खून खराबे का दौर शुरू हो गया है. चुनाव प्रचार के दौरान बदमाशों ने…