Home खास खबरें फिर भारी पड़े बिहारी, बना डाला वर्ल्ड रिकॉर्ड, कई विपक्षी नेता भी दिखे साथ

फिर भारी पड़े बिहारी, बना डाला वर्ल्ड रिकॉर्ड, कई विपक्षी नेता भी दिखे साथ

0

बिहार ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि सामाजिक सरोकार के लिए हम सब एक हैं. विपक्ष के विरोध के बावजूद बिहार में करोडों की संख्या में बिहार के लोग मानव श्रृंखला में शामिल हुए. मानव श्रृंखला में तकरीबन 4.25 करोड़ लोगों की भागीदारी के साथ 16 हजार किमी से अधिक लंबी कतार बनाकर बिहार ने विश्व कीर्तिमान स्थापित किया है. मानव श्रृंखला का मुख्य आयोजन पटना के गांधी मैदान में हुआ, जहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मौजूदगी में मानव श्रृंखला बनाई गई.

गांधी मैदान में मुख्य कार्यक्रम
गांधी मैदान में मुख्यमंत्री के साथ जल पुरुष राजेंद्र सिंह और यूनिसेफ के कंट्री हेड भी मानव श्रृंखला के हिस्सेदार बने. आसमान में बादल और ठंड के बावजूद मानव श्रृंखला को लेकर लोगों में गजब का उत्साह रहा. स्कूली बच्चे, युवा व महिलाओं में मानव श्रृंखला को लेकर खासा उत्साह दिखा. सरकारी कर्मियों ने भी मानव श्रृंखला में साथ दिया.

दलगत राजनीति से उठकर किया समर्थन
मानव श्रृंखला में दलों की सीमा भी टूटती नजर आयी. कांग्रेस के कई विधायकों ने जहां इसे नैतिक समर्थन देने की घोषणा की. वहीं, राजद के विधायक महेश्वर यादव और फराज फातमी ने मानव श्रृंखला में शामिल होकर अपना समर्थन दिया. उधर, खराब स्वास्थ्य के कारण लोजपा नेता रामविलास पासवान गांधी मैदान नहीं आ पाये, लेकिन उन्होंने पटना पहुंच कर अपना नैतिक समर्थन किया.

लालू राबड़ी ने साधा निशाना
वहीं, लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी ने निशाना साधा. लालू प्रसाद यादव ने ट्वीट कर निशाना साधा. उन्होंने लिखा कि ‘जल, जीवन, हरियाली की नौटंकी करने वाला पहले यह बता वें किसके संरक्षण में विगत 15 वर्ष में बिहार के कुआं, आहर, नहर, पइन, पोखर व तालाबों का अतिक्रमण कर बर्बाद किया गया? जंगलों को किसने कटवाया? तटबंध का पैसा कौन चूहा खाया?‬ ‪कथित पौधारोपण का करोड़ों का बजट कौन भूत लूटा? इनका दोषी कौन?‬’

राबड़ी देवी ने ट्वीट किया है, ‘सीएम नीतीश कुमार ने शराबबंदी पर श्रृंखला की थी हमने समर्थन भी किया था, लेकिन क्या उससे शराब बंद हुई? नहीं ना?‬ ‪बाल विवाह और दहेज के खिलाफ भी करोड़ों खर्च कर मानव श्रृंखला बनायी? क्या हुआ? अब सीएम ने इनका जिक्र करना भी छोड़ दिया है. अब एक और श्रृंखला की नौटंकी? क्यों गरीबों का हक खा रहे हैं?‬’

वहीं तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा है, पिछले वर्ष दो बार बिहार में आयी बाढ़ और जल जमाव में लोग त्राहिमाम कर रहे थे. राहत के लिए एक हेलीकॉप्टर तक सरकार के पास नहीं था. लेकिन अब 15 हेलीकॉप्टरों में मुंबई से फोटोग्राफर बुलाये जा रहे हैं. सिपाही परीक्षा रद्द की गयी, युवाओं को रोज़गार नहीं, शिक्षकों को वेतन नहीं, नियोजित कर्मियों को उचित मानदेय नहीं. लेकिन मानव शृंखला की नौटंकी पर गरीब राज्य का पैसा पानी की तरह बहाया जा रहा है.’

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

दोस्तों के साथ शराब पीते हुए दारोगा जी को SP साहब नें रंगे हाथ गिरफ्तार किया.. जानिए पूरा मामला

बिहार में शराबबंदी (Liquor Ban) कानून को सरकारी मुलाजिम ही बड़ी आसानी से ठेंगा दिखा रहे है…