Home अपराध चर्चा में बिहार के बाहुबली विधायक के बेटी की शादी का कार्ड.. जानिए कार्ड पर क्या लिखवाया…

चर्चा में बिहार के बाहुबली विधायक के बेटी की शादी का कार्ड.. जानिए कार्ड पर क्या लिखवाया…

0

बिहार (Bihar) के बाहुबली विधान पार्षद रीतलाल यादव (MLC Reetlal Yadav) की बेटी की शादी का कार्ड इन दिनों काफी चर्चा में है। और हो भी क्यों ना.. क्योंकि विधायक जी शादी के कार्ड पर मोटे अक्षरों से जो ऐसा लिखवा डाला है.

”आवश्यक सूचना हथियार लाना वर्जित है”
रीतलाल यादव इन दिनों हत्या, रंगदारी और आर्म्स एक्ट के कई संगीन मामलों के आरोप में बेउर जेल (Beur Central Jail) में हैं. अगले महीने के 4 तारीख यानि 04/02/2020 को उनकी बेटी अंकिता की शादी है । इसके लिए कार्ड छपवाए गए हैं, जो मेहमानों की सूची बनाकर बांटे भी जा रहे हैं. इस कार्ड में विधान पार्षद की ओर से मेहमानों से खास अपील की गई है. कार्ड के ऊपर ही मोटे अक्षरों में लिखा गया है, ‘शादी में हथियार लाना वर्जित है’. इसी वजह से बंटने के साथ ही यह कार्ड सोशल मीडिया में ट्रेंड करने लगा है.

परिवार को रीतलाल की ‘छवि’ का डर
MLC रीतलाल यादव की बेटी की शादी को लेकर उनके पैतृक गांव कोथवा में तैयारियां चल रही हैं. उनकी छवि को देखते हुए इस बात की पूरी संभावना है कि विधान पार्षद की बेटी की शादी में काफी संख्या में बाहुबली छवि के लोग आ सकते हैं. लिहाजा, उनका परिवार नहीं चाहता है कि शादी को लोग इस रूप में याद रखें. इसलिए शादी के कार्ड पर विशेष निर्देश छपवाया गया है.

हर्ष फायरिंग रोकने के लिए
हालांकि कुछ लोग इसे प्रशासन द्वारा शादियों में हर्ष फायरिंग पर रोक का असर तो कुछ रीतलाल यादव का ‘आत्मबोध’ भी बता रहे हैं. जो भी हो, रीतलाल यादव कार्ड पर छपे इस निर्देश से सिर्फ इतना ही साबित करना चाहते हैं कि बिटिया की शादी में वे केवल एक पिता हैं, जो बगैर किसी ‘झंझट’ के शांतिपूर्ण तरीके से यह विवाह समारोह कराना चाहते हैं.

पेरोल पर रिहा होंगे एमएलसी
रीतलाल यादव अभी पटना के बेउर सेंट्रल जेल में बंद हैं. बेटी की शादी में शामिल होने के लिए उन्होंने पेरोल पर जमानत की अर्जी दी है. बताया जा रहा है कि एमएलसी की दिली इच्छा है कि वे अपनी बिटिया का कन्यादान करें. इसलिए उन्हें पेरोल पर जमानत मिल जाएगी.

राजद के साथ रहे थे संबंध
आपको बता दें कि बिहार में अपराध की दुनिया में रीतलाल यादव का नाम नया नहीं है. दानापुर में भाजपा नेता सत्यनारायण सिन्हा की हत्या के बाद उनका नाम चर्चा में आया था. कभी राजद के साथ उनके बेहतर संबंध भी रहे थे. लेकिन आजकल वे निर्दलीय एमएलसी हैं.

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In अपराध

Leave a Reply

Check Also

स्कूल खोलने को लेकर बिहार सरकार का नया फरमान.. जानिए कब से खुलेंगे किस कक्षा तक के विद्यालय

कोरोना संकट के बीच बिहार सरकार ने स्कूल खोलने को लेकर फरमान जारी कर दिया है. बिहार सरकार क…