Home खास खबरें … तो पटना से बड़ा शहर कैसे बन जाएगा राजगीर.. जानिए

… तो पटना से बड़ा शहर कैसे बन जाएगा राजगीर.. जानिए

0

सही कहा गया है कि इतिहास अपने आप को दोहराता है। कभी मगध साम्राज्य की राजधानी रही राजगृह एक बार फिर अपने वैभवशाली इतिहास की ओर लौट रहा है। राजगीर का जिस तरह विकास हो रहा है और प्रस्तावित योजनाएं धरातल पर लौट आई तो आने वाले दिनों में राजगीर बिहार का सबसे बड़ा शहर बन जाएगा। यानि वो पटना को भी पछाड़ देगा।

विकास का चहुंमुखी मॉडल
पर्यटन नगरी राजगीर का विकास दिन दुनी रात चौगुनी रफ्तार से हो रही है। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए यहां हर दिन नई नई योजनाएं बनाई जा रही है । सरकार राजगीर का विस्तार इस तरह कर रही है कि ये हिंदू,बौद्ध,जैन,सिख और मुस्लिम पांचों धर्मों के लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर सके। विकास पुरुष नीतीश कुमार ने राजगीर के विकास के लिए चहुंमुखी मॉडल तैयार किया है। यानि कभी सिर्फ पर्यटन के लिए जाने जानी वाली राजगीर को लोग अब खेल, मनोरंजन, शिक्षा, हेल्थ, वेलनेस, सीविक के साथ साथ धर्मनगरी और औद्योगिक नगरी के तौर पर जानेंगे।

राजगीर में चल रही योजनाएं
1. यूनिवर्सिटी ऑफ नालंदा- नालंदा विश्वविद्यालय की गौरवशाली परंपरा को लौटाने के लिए नीतीश कुमार की मेहनत की वजह से इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी की स्थापना की गई है। जिसमें दुनिया भर के छात्र अलग-अलग विषयों की पढ़ाई के लिए आएंगे।

2. नालंदा खुला विश्व विद्यालय- नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी का सेंटर अभी पटना के विस्कोमन भवन में चल रहा है। जिसे नालंदा यानि राजगीर में स्थातंरित किया जाएगा

3. पुलिस ट्रेनिंग सेंटर- बिहार लोकसेवा आयोग द्वारा डीएसपी पद पर चयनित अभ्यर्थियों और दारोगा पद के लिए चयनित अभ्यर्थियों की ट्रेनिंग भी अब यहीं दिया जाएगा। पहले झारखंड के हजारीबाग में दिया जाता था।

4. इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम सह स्पोर्ट्स एकेडमी- ये बिहार का सबसे बड़ा स्टेडियम बनेगा। जहां इंटरनेशनल क्रिकेट मैच के अलावा दूसरे खेल के लिए भी खिलाड़ियों को प्रशिक्षित किया जाएगा।

5. आईटी पार्क- राजगीर में सूबे का सबसे बड़ा आईटी पार्क बनाया जा रहा है। जहां गूगल,माइक्रोसॉफ्ट, आईबीएम, एचसीएल जैसी सॉफ्टवेयर जाइंट अपना दफ्तर खोलेगी। जिसकी वजह से नालंदा से अमेरिका और बंगलोर जाकर इंजीनियरों को नौकरी करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

6. एयरपोर्ट- राजगीर के लिए इंटरनेशनल एयरपोर्ट का प्रस्ताव है। हालांकि राजनीति के चक्कर में इसमें अड़ंगा लग गया है। लेकिन मिनी हवाई अड्डा बनाया जा रहा है। जिसके लिए जमीन का अधिग्रहण कर लिया गया है।

7. आयुध फैक्ट्री- राजगीर में रक्षा मंत्रालय की महत्वपूर्ण इकाई आयुध फैक्टरी भी स्थित है।

8. सैनिक स्कूल- बिहार इकलौता राज्य है जहां दो-दो सैनिक स्कूल हैं। जिसमें एक राजगीर में भी है। जहां से पढ़े बचे

9. सीआरपीएफ आरटीसी- अर्धसैनिक बलों में भर्ती के लिए सीआरपीएफ ने राजगीर में अपना रिकु्रइटमेंट ट्रेनिंग सेंटर बनाया है।

10. इंटरनेशनल कंवेंशन सेंटर- राजगीर में इंटरनेशनल कंवेंशन सेंटर बनाया गया है। जहां अक्सर कोई न कोई कार्यक्रम होता रहता है। साथ ही देश की बड़ी कंपनियां यहां अपना कार्यक्रम कराती है।

11. सूबे का पहला भूमि बैंक- राजगीर में ही बिहार का सबसे बड़ा भूमि बैंक बनाया गया है। यानि वैसी कंपनियां जो अपना ऑफिस या प्लांट लगाना चाहती है उसे सरकार रियायती दर पर जमीन देगी। जैसे हिमाचल में बद्दी, यूपी में नोएडा और ग्रेटर नोएडा जैसे शहरों का विकास हुआ।

12. फिल्म सिटी- राजगीर के शानदार लोकेशन का फायदा उठाने के लिए इसे फिल्म सिटी के तौर पर विकसित किया जा रहा है । ताकि आने वाले समयों में फिल्म की शूटिंग के लिए लोगों को दूसरी जगह न जाने पड़े और लोगों को रोजगार मिल सके

13. देश का सबसे बड़ा गुरुदवारा- सिख समुदाय के लोगों को आकर्षित करने के लिए सीएम नीतीश कुमार ने राजगीर में देश का सबसे बड़ा गुरुद्वारा बनाने का ऐलान किया है।

14. पहला ईको टूरिस्ट प्लेस – राजगीर में बिहार का पहला ईको टूरिस्ट पहले घोड़ा कटोरा में विकसित किया जा रहा है। ये देश का दूसरा ईको टूरिस्ट प्लेस है।

15. राजगीर के आसपास के 447 गांवों को ग्रामीण पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जा रहा है ।

शीतकालीन राजधानी का दर्जा !
राजगीर बिहार की आर्थिक राजधानी के तौर पर विकसित तो हो रही है साथ ही शीतकालीन राजधानी की भी जगह ले सकती है। आपको बता दें कि जब बिहार का बंटवारा नहीं हुआ था तो रांची बिहार की शीतकालीन राजधानी थी। उसी तर्ज पर अब राजगीर को शीतकालीन राजधानी बनाने की मांग की जा रही है।

नालंदा के डीएम डॉक्टर त्यागराजन का कहना है कि राजगीर की विरासतों में इसे बुलंदियों पर ले जाने की अपार क्षमता मौजूद है। आने वाले दिनों में राजगीर ही नहीं पूरा जिला विकसित क्षेत्र के रूप में उभरेगा। शैक्षिणक हब का रूप लेने को यह क्षेत्र आतूर है। यहां हर क्षेत्र में विकास हो रहा है।

मतलब अपना राजगीर एक बार फिर नंबर वन बन जाएगा। आइए राजगीर के विकास में हमसब मिलकर भागीदार बनें। साथ ही आगे भी राजगीर के विकास और चल रही परियोजनाओं के बारे में आपको बताते रहेंगे। साथ ही राजगीर का इतिहास और पर्यटन स्थलों के बारे में बताएंगे

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

एक बार फिर उद्घाटन से पहले बह गया पुल.. टापू में तब्दील हो गया पूरा इलाका

बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले उद्घाटन का दौर चल रहा है. केंद्र और बिहार सरकार रोजाना कु…