Home अपराध प्रैक्टिकल के नाम पर 5000 रुपए तक वसूल रहे हैं स्कूल, CBSE ने कहा-

प्रैक्टिकल के नाम पर 5000 रुपए तक वसूल रहे हैं स्कूल, CBSE ने कहा-

0

CBSE की गाइडलाइंस के बावजूद कई स्कूल छात्रों से प्रैक्टिकल के नाम पर 5000 रुपए तक वसूल रहे हैं । जिसकी शिकायत सीबीएसई को मिली है । केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने स्कूलों को आगाह किया था कि प्रायोगिक परीक्षा के लिए किसी छात्र से शुल्क नहीं लिया जायेगा। लेकिन बिहार में अधिकतर स्कूल प्रायोगिक परीक्षा के नाम पर पैसे वसूल रहे हैं।

छात्रों की शिकायत पर जागा CBSE
इतना ही नहीं, 10वीं और 12वीं के इंटरनल असेसमेंट के लिए भी छात्रों से पैसे देने को कहा जा रहा है। इंटरनल असेसमेंट के नाम पर जहां एक हजार से 15 सौ रुपये लिये जा रहे हैं, वहीं 12वीं की प्रायोगिक परीक्षा के नाम पर पांच हजार तक रुपए लिये जा रहे हैं। स्कूलों के इस मनमाने पैसे वसूलने की शिकायत अब सीबीएसई से की गई है। कई छात्रों ने सीबीएसई को पत्र लिख कर इसकी जानकारी दी है।

CBSE ने जांच में शिकायत को पाया सही
छात्रों द्वारा शिकायत आने के बाद उसकी जांच की जा रही है। जांच में कई स्कूल पकड़ में आये हैं। बोर्ड के पास अब तक सौ से ज्यादा स्कूलों के खिलाफ शिकायतें आ चुकी हैं। अब बोर्ड स्कूल की जांच कर रहा है। जिनके खिलाफ शिकायत सही पायी जा रही है तो ऐसे स्कूलों को नोटिस भी दिया गया है। बोर्ड सूत्रों की मानें तो अभी तक बिहार के दस स्कूलों को नोटिस दिया जा चुका है। शिकायत में छात्रों ने अंक देने के नाम पर पैसे वसूलने का आरोप भी स्कूल पर लगाया है।

परीक्षा फॉर्म के साथ ही ले लिया जाता है शुल्क
ज्ञात हो कि सीबीएसई स्कूलों में प्रायोगिक परीक्षा और इंटरनल असेसमेंट स्कूल में ही होता है। प्रायोगिक परीक्षा के नाम पर परीक्षा फॉर्म भरते समय शुल्क ले लिया जाता है। ऐसे में अब दुबारा स्कूल पैसे नहीं ले सकता है। पैसे लेने के बाद जब अभिभावक द्वारा रसीद मांगी जा रही है तो रसीद नहीं दी जा रही।

सीबीएसई ने क्या कहा?
सीबीएसई परीक्षा नियंत्रक, डॉ. संयम भारद्वाज ने मामले पर कहा कि प्रायोगिक परीक्षा के नाम पर किसी तरह का शुल्क नहीं लिया जा सकता है। क्योंकि प्रायोगिक परीक्षा इंटरनल होता है। इसे हर स्कूल को अपने स्तर पर करना है। परीक्षा का सारा मैटेरियल बोर्ड उपलब्ध करवाता है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In अपराध

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

दोस्तों के साथ शराब पीते हुए दारोगा जी को SP साहब नें रंगे हाथ गिरफ्तार किया.. जानिए पूरा मामला

बिहार में शराबबंदी (Liquor Ban) कानून को सरकारी मुलाजिम ही बड़ी आसानी से ठेंगा दिखा रहे है…