Home हिलसा नालन्दा में पुलिस को चकमा देकर थाना से 2 कैदी फरार.. जानिए पूरा मामला

नालन्दा में पुलिस को चकमा देकर थाना से 2 कैदी फरार.. जानिए पूरा मामला

0

नालन्दा पुलिस के उस समय पसीने छूटने लगे। जब चकमा देकर दो कैदी थाना के हाजत से फरार हो गए। कैदी के फरार होते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। थानाध्यक्ष से लेकर सिपाही तक सब अभियुक्त को पकड़ने के लिए नंगे पाव ही निकल पड़े। लेकिन दोनों कैदी पुलिस के हाथ नहीं आया।

क्या था मामला
दिरीपर के रहने वाले विनय प्रसाद टेम्पो चलाकर परिवार का भरण पोषण करते हैं। मंगलवार को वो गल्ला व्यवसायी अशोक साव की खरीदी गई गेहूं लेकर थरथरी बाजार पहुंचा रहे थे। टेम्पो पर ही बैठे दिरीपर निवासी अरुण यादव एवं राममूर्ति प्रसाद बाजार आ रहे थे तभी रास्ते में ही रंगदारी के रूप में एक बोरी गेहूं या इसके एवज में राशि की मांग करने लगा। राशि नहीं देने पर लौटते समय रास्ते में ही दोनों मिलकर मारपीट करने के साथ ही टेम्पो का शीशा फोड़ दिया। वही राममूर्ति यादव ने पॉकेट से दस हजार रुपया छीन लिया। इस मामले में दोनों के खिलाफ थाना में एफआईआर दर्ज कराई गई थी। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए एक पक्ष की ओर से तीन तथा दूसरे पक्ष की ओर से दो अभियुक्तों को गिरफ्तार किया था। जिसमें से अरुण यादव एवं राममूर्ति यादव बुधवार की सुबह संतरी को चकमा देकर फरार हो गया।

खाना खिलाने के नाम पर संतरी से हाजत का मांगा चाभी प्रथम पक्ष के हाजत में बंद कैदी विनय प्रसाद ने बताया कि अरुण यादव के भाई मोहन यादव ने संतरी से खाना खिलाने के नाम पर चाभी मांगी। संतरी ने बिना सोचे समझे ही अभियुक्त के भाई मोहन यादव को चाभी थमा दी। इसके बाद मोहन यादव ने हाजत का ताला खोल दिया और अरुण यादव व राममूर्ति यादव को भगाते हुए मोहन यादव खुद फरार हो गया। हाजत से कैदी भागते देख प्रथम पक्ष के अभियुक्त शोर मचाने लगा। शोर शराबा सुन थानाध्यक्ष के अलावा अन्य पुलिस पदाधिकारी व संतरी जिस स्थिति में थे उसी स्थिति में अभियुक्त को पकड़ने के लिए दौड़ पड़े। लेकिन उसका कोई पता नहीं चल पाया।

पूर्व में भी हाजत से कैदी हुआ था फरार

बता दें कि वर्ष 2002 में भतहर निवासी विनोद महतो किसी अन्य केस के मामले में हाजत में बंद था। शौच जाने के दौरान पुलिस ने जैसे ही दरवाजा खोला वैसे ही कैदी ने पुलिस को धक्का देते हुए फरार हो गया था। उस वक्त थानाध्यक्ष श्याम बिहारी मांझी थे। अभियुक्त को पकड़ने के दौरान एक सिपाही घायल हो गया था।

हिलसा डीएसपी मो. मोतफिक अहमद ने कहा कि हाजत से फरार दो अभियुक्त की सूचना मिलते ही थरथरी थाना पहुंच कर मामला की जानकारी ली गई। पूरे मामले की जांच चल रही है। जांच में जो भी दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In हिलसा

Leave a Reply

Check Also

नालंदा में पूर्व विधायक का पूर्व ड्राइवर निकला लुटेरा, प्रेमिका के साथ चलाता था गिरोह

बिहार शरीफ में लूटकांड में बड़ा खुलासा हुआ है. बिहारशरीफ में पूर्व विधायक का ड्राइवर लुटेर…