डॉक्टर साहब ने किया ‘गंदा काम’.. लड़की ने सबके सामने सैंडिल से धो डाला

0

डॉक्टर को धरती का भगवान का दर्जा प्राप्त है. लेकिन जब वो भेड़िया बन जाय तो क्या कहेंगे. जी हां, एक ऐसा ही मामला सामने आया है. जब एक नाबालिग ने डॉक्टर पर गंदा काम करने का आरोप लगाया. उसके बाद पीड़िता ने सबके सामने डॉक्टर की चप्पलों से पिटाई कर दी.

इसे भी पढ़िए-गूंगी लड़की के साथ गैंगरेप.. गांववालों ने आरोपी को पेड़ से बांधकर पीटा

क्या है पूरा मामला

मामला बिहार के दरभंगा जिले के केवटी प्रखंड के सरकारी अस्पताल के डॉक्टर राजन पर लगा है. जो दरभंगा के हवाई अड्डे के पास अपना निजी क्लीनिक भी चलाते हैं, जहां रविवार को जमकर हंगामा हुआ। एक नाबालिग लड़की ने डॉक्टर राजन की जूता-चप्पल से जमकर पिटाई कर दी। क्लीनिक पर हो रहे हंगामे की वजह से कुछ देर के लिए माहौल गरम हो गया। घटना की सूचना मिलने ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस डॉक्टर और पीड़ित नाबालिग को केवटी थाना में ले गयी, जहां मामले की पूछताछ सदर एसडीपीओ अनोज कुमार ने की।

इसे भी पढ़िए-कृषि विभाग के डायरेक्टर के घर निगरानी का छापा.. अकूत संपत्ति का निकला मालिक

क्या है आरोप

दरअसल मामला केवटी थाना क्षेत्र के हवाई अड्डा का है, जहां वीणा नेत्रालय के नाम से निजी क्लीनिक चला रहे डॉक्टर राजन पर आरोप है कि एक 15 वर्षीय नाबालिक लड़की को केवटी सरकारी अस्पताल में नौकरी दिलवाने के नाम पर उससे 60 हजार रुपये की लिए गए। रुपये देने के कई महीने बीत जाने के बाद भी नौकरी नहीं मिलने पर पीड़िता ने डॉक्टर पर दबाब बनाया तो डॉक्टर ने उसे अपने निजी क्लीनिक पर ही काम पर रख लिया।

इसे भी पढ़िए-आभूषण कारोबारी की बस से खींचकर गोलियों से भूना.. कोलकाता से आ रही थी बस

अकेला पाकर डॉक्टर ने की दुष्कर्म की कोशिश

पीड़िता की माने तो क्लिनिक में आज उसे अकेला पाकर अपने कमरे में बुलाकर पर्दा लगा कर दुष्कर्म करने का प्रयास किया। जिसका विरोध करते हुए लड़की ने हंगामा कर दिया। जिसके बाद स्थानीय लोग जमा हो गए और मामला समझते ही डॉक्टर की पिटाई कर दी। जिसके बाद पीड़िता ने भी अपनी भड़ास निकालते हुए चप्पल से डॉक्टर की पिटाई कर दी। फिर स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना दे दी।

30 हजार रुपये लेने की बात कबूली

हालांकि डॉक्टर राजन ने कैमरे पर 30 हजार रुपये लेने की बात स्वीकार कर करते हुए कान पकड़ कर माफ़ी मांगी और दुष्कर्म की कोशिश से इनकार किया। वहीं मामले की जांच में आए सदर एसडीपीओ अनोज कुमार ने बताया कि ये डॉक्टर अन्धापन नियंत्रण कार्यक्रम के तहत केवटी प्रखंड में तैनात है। डॉक्टर ने अपने निजी क्लीनिक पर लड़की को तरह तरह के प्रलोभन देकर उसके साथ छेड़खानी करते थे, जिसका लड़की विरोध करती थी। आज लड़की ने उसकी पिटाई कर दी।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In अपराध

Leave a Reply

Check Also

बिहार में लॉकडाउन में पैदल घूमने पर भी पाबंदी.. जानिए और क्या-क्या पाबंदियां लगी

बिहार में 15 मई तक लॉकडाउन लगा रहेगा। इस दौरान सार्वजनिक स्थानों एवं मार्गों पर लोगों के ब…