Home खास खबरें बिहारशरीफ में गरजे तेजस्वी.. बेरोजगारी पर चाचा नीतीश को घेरा

बिहारशरीफ में गरजे तेजस्वी.. बेरोजगारी पर चाचा नीतीश को घेरा

0

बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने चाचा नीतीश कुमार को उनके गढ़ में घेरने की कोशिश की। बिहारशरीफ के श्रम कल्याण मैदान में आयोजित ‘बेरोजगारी घटाओ, आरक्षण बढ़ाओ’ कार्यक्रम में शामिल हुए। इस मौके पर उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर तीखे हमले किए

’28 साल की उम्र में 35 मुकदमे कराए’
तेजस्वी यादव ने कहा कि जिसने बिहार के डीएनए को गाली दी उसके साथ चाचा (सीएम) क्यों मिल गए। अगर हम भी बीजेपी में मिल जाते तो आज न तो हमारे पिता जेल में होते और न ही हमारे पूरे परिवार पर मुकदमा होता। मेरी 28 वर्ष की उम्र में चाचा ने मुझपर 35 मुकदमे करवाए हैं। हमलोगों को घुटने टेकने के लिए मेरी माता राबड़ी देवी, सातों बहन, सातों बहनोई, बहनोई के माता-पिता व करीबी लोगों पर मुकदमा दर्ज करवाया दिया गया।

‘बेरोजगारी का केंद्र बन गया है बिहार’
आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार में पिछले 15 वर्षों से चाचा की सरकार है। और, वे अपने को विकास पुरुष कहते हैं तो बताएं कि पूरे देश में सबसे अधिक बेरोजगारी बिहार में क्यों है? बेरोजगारी को दूर करने के लिए जबतक सड़क पर आकर लड़ाई नहीं लड़ेंगे, युवकों को रोजगार नहीं मिलेगा।

‘अबकी बार बड़बड़ मोदी गड़बड़ मोदी नहीं चलेगा’
पीएम मोदी हमला बोलते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि मोदी जी ने हर साल 2 करोड़ युवकों को रोजगार देने का वादा किया था। लेकिन पांच साल बीतने पर समोसा बेचने को रोजगार बता रहे हैं। अबकी बार बड़बड़ मोदी, गड़बड़ मोदी नहीं चलने वाला है। मोदी जी अपने को चौकीदार कहते थे और उन्हीं के राज्य के नीरव मोदी, मेहुल चौकसी, विजय माल्या और न जाने कितने लोग देश का पैसा लेकर भाग गए।

‘बृजेश ठाकुर के साथ चाचा का क्या है रिश्ता’
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम कांड को लेकर भी तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को घेरा और कहा कि अगर नीतीश कुमार बहुत ईमानदार हैं तो बताएं की बृजेश ठाकुर से उनका क्या रिश्ता है। वे उनके बेटे के जन्म दिन में गए थे या नहीं? वे बृजेश ठाकुर का कॉल रिकॉर्ड आम करें, मामला हो साफ जाएगा। उन्हें लगता है कि हम गलत कह रहे हैं तो हमें जेल भेजवा दें।

‘बीजेपी से नहीं मिलते तो चाचा जेल में होते’
तेजस्वी यादव ने कहा कि पहले चाचा बिहार के विशेष राज्य की मांग करते थे। अब उनकी सरकार दिल्ली तक है, फिर क्यों भूल गए। उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी रात-दिन चिल्लाते थे मिट्टी घोटाला। अब वे उसी के मंत्री हैं, तो बताएं कि क्या घोटाला हुआ है। यह सब एक सोची-समझी साजिश थी हमारे चाचा की। ताकि, हमें बदनाम करवाकर बीजेपी के साथ मिल जाएं। अगर वे बीजेपी में नहीं मिलते तो अभी मोदी जी उन्हें भी जेल भेजवा देते। और बीजेपी दंगा फसाद की राजनीति करने में लगी है।

‘जिसकी जितनी हिस्सेदारी उसकी उतनी भागीदारी’
सवर्ण आरक्षण को लेकर तेजस्वी यादव ने अपना रुख साफ करते हुए कहा कि उनकी पार्टी आरक्षण के खिलाफ नहीं है। लेकिन, इसके लिए नए सिरे से जाति आधारित जनगणना हो और जिस चीज में जिसकी जितनी हिस्सेदारी हो, उसको उतनी भागीदारी मिले।

सुनील यादव ने भगवान बुद्ध की मूर्ति गिफ्ट की
नालंदा जिला युवा आरजेडी के अध्यक्ष सुनील यादव ने तेजस्वी यादव को स्वागत के दौरान भगवान बुद्ध की प्रतिमा गिफ्ट की। इसके जरिए उन्होंने बुद्धम शरणं गच्छामि का मंत्र भी याद दिलाया

इस मौके पर रजौली विधायक प्रकाश वीर, रेखा पासवान और शक्ति यादव, पूर्व मंत्री आलोक मेहता, रामबदन राय, प्रदेश अल्पसंख्यक अध्यक्ष कारी शोएब, बुनकर सेल के प्रदेश अध्यक्ष जाहिद अंसारी, जिलाध्यक्ष हुमायूं अख्तर तारीक, अल्पसंख्यक सेल के जिलाध्यक्ष सरफराज खान, युवा जिलाध्यक्ष सुनील यादव, नगर अध्यक्ष खुर्शीद अंसारी, पप्पू यादव, जीतेन्द्र कुमार जीतू, राजमंती पाण्डेय, टनटन खान, दीपक कुमार, अरशद खान समेत कई नेता मौजूद थे। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में आरजेडी समर्थक मौजूद थे और तेजस्वी को अगला मुख्यमंत्री बनाने की शपथ भी ली

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

पत्नी और पांच बच्चों को कुल्हाड़ी से काट डाला,4 की मौत, 2 की हालत गंभीर

इस वक्त एक दिल दहलाने वाली ख़बर आ रही है. जहां एक सनकी पति ने अपनी पत्नी और पांच बच्चों को…