Home खास खबरें गिरिराज सिंह को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का फरमान.. अब क्या करेंगे गिरिराज

गिरिराज सिंह को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह का फरमान.. अब क्या करेंगे गिरिराज

0

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह को बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने फरमान सुनाया है। जिसके बाद गिरिराज सिंह सकते हैं । दरअसल,लोकसभा चुनाव में बेगूसराय सीट का मामला एनडीए के लिए नासूर बन गया है। बेगूसराय से बीजेपी ने नवादा के सांसद गिरिराज सिंह को टिकट दिया है। इससे वे काफी नाराज है। इतना ही नहीं, इसे लेकर गिरिराज सिंह ने बिहार संगठन के प्रति काफी आक्रोश जताया है। उनकी नाराजगी आलाकमान के पास पहुंच गयी और अब इस मामले में बीजेपी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह को खुद सामने आना पड़ा है।

अमित शाह का फरमान

बीजेपी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह ने बुधवार को ट्वीट कर गिरिराज सिंह को शुभकामना दी है और उनके बेगूसराय से ही लड़ने की बात कही है। अमित शाह ने बुधवार को किए गए ट्वीट में कहा है, ‘गिरिराज सिंह बिहार के बेगूसराय से लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। उनकी सारी बातों को मैंने सुना है और संगठन उनकी सभी समस्याओं का समाधान निकालेगा। मैं चुनाव के लिए उन्हें शुभकामनायें देता हूं।

इसे भी पढ़िए-बेगूसराय से चुनाव लड़ने से क्यों डर रहें हैं गिरिराज सिंह.. सबसे सटीक विश्लेषण और 5 बड़ी वजहें

क्यों नाराज हैं गिरिराज

आपको बता दें कि गिरिराज सिंह 2014 के लोकससभा चुनाव में नवादा से बीजेपी के टिकट पर सांसद बने थे। बाद में उन्‍हें केंद्र में मंत्री भी बनाया गया। लेकिन लोकसभा चुनाव 2019 में उनका क्षेत्र बदल दिया गया है। नवादा के बजाय गिरिराज सिंह को बेगूसराय से उम्‍मीदवार बनाया गया है। नवादा सीट लोजपा के खाते में दे दी दी गई है। वहां से सूरजभान सिंह के भाई चंदन कुमार को लोजपा ने टिकट दिया है। जिससे  गिरिराज सिंह नाराज हैं। गिरिराज सिंह ने कहा था कि सीट बदले जाने से मेरे आत्म सम्मान को ठेस पहुंची है, क्योंकि बिहार में किसी भी सांसद की सीट नहीं बदली गई है और मेरी सीट बदल दी गई है। उन्‍होंने यह भी आरोप लगाया था कि मुझसे बिना पूछे इसका फैसला लिया गया। बिहार बीजेपी नेतृत्व को मुझे बताना चाहिए कि ऐसा क्यों किया गया? बेगूसराय से मुझे कोई दिक्कत नहीं है, मगर मैं अपने आत्म सम्मान के साथ समझौता नहीं कर सकता हूं।

लोजपा पर बेगूसराय पर भी तैयार

इससे पहले लोजपा प्रमुख और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहा था कि मुंगेर के बदले नवादा सीट लेने को लेकर लोजपा का रवैया कभी अडिय़ल नहीं था। पार्टी बेगूसराय पर भी तैयार थी। नवादा के बारे में हमने खुद गिरिराज सिंह से बात भी की थी। गिरिराज ने कहा था कि ‘मैं चुनाव नहीं लड़ूंगा, समाज सेवा करूंगा।’ इसके बाद यह बात जब मीडिया में आई कि गिरिराज गुस्से में हैं तो फिर चिराग पासवान भी उनसे मिलने गए। तब गिरिराज ने कहा कि गुस्से की कोई बात ही नहीं है। पासवान ने यह भी कहा था कि लोजपा किसी भी दल की सीटिंग सीट लेने के पक्ष में नहीं थी। यह सिग्नल कतई नहीं जाना चाहिए कि हमने गिरिराज सिंह की सीट ले ली। हम नवादा से भी जीतेंगे और बेगूसराय से भी।

अब बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के फरमान के बाद सारे कयासों पर विराम लग गया है  और गिरिराज सिंह बेगूसराय से ही चुनाव लड़ेंगे। जिसके बाद बेगूसराय का मुकाबला काफी दिलचस्प हो गया है । क्योंकि यहां से लेफ्ट पार्टी ने कन्हैया कुमार को उम्मीदवार बनाया है । जबकि तनवीर हसन महागठबंधन के उम्मीदवार होंगे ।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

पावापुरी मेडिकल कॉलेज में डॉक्टरों ने महिला को नंगा कर पीटा.. जानिए पूरा मामला

नालंदा जिला के पावापुरी मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर अक्सर विवादों में रहते हैं. लोगों का कहना ह…