खाकी हुई दागदार, कॉलगर्ल के पास मिला SP साहब का मोबाइल.. DIG साहब ने दिए जांच के आदेश

0

पुलिस की खाकी वर्दी एक बार फिर दागदार हो गई है। पुलिस के आलाधिकारियों के कैरेक्टर पर अब सवाल उठने लगे हैं और उठे भी क्यों नहीं ? क्योंकि कॉलगर्ल की दलाल ने जो खुलासा किया है, वो बहुत ही शर्मनाक है। जिन पुलिस के आलाधिकारियों पर कानून व्यवस्था संभालने की जिम्मेदारी होती है। वो पुलिस बिस्तर गर्म करने में व्यस्त हो तो सवाल उठना लाजिमी है। एक ऐसा ही मामला सामने आया है । जिसमें कॉलगर्ल की दलाल के पास से जिले के सबसे बड़े पुलिस अफसर यानि एसपी साहब का मोबाइल मिला है । महिला का दावा है कि उसे जब कॉलगर्ल के बदले पैसे नहीं दिए तो मोबाइल ही रख लिया। आइए आपको बताते हैं कि पूरा

मामला है क्या ?
दरअसल, एक वीडियो वायरल हो रहा है । वीडियो में दिख रही महिला के पास से मधेपुरा के एसपी का मोबाइल फोन बरामद किया गया है। महिला मधेपुरा के डीएसपी पर संगीन आरोप लगा रही है ।

कैसे पहुंचा मोबाइल
महिला का आरोप है कि वो डीएसपी साहब के डेरा पर रिफ्यूजी कॉलोनी सुभाष चौक के पास से एक लड़की को लेकर आती थी। डीएसपी साहब का आवास सदर अस्पताल मधेपुरा के पास है। साहब से एक घंटे का सौदा तय होता था लेकिन तीन-चार घंटे रखने पर भी पैसा नहीं देते थे। महिला का आरोप है कि डीएसपी साहब ने एक बार रुपया दिया, लेकिन तीन-चार बार से पैसा नहीं दे रहे थे, तब जाकर महिला ने मोबाइल उठा लिया था। महिला का कहना है कि लड़की उससे पैसे मांग रही थी और डीएसपी साहब पैसे दे नहीं रहे थे । ऐसे में उसके पास दूसरा और कोई चारा नहीं था। नाराज होकर लड़की ने बिस्तर पर तकिए के नीचे रखा मोबाइल चुरा लिया। पुलिस ने महिला से चोरी किया गया मोबाइल फोन बरामद कर लिया है।

कैसे हुआ खुलासा
दरअसल, किसी बात को लेकर सरहसा के डीआईजी शिवदीप लांडे ने मधेपुरा के एसपी के नंबर पर कॉल किया। तो, मधेपुरा एसपी का फोन स्विच ऑफ मिला। फोन बंद मिलने से नाराज डीआईजी के आदेश पर डीएसपी हेडक्वार्टर के नंबर को सर्विलांस पर लिया गया। पता चला कि डीएसपी साहबक मधेपुरा में नहीं बल्कि सहरसा में हैं। पुलिस के टेक्निकल सेल ने मधेपुरा एसपी के बंद मोबाइल को ट्रैक किया तो वो तो महिला के पास से बरामद हुआ जो कॉल गर्ल सप्लायर है। महिला को डीआईजी कार्यालय में बुलाकर पूछताछ की गई तब पूरे रहस्य से पर्दा उठ गया।

SP का फोन DSP के पास कैसे ?
आपको बता दें कि जिस मोबाइल की चोरी हुई है वो मधेपुरा के एसपी का है। मधेपुरा के एसपी छुट्टी पर गए थे। ऐसे में डीएसपी को एसपी का चार्ज मिला था। एसपी साहब ने अपना आधिकारिक मोबाइल डीएसपी को दे दिया था। लेकिन कॉलगर्ल को पैसे नहीं देने के चक्कर में डीएसपी साहब के पास से मोबाइल की चोरी हो गई । महिला का दावा है कि उसने दो मोबाइल चुराया था। एक एसपी का सरकारी मोबाइल, जो डीएसपी के पास था और दूसरा खुद डीएसपी का।

डीएसपी साहब कहां हैं
उधर, कॉल गर्ल सप्लायर का वी‍डियो वायरल होने के बाद आरोपी डीएसपी भी छुट्टी पर चले गए हैं। उधर, कोसी रेंज के डीआइजी शिवदीप लांडे ने सुपौल एसपी के नेतृत्व में चार सदस्यीय जांच कमेटी गठित की है। गठित कमेटी को पूरे मामले की जांच कर 36 घंटे के अंदर रिपोर्ट समर्पित करने का आदेश दिया है। जबकि महिला का वीडियो बनाकर लीक करने वाले कर्मचारी और पदाधिकारी को भी चिह्नित कर कार्रवाई का आदेश दिया गया है।

जांच कमेटी में कौन कौन
डीआईजी शिवदीप लांडे ने जो चार सदस्यीय जांच कमेटी बनाई है । उसमें सुपौल के एसपी डी अमरकेश, सहरसा के डीएसपी मुख्यालय एजाज हाफिज मणि, मधेपुरा सदर अंचल के पुलिस निरीक्षक प्रशांत कुमार और सहरसा महिला थाना की थानाध्यक्ष प्रेमलता भूपाश्री शामिल हैं।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

सरकारी कर्मचारियों पर CM नीतीश सख्त.. जारी किया बड़ा आदेश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सरकारी दफ्तरों में कर्मचारियों की कार्यशैली को सुधारना चाहते हैं ।…