Home काम की बात किसानों को तोहफा, गेहूं और दालों का न्यूनतम समर्थन मूल्य.. जानिए कितना हुआ MSP

किसानों को तोहफा, गेहूं और दालों का न्यूनतम समर्थन मूल्य.. जानिए कितना हुआ MSP

0

मोदी सरकार दिवाली से पहले किसानों को बड़ा तोहफा दिया है। सरकार ने चालू वर्ष 2019-20 (जुलाई-जून) की आगामी रबी सीजन की फसलों का एमएसपी बढ़ाने का फैसला लिया है। एमएसपी यानी न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ने से अब किसानों को बड़ा फायदा होगा। गेहूं का न्यूनतम समर्थन मूल्य 85 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाया गया है। वहीं दालों के एमएसपी में सरकार ने 325 रुपये का इजाफा किया है।

नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति (सीसीएआई) की बैठक में ये फैसला लिया गया है। रबी फसलों के एमएसपी में वृद्धि की सिफारिश सीएसीपी यानी कृषि लागत एवं मूल्य आयोग ने की थी। केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक से किसानों को काफी उम्मीदें थीं और उन्हें बड़ी राहत मिल गई है।

जानिए कितना कितना हुआ एमएसपी
गेहूं का समर्थन मूल्य 1840 रुपये प्रति क्विंटल से बढ़कर 1,925 रुपये हो गया है। इसमें 85 रुपये का इजाफा हुआ है।

बार्ले के एमएसपी में 85 रुपये प्रति क्विंटल का इजाफा हुआ है। पहले यह 1,440 रुपये प्रति क्विंटल था, जो अब 1,525 रुपये प्रति क्विंटल हो गया है।

वहीं मसूर के एमएसपी में भी 325 रुपये प्रति क्विंटल का इजाफा हुआ है, जिसके बाद यह 4,800 रुपये हो गया है। जबकि पहले यह 4,475 रुपये था।

इसी प्रकार चने के एमएसपी में 255 रुपये की बढ़ोतरी की गई है और इसे 4,875 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया गया है। पिछले साल यह 4,620 रुपये प्रति कुंतल थी।

क्या है रबी फसल ?
बता दें कि अक्तूबर से मार्च के बीच होने वाली सभी फसलें को रबी फसल कहा जाता है। मार्च एवं अप्रैल माह में रबी फसलों की कटाई की जाती है। इस दौरान फसलों को सिंचाई के लिए कम पानी की आवश्यकता होती है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In काम की बात

Leave a Reply

Check Also

चुनाव प्रचार के दौरान उम्मीदवार को गोलियों से भून डाला.. जानिए पूरा मामला

बिहार विधानसभा चुनाव में खून खराबे का दौर शुरू हो गया है. चुनाव प्रचार के दौरान बदमाशों ने…