मीसा भारती और उनकी बेटियों के पास है कितनी जमीन.. जानिए पूरा डिटेल

0

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की बड़ी बेटी मीसा भारती एक बार फिर राज्यसभा पहुंचेंगी। आरजेडी ने मीसा भारती को राज्यसभा उम्मीदवार बनाया है । मीसा भारती दूसरी बार राज्यसभा पहुंचेगी। उन्होंने अपना नामांकन दाखिल कर दिया है । जिसमें उन्होंने अपनी संपत्ति का जिक्र भी किया है ।

मीसा भारती पर 4 आपराधिक केस
लालू यादव की बड़ी बेटी मीसा भारती ने साल 2000 में बिहार के मशहूर पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल से MBBS की पढ़ाई है। मीसा भारती ने 10 दिसंबर, 1999 को कंप्यूटर इंजीनियर शैलेंद्र कुमार से शादी की थी। मीसा भारती और शैलेश कुमार के तीन बच्चे हैं। मीसा भारती के खिलाफ चार आपराधिक मामले लंबित हैं।

मीसा के पास संपत्ति
राज्यसभा में नामांकन के दौरान जमा किए हलफनामे के मुताबिक मीसा भारती और उनके पति के पास 946 लाख की संपत्ति है। हलफनामे के मुताबिक मीसा भारती से अमीर उनके इंजीनियर पति हैं । साथ ही बेटियों के नाम पर संपत्ति खरीदी गई है ।

किसके पास कितनी संपत्ति
डॉ. मीसा भारती के नाम कुल अचल संपत्ति 146 लाख है तो पति शैलेश के नाम 47.50 लाख की है। बेटियां दुर्गा और गौरी भारती के नाम 1.26 करोड़ की अचल संपत्ति है। वहीं मीसा भारती के नाम कुल चल संपत्ति 169 लाख की है तो पति शैलेश के नाम 4.14 करोड़ की है।मीसा भारती के नाम पर पटना के बिहटा और फुलवारी और पति शैलेश के नाम पर मुजफ्फरपुर में जमीन है। बेटियों के नाम पर भी कई प्लॉट्स हैं

बेटियों के नाम पर संपत्ति
मीसा भारती की दोनों बेटियां दुर्गा और गौरी भारती के नाम 42.43 लाख की चल संपत्ति है। जबकि 1.26 करोड़ की अचल संपत्ति है। बेटियों के नाम पर पटना, बिहटा खगौल, फुलवारी और मुजफ्फरपुर में जमीन के कई प्लॉट है, जिसमें खेती के जमीन भी हैं।

मीसा भारती पर केस
मीसा भारती पर मनी लांड्रिंग, आपराधिक षड्यंत्र और भ्रष्टाचार, चुनाव से जुड़े खर्च का उल्लंघन और ट्रैफिक रुल (ओवर स्पीड) के उल्लंघन का केस दर्ज है। शैलेश के पास एक पिस्टल है।

मीसा भारती का फॉर्म हाउस जब्त
आपको बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने साल 2017 में मीसा भारती और उनके पति शैलेश कुमार का फार्महाउस जब्त कर लिया था। ये फार्महाउस दिल्ली में पालम के बिजवासन में है। ईडी के मुताबिक मीसा भारती का ये फार्म हाउस मिशैल पैकर्स ऐंड प्रिंटर्स प्राइवेट लिमिटेड के नाम पर है। जिसे 1.2 करोड़ रुपये में 2008-09 में खरीदा गया था।

नामांकन के वक्त मौजूद रहे लालू
राजद अध्यक्ष लालू यादव 6 साल बाद बेटी मीसा का नामांकन कराने विधानसभा पहुंचे। वो बड़े बेटे तेजप्रताप संग वहां पहुंचे तो समर्थकों ने लालू जिंदाबाद के नारे लगाए। वहीं तेजस्वी दूसरी गाड़ी से विधानसभा आए। बेल मिलने के बाद लालू पहली बार पार्टी से जुड़े किसी कार्यक्रम में शामिल हुए। लालू को समर्थकों ने फूलमाला पहनाने की कोशिश की पर बिना माला पहने और बिना कुछ बोले समर्थकों का अभिवादन स्वीकार करते हुए वो वापस 10 सर्कुलर रोड लौट गए।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

बिहार में 19 जिलों के भू-अर्जन पदाधिकारी बदले गए.. जानिए कहां किनका तबादला

बिहार सरकार ने 19 जिलों के भू-अर्जन पदाधिकारी का तबादला कर दिया है। जिसमें नालंदा,जहानाबाद…