नालंदा का बेटा सीमा पर शहीद, गांव में पसरा मातम

0

देश की रक्षा करते हुए नालंदा ने अपना एक और बेटा खो दिया है। बीएसएफ जवान विकास कुमार मातृभूमि की रक्षा करते हुए शहीद हो गए । उनके पैतृक गांव में उनका अंतिम संस्कार किया गया ।

गांव में पसरा मातम
नालंदा जिला के चंडी थाना के दरवेशपुर गांव के रहने वाले बीएसएफ जवान विकास कुमार शहीद हो गए हैं । उनकी शहादत की खबर मिलते ही गांव में मातम पसर गया। उनका पार्थिव शरीर मंगलवार की रात उनके पैतृक गांव दरवेशपुर पहुंचा।

अमर रहे विकास कुमार के नारे लगे
विकास कुमार का पार्थिव शरीर को लेकर बीएसएफ के उनके साथी लेकर आए । उनका शव तिरंगा में लिपटा था। गांव पहुंचते ही विकास कुमार अमर रहे के नारे लगे। गांव के लोगों की आंखें नम थी।

इसे भी पढ़िए-नवादा से विदा हुई बारात, बिहारशरीफ में दुल्हन ने तोड़ा दम.. जानिए पूरा मामला

टूटा दुखों का पहाड़
दरवेशपुर गांव के रहने वाले संतोष सिंह के परिवार पर दुखों का पहाड़ टूटा है। परिवार ने जवान बेटा खो दिया है। संतोष सिंह प्राइवेट स्कूल के टीचर हैं। विकास उनका बड़ा बेटा था। घर का एकमात्र कमाऊ बेटा। दो साल पहले ही धूमधाम से विकास की शादी हुई थी। विकास की मां का पहले ही निधन हो चुका है। बड़े बेटे के निधन से संतोष सिंह सदमे हैं।

त्रिपुरा में तैनात थे विकास
विकास कुमार बीएसएफ की रेजिमेंट नंबर 94 BN 145 में तैनात थे। उनकी पोस्टिंग अभी त्रिपुरा में थी। बताया जा रहा है कि ड्यूटी के दौरान अचानक उनकी तबियत बिगड़ी। जिसके बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया । जिसमें उनका निधन हो गया है। बताया जा रहा है कि उन्हें ब्रेन फीवर हुआ था।

नालंदा लाइव की ओर से श्रद्धांजलि
देशवासियों की रक्षा के लिए प्राण न्योछावर करने वाले बहादुर सिपाही विकास सिंह को ग्रामवासियों और जिलावासियों की ओर से विनम्र श्रद्धांजलि देता है । साथ ही नमन करता है । भगवान उनकी आत्मा को शांति दे और परिवार को दुख सहने की शक्ति दे।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

लोकजनशक्ति पार्टी (LJP) में दो फांड़.. बंट गया पासवान परिवार.. सभी सांसद भी अलग

पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की पार्टी में बड़ी बगावत हुई है । साथ ही रामविलास पा…