Home खास खबरें मैट्रिक रिजल्ट- नंबर वन नालंदा, नवादा ने पटना को पछाड़ा.. कौन जिला बना सबसे फिसड्डी जानिए

मैट्रिक रिजल्ट- नंबर वन नालंदा, नवादा ने पटना को पछाड़ा.. कौन जिला बना सबसे फिसड्डी जानिए

0

नालंदा ने एक बार फिर साबित कर दिया कि वो ज्ञान की धरती है। मैट्रिक के रिजल्ट में सबसे बेहतर नतीजे नालंदा जिला का रहा। जबकि नालंदा से सटे नवादा का प्रदर्शन भी अच्छा रहा और पटना को पछाड़ते हुए चौथे स्थान पर रहा। वहीं राजधानी पटना छठे पायदान पर है।

टॉप थ्री जिले कौन कौन हैं 
बिहार बोर्ड से मिली जानकारी के मुताबिक नालंदा के परीक्षार्थियों का प्रदर्शन राज्य में सबसे बेहतर रहा। नालंदा के 88.89 परसेंट परीक्षार्थियों ने सफलता हासिल की है। इसी तरह राज्य में दूसरे स्थान पर खगडिय़ा जिला रहा है। वहां के 88.39 परसेंट परीक्षार्थियों ने सफलता हासिल की है। वहीं तीसरे स्थान पर लखीसराय रहा है, जहां से 88.09 परसेंट परीक्षार्थी सफल रहे।

छठे स्थान पर रहा पटना
नवादा ने राजधानी पटना को मात दे दिया है। नवादा चौथे स्थान पर रहा। नवादा के 87.73 परसेंट परीक्षार्थियों ने सफलता हासिल की है। पांचवें स्थान पर पश्चिमी चंपारण के छात्र रहे। वहां के 86.55 परसेंट परीक्षार्थी सफल रहे हैं। इसी तरह पटना छठे स्थान पर रहा। वहां के 86.08 परीक्षार्थियों ने सफलता हासिल की है।

सबसे खराब प्रदर्शन बक्सर का रहा
मैट्रिक की परीक्षा में सबसे खराब प्रदर्शन बक्सर जिले का रहा है। बक्सर के 70.05 परसेंट परीक्षार्थियों ने सफलता हासिल की है। वहीं, नीचे से दूसरे स्थान पर कैमूर जिला है, जहां से मात्र 73.30 परसेंट छात्रों ने परीक्षा पास की है। रोहतास जिले के 73.49 परसेंट परीक्षार्थियों ने बाजी मारी। नीचे से चौथे स्थान पर सीवान रहा, वहां के 75.54 परसेंट परीक्षार्थियों ने सफलता हासिल की है। नीचे से पांचवें स्थान पर सुपौल रहा। वहां के 76.43 फीसद छात्रों ने सफलता हासिल की है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

पावापुरी मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर सस्पेंड.. जानिए क्यों ?

पावापुरी मेडिकल कॉलेज में चार दिनों से चलता आ रहा बवाल आखिरकार थम गया. विम्स अस्पताल के आर…