बिहार में बदला मौसम का मिज़ाज,लौटा कोहरा, बारिश का अनुमान

0

बिहार में पिछले 24 घंटों में मौसम में बदलाव देखा गया। बादलों के छाए रहने की वजह से सुबह-शाम ठंड की स्थिति रही, लेकिन न्यूनतम तापमान में दो से तीन डिग्री तक की बढ़ोतरी दर्ज की गई। दिन में धूप निकली लेकिन बादलों की वजह से पिछले दिनों की तरह धूप में उतनी गर्मी नहीं थी।

नालंदा में कोहरा
नालंदा जिला में भी कोहरा देखने को मिला . विजिवलिटी कम होने की वजह चंडी के जयतीपुर मोड़ पर हादसा भी हुआ है. एक बोलेरो साइडर से टकराकर पलट गई.

बारिश का अनुमान
बीते 24 घंटों में राज्य के दक्षिण पश्चिमी भाग में एक-दो जगहों पर गरज-तड़क के साथ तीव्रता वाली आंशिक बारिश रही। सबसे अधिक बारिश भभुआ में 7.2 मिमी, जबकि कुदरा में 5.4, मोहनिया में 2.4 मिमी, चेनारी में 2 मिमी और डेहरी में 1.4 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई। औरंगाबाद और पूर्वी चंपारण में भी एक दो जगहों पर बूंदाबांदी हुई। मौसमविदों का कहना है कि शुक्रवार को उत्तर बिहार और दक्षिण पूर्वी बिहार में कुछ जगहों पर बारिश की स्थिति बन सकती है। राज्य के अन्य हिस्सों में बादल छाए रहेंगे।

दरअसल, उत्तर पूर्वी उत्तर प्रदेश व इसके आसपास एक कम क्षमता वाली ट्रफ लाइन बनी हुई है। इस वजह से इसका प्रभाव राज्य के मौसम पर पड़ा है। मौसम विज्ञान केंद्र की मानें तो पूर्वी बिहार में कुछ जगहों पर कोहरे की सघनता शुक्रवार को बढ़ सकती है। शनिवार से सूबे का मौसम साफ होने के आसार है।

फसलों को विशेष नुकसान नहीं
खेती किसानी के विशेषज्ञों की मानें तो ज्यादा बारिश से गेहूं या रबी फसलों को नुकसान पहुंच सकता है, लेकिन बारिश इतनी नहीं हो रही जिससे इसका बड़ा नुकसान हो। मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक इस बार शीतकालीन सीजन में सूबे में 95 प्रतिशत कम बारिश हुई है। हालांकि, इससे फसलों पर कोई खास प्रतिकूल असर नहीं देखा गया है।

ऐसा रहा प्रमुख शहरों का पारा
शहर अधिकतम न्यूनतम
पटना 28.2 15.2
गया 29.1 13
भागलपुर 29 14.6
पूर्णिया 28 14.6
वाल्मिकीनगर 28 15

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Check Also

चपरासी से TTE में हुआ प्रमोशन तो बन गया ‘नरपिचाश’… जानिए पूरी वारदात

नालंदा जिला में महज एक शख्स महज कुछ पैसे के लिए नरपिचाश बन गया। जिसके साथ सात जन्मों तक सा…