Home खास खबरें ‘ठरकी’ दारोगा सस्पेंड, महिला पुलिस को कमरे में बुलाता था !

‘ठरकी’ दारोगा सस्पेंड, महिला पुलिस को कमरे में बुलाता था !

0

नालंदा जिले के पुलिस महकमे में उस वक्त हड़कंप मच गया। जब थाने में तैनात महिला पुलिसकर्मियों ने अपने ही दारोगा पर इज्जत लूटने का आरोप लगाया। महिला पुलिसकर्मी ने इसकी फरियाद सीधे पुलिस कप्तान से की। मामला जिले के नालंदा थाने का है । जहां के दारोगा बिगाऊ राम पर महिला पुलिसकर्मियों ने छेड़खानी का आरोप लगाया है। महिला पुलिसकर्मियों का आरोप है कि देर शाम दारोगा बिगाऊ राम ने उन्हें अपने कमरे में बुलाया और चादर बिछाने को कहा। महिला पुलिसकर्मी भी अपने अफसर के आदेश का पालन करते हुए चादर बिछाने लगी । इस दौरान दारोगा बिगाऊ राम कमरे में घुसा और दारोगा की हैवानियत जाग गई उसने महिला पुलिसकर्मी का हाथ पकड़कर जबर्दस्ती करने लगा। महिला पुलिसकर्मी ने इसका विरोध किया लेकिन वो नहीं माना। वो महिलापुलिस कर्मी के हाथ पकड़कर बिस्तर पर खीचने लगा। महिला पुलिसकर्मी छोड़ देने की गुहार लगाती रही । लेकिन दारोगा बिगाऊ राम नहीं माना। इसके बाद महिला पुलिसकर्मी जोर जोर से चिल्लाने लगी। जिसके बाद थाने के दूसरे स्टाफ वहां पहुंच गए और किसी तरह उसकी इज्जत बच गई । पीड़ित महिला पुलिस कर्मी ने इसकी शिकायत सीधे जिले के पुलिस कप्तान सुधीर कुमार पोरिका से की । उन्होंने आननफानन मामले की जांच के आदेश दे दिए । राजगीर के डीएसपी संजय कुमार ने भी जांच शुरू कर दी । मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी सुधीर कुमार पोरिका ने आरोपी दारोगा बिगाऊ राम को सस्पेंड कर दिया । साथ ही दारोगा पर आरोप लगाने वाली दोनों महिला पुलिस कर्मी को लाइन हाजिर कर दिया । आपको बता दें कि दारोगा बिगाऊ राम पर पहले भी कई संगीन आरोप लग चुके हैं । तीन दिन पहले ही उस पर गाड़ी में शराब रखकर फंसाने का आरोप लगा था

 

इसे भी पढ़िए–खुद फंस गया शराब रखकर फंसाने वाला दारोगा

उधर, आरोपी दारोगा बिगाऊ राम ने अपने ऊपर लगाए आरोप को झूठा बताया। बिगाऊ राम ने बताया कि कमरे में टेबल पर कागजात और दूसरे सामान बिखरे पड़े थे जिसे टेबल पर सजाने के लिए महिला सिपाही को कहा था । इस बात पर महिला सिपाही नाराज हो गई और गलत इल्जाम लगाने लगी । बिगाऊ राम ने अपने ऊपर लगे आरोपों को गलत बताया ।

इसे भी पढिए–नूरसराय सीओ के खिलाफ केस दर्ज

सहमी दिख रही थीं महिला सुरक्षाकर्मी:-
नालंदा थाना में चार महिला सुरक्षाकर्मी तैनात थी । घटना के बाद सभी सहमी सी दिख रही थीं। कोई कुछ भी बताने को तैयार नहीं थीं। थाना के दूसरे स्टाफ भी कुछ भी बोलने के लिए तैयार नहीं है । विभागीय मामला होने की वजह से सब की जुबान पर भी ताले लटक हैं। डीएसपी संजय कुमार ने थाना पहुंचकर कर्मियों से पूछताछ की। जिसके बाद में एसपी ने दो महिला पुलिस को लाइन हाजिर कर दिया

दारोगा पर दर्ज हो मुकदमा
नालंदा पुलिस मेंस एसोसिएशन के अध्यक्ष मुक्तिदेव निराला ने बताया कि मामले की जानकारी होने के बाद वे लोग नालंदा थाना गये थे। उन्होंने एसपी से इस मामले में कार्रवाई करने का अनुरोध किया था। एसोसिएशन की पहल पर ही थानाध्यक्ष के खिलाफ कार्रवाई हुई है। लेकिन एसोसिएशन इतने से ही संतुष्ट नहीं है। थानाध्यक्ष के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की गयी है। साथ ही महिला सिपाही को वरीय अधिकारियों की तरफ से कोई परेशानी न हो इसका भी ख्याल रखा जायेगा। उन्होंने इस घटना की कड़ी निंदा की है।

निखिल को मिली नालंदा थाना की कमान
छबिलापुर के थाना प्रभारी निखिल राय को नालंदा थाना की कमान सौंपी गयी है। जबकि छबिलापुर थाना की जिम्मेदारी आशुतोष कुमार को दे गई है आशुतोष पुलिस लाइन में थे। पुलिस लाइन से उन्हें छबिलापुर भेजा गया है।

Load More Related Articles
Load More By Nalanda Live
Load More In खास खबरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

तेजस्वी, तेजप्रताप और राबड़ी समेत RJD के 92 नेताओं के खिलाफ FIR दर्ज.. जानिए पूरा मामला

बिहार पुलिस ने आरजेडी नेता तेजस्वी यादव, तेजप्रताप यादव और राबड़ी देवी समेत आरजेडी के 92 न…